विज्ञापन
Home » Industry » IT-Telecom23,000 Crore Rs Deal To Sell Reliance Communication's Assets To Jio Failed

बड़े भाई से 23 हजार करोड़ रु. की डील नहीं कर पाए अनिल अंबानी, Ericsson मामले में जाना पड़ा कोर्ट, अब हालात और खराब

अनिल अंबानी की कंपनी पर 47,000 करोड़ रुपए का कर्ज है

1 of

नई दिल्ली.

देश के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी साल-दर-साल और अमीर होते जा रहे हैं, वहीं उनके छोटे भाई अनिल अंबानी की कंपनी Reliance Communication गहरे आर्थिक संकट में घिरती जा रही है। अनिल अंबानी पर स्वीडन की टेलीकॉम कंपनी Ericsson का 550 करोड़ रुपए बकाया हैं, जिसके चलते कंपनी ने उनपर मुकदमा दायर किया है। इसी मामले के सिलसिले में मंगलवार को अनिल अंबानी सुप्रीम कोर्ट में पेश हुए। उन्होंने बताया कि उनकी कंपनी के असेट्स अपने बड़े भाई मुकेश अंबानी की Reliance Jio को 23,000 करोड़ रुपए में बेचने की डील फेल हो गई है। ऐसे में इस बात की उम्मीद भी खत्म होती नजर आ रही है कि उनकी कंपनी संकट से उबर पाएगी।

 

कर्ज में डूबी है रिलायंस कम्युनिकेशंस

अनिल अंबानी की कंपनी पर 47,000 करोड़ रुपए का कर्ज है। हाल ही में 1 फरवरी को उन्होंने कंपनी को दिवालिया घोषित किए जाने की अपील की है। एरिक्सन का बकाया न चुका पाने के मामले में मंगलवार को अनिल कोर्ट में पेश हुए थे। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद 550 करोड़ रुपए न चुकाने के चलते एरिक्सन ने अनिल अंबानी पर कोर्ट की अवमानना का आरोप लगाया था। एरिक्सन के वकील ने कहा कि बकाया राशि चुकाने तक अनिल अंबानी को हिरासत में लिया जाना चाहिए। इसके लिए उन्होंने पर्सनल गारंटी ली थी।

 

 

रिलायंस जियो से होनी थी डील

अनिल अंबानी ने 2017 में पिता धीरूभाई अंबानी के 85वें जन्मदिन के मौके पर ऐलान किया था कि उनकी कंपनी Reliance Communication के असेट उनके बड़े भाई की कंपनी रिलायंस जियो को बेचे जाएंगे। इसके लिए मुकेश अंबानी ने भी सहमति जता दी थी। यह डील 23,000 करोड़ रुपए में होने की उम्मीद थी। लेकिन डील इस बात पर टूट गई कि रिलायंस कम्युनिकेशन को जो कर्ज चुकाना है वह किसके खाते में आएगा। जियो ने रिलायंस कम्युनिकेशंस की पिछली देनदारी की जिम्मेदारी लेने से इनकार कर दिया। टेलिकॉम डिपार्टमेंट ने डील को मंजूरी देने के लिए देनदारी तय करने की शर्त रखी थी। अगर यह डील हो जाती तो अनिल अंबानी एरिक्सन का बकाया चुका पाते।

क्या है पूरा मामला

अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशन पर स्वीडन की टेलीकॉम कंपनी Ericsson के 550 करोड़ रुपए बकाया हैं। 2014 में एरिक्सन ने रिलायंस कम्युनिकेशन के साथ सात साल की डील साइन की थी जिसके तहत Ericsson कंपनी देशभर में Rcom के टेलीकॉम नेटवर्क को ऑपरेट और मैनेज करती। 2016 से रिलायंस की तरफ से भुगतान न किए जाने पर एरिक्शन कंपनी ने सितंबर, 2017 में National Company Law Tribunal (NCLT) में Rcom और उसकी दो सब्सिडियरी कंपनियों Reliance Infratel और Reliance Telecom के खिलाफ केस दर्ज कराया। रिलायंस कम्युनिकेशन की तरफ से कई बार भुगतान की बात कही गई है, लेकिन अब तक भुगतान रुका हुआ है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन