Home » Industry » IT-Telecom5G से निकलेंगे 1.83 लाख करोड़ रु. के कारोबारी अवसर, 2023 तक होंगे 1 करोड़ सब्‍सक्राइबर्स

5G से निकलेंगे 1.83 लाख करोड़ रु. के कारोबारी अवसर, 2023 तक होंगे 1 करोड़ सब्‍सक्राइबर्स

यह बात स्‍वीडन की नेटवर्किंग और टेलीकम्‍युनिकेशन कंपनी एरिक्‍सन ने कही है।

1 of
नई दिल्‍ली. 5G मोबाइल सर्विसेज से 2026 तक भारत में 1.83 लाख करोड़ रुपए से ज्‍यादा के कारोबारी अवसर पैदा होने का अनुमान है। यह बात स्‍वीडन की नेटवर्किंग और टेलीकम्‍युनिकेशन कंपनी एरिक्‍सन ने कही है। टेक्‍नोलॉजी में एडवांस दुनिया के अन्‍य देशों की तर्ज पर भारत भी 2019 में 5G सर्विस लॉन्‍च करने जा रहा है। अभी टेलिकॉम ऑपरेटर अपने 4G नेटवर्क पर लगभग 22 mbps की एवरेज टॉप स्‍पीड रिकॉर्ड कर रहे हैं, वहीं 5G सर्विसेज के टेस्‍ट की डाउनलोडिंग स्‍पीड 1000 mbps या 1 gbps से ज्‍यादा दर्ज की जा रही है। 

 
एरिक्‍सन इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्‍टर नितिन बंसल ने बताया कि 5G भारत में 1.83 लाख करोड़ रुपए के कारोबारी अवसर पैदा होंगे। इनमें से देश के मोबाइल ऑपरेटर्स के लिए रेवेन्‍यु अपॉर्च्‍युनिटी 88 हजार  करोड़ रुपए की है। 
 

सबसे बड़े अवसर इंडस्‍ट्री सेगमेंट मैन्‍युफैक्‍चरिंग में

बंसल ने कहा कि एरिक्‍सन ने अपनी स्‍टडी में पाया कि इंडस्‍ट्री सेगमेंट मैन्‍युफैक्‍चरिंग में 16 हजार करोड़ रुपए के रेवेन्‍यु के साथ सबसे बड़े अवसर निकलेंगे। इसके बाद 14 हजार करोड़ रुपए रेवेन्‍यु के संभावित रेवेन्‍यु के साथ एनर्जी और यूटिलिटीज, 10 हजार करोड़ रुपए के साथ पब्लिक सेफ्टी और 10 हजार करोड़ रुपए के साथ हेल्‍थकेयर जैसे सेक्‍टर्स का स्‍थान रहेगा। 
 

5G टेक्‍नोलॉजी के लिए ट्रायल शुरू

बंसल ने यह भी कहा कि एरिक्‍सन ने भारतीय टेलिकॉम ऑपरेटर्स के साथ मिलकर 5G टेक्‍नोलॉजी के लिए ट्रायल शुरू कर दिए हैं। इससे उन्‍हें अपने मोबाइल सर्विस वाले स्‍पेक्‍ट्रम का इस्‍तेमाल कर 4G से 5G में आने में मदद मिलेगी। 
 

2023 तक भारत में होंगे 1 करोड़ से ज्‍यादा 5G सब्‍सक्राइबर्स 

एरिक्‍सन मोबिलिटी रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में 2023 तक 5G के 1 करोड़ से ज्‍यादा सब्‍सक्राइबर्स होंगे। बंसल ने यह भी बताया कि 5G से पैदा होने वाली मार्केट अपॉर्च्‍युनिटी से टेलिकॉम ऑपरेटर्स को फायदा हो सकता है। इसके लिए उन्‍हें कनेक्टिविटी और इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर प्रोवाइडर्स से आगे बढ़कर सर्विस इनेबलर्स और सर्विस क्रिएटर बनना होगा। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट