Home » Industry » IT-Telecomस्‍मार्टफोन/एंड्रॉयडफोन अपडेट करने के फायदे

Tech in gadgets: डाटा के डर से अपडेशन को नहीं करें इग्‍नोर, होते हैं ये 5 नुकसान

टेक एक्‍सपर्ट्स के मुताबिक, आपकी यह सोच आपके स्‍मार्टफोन की सेहत के लिए कहीं से ठीक नहीं है...

1 of

नई दिल्‍ली. आम तौर बहुत से लोग सिर्फ इस डर से अपने फोन के एप या ऑपरेटिंग सिस्‍टम को अपडेट नहीं करते, क्‍योंकि उन्‍हें लगता है कि इससे उनका कीमती डाटा बेवजह खत्‍म हो जाएगा। हालांकि ऐसे अप्रोच बेहद गलत है। टेक एक्‍सपर्ट्स के मुताबिक, आपकी यह सोच आपके स्‍मार्टफोन की सेहत के लिए कहीं से ठीक नहीं है। ऐसा करके न सिर्फ आप अपने फोन में हैकिंग के खतरे को बढ़ा देते हैं, बल्कि उसकी उम्र भी कम हो जाती है। टेक इन गैजेट के खास अंक में आज हम आपको फोन अपडेशन को इग्‍जोर करने के आपके स्‍मार्टफोन को क्‍या क्‍या नुकसान हो सकते हैं। इस बारे में हमने टेक्‍स एक्‍सपर्ट अजेंद्र त्रिपाठी से बातचीत की....। 

 

 

अजेंद्र बताते हैं कि जब भी हम जब भी अपने फोन को अपडेट करते हैं, उसकी उम्र में कुछ दिन और जोड़ देते हैं। साथ ही उसके हैंग और करप्‍ट होने का खतरा भी कम हो जाता है। उनके मुताबिक, अपडेशन  से आपको 5 फायदे मिलते हैं।  

 

1. हैंग नहीं आपका फोन 
एंड्रॉयड स्‍मार्टफोन के साथ यह एक कॉमन प्रॉब्‍लम है कि वह कुछ दिनों बाद हैंग होने लगता है। अजेंद्र के मुताबिक, 80 फीसदी मामलों में देखा यही जाता है कि अपडेट नहीं होने के चलते ही स्‍मार्टफोन जल्‍दी हैंग होने लगते हैं। ओएस या ऐप्ल्किेशन अपडेट में कंपनी इस बात की भी कोशिश करती है कि सॉफ्टवेयर को तेज किया जा सके। ताकि उपभोक्ता कम समय में ही एप को यूज कर सकें। अपेडट में सॉफ्टवेयर को नए हार्डवेयर और ऑपरेटिंग सिस्टम के कैपेबल बनाने की कोशिश की जाती है, जिससे भविष्य में फोन या सिस्टम के हार्डवेयर में होने वाले किसी भी बदलाव को सॉफ्टवेयर आसानी से पकड़ सके। 

 

2. वॉयरस प्रोटेक्‍शन 
फोन में ऑपरेटिंग सिस्टम या सॉफ्टवेयर किसी का भी अपडेट आता है तो उसमें सिक्योरिटी से संबंधित खामियों को दूर करने की कोशिश भी की जाती है। अजेंद्र के मुताबिक, अपडेशन आपके फोन को साइबर हमले की स्थिति में ज्‍यादा रजिस्‍टेंस बनाता है।  

 

3. फीचर बढ़ना 
पुराने एंडरॉयड फोन और नए एंडरॉयड फोन के फीचर में काफी अंतर होते हैं। इतना ही नहीं व्हाट्सऐप की भी यदि पहले से तुलना करते हैं तो काफी अडवांस हो गया है। आपको लगता होगा कि यह फोन का फीचर है जबकि ऐसा नहीं है। यह सब सॉफ्टवेयर की वजह से होता है। सॉफ्टवेयर में अपडेट के जरिए कंपनियां हमेशा ऑपरेटिंग सिस्टम या ऐप्लिकेशन में नए—नए फीचर्स जोड़ती हैं। इसलिए अपने फोन को जरूर अपडेट करें।

 

4. कमियों को दूर करना
अक्सर लोग शिकायत करते नजर आते हैं कि फलां एप्लिकेशन फोन में कार्य नहीं कर पा रहा है या एप्लिकेशन बार—बार क्रैश हो रहा है। ये सारी परेशानियों पर ऑपरेटिंग सिस्टम निर्माता या ऐप्लिकेशन निर्माता कंपनियां इन चीजों पर नजर बनाये रखती हैं। ऐसे में सॉफ्टवेयर अपडेट के माध्यम से इसे दूर किया जाता है। ऐप्लिकेशन में आ रहे ऐरर को दूर कर फंक्शनालिटी को बेहतर किया जाता है।

 

5. आसान उपयोग
किसी भी ओएस और सॉफ्टवेयर का उपयोग पर कंपनियां करीबी नजर बनाये हुए होती हैं और उनकी कोशिश होती है कि सिस्टम को आसान बनाया जा सके जिससे ज्यादा से ज्यादा उपभोक्ता इससे जुड़ सकें और उन्हें परेशानी न हो। यही वजह है कि सॉफ्टवेयर निर्माता समय-समय पर अपडेट देते हैं।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट