Home »Industry »E-Commerce» Snapdeal Founders Summoned For Usurping Marketing Concept

स्‍नैपडील के फाउंडर्स पर धोखाधड़ी करने का आरोप, कोर्ट ने भेजा समन

स्‍नैपडील के फाउंडर्स पर धोखाधड़ी करने का आरोप, कोर्ट ने भेजा समन
नई दिल्‍ली।ई-कॉमर्स कंपनी स्‍नैपडील के सीईओ कुनाल बहल और दो अन्‍य लोगों पर धोखधड़ी का आरोप लगा है। दिल्‍ली हाईकोर्ट ने इन लोगों को समन भेजा है। इनके खिलाफ एक एंटरप्रेन्‍योर ने मार्केटिंग कॉन्‍सेप्‍ट को अवैध तरीके से यूज करने के मामले में आपराधिक शिकायत दर्ज की है।
 
सीईओ और सीओओ को भी भेजा नोटिस
एडिशन सेशंस जज आर.के. त्रिपाठी ने स्‍नैपडील के सीईओ कुनाल बहल, सीओओ रोहित बंसल और कंपनी के पूर्व प्रमुख फाइनेंशियल ऑफिसर (सीएफओ) विजय अजमेरा को नोटिस जारी किया है। इन सब पर आरोप है कि इन्‍होंने एंटरप्रेन्‍योर गौरव दुवा के मार्केटप्‍लेस मॉडल को कॉपी किया है।
 
 
क्या है आरोप
- एंटरप्रेन्‍योर गौरव दुआ ने आरोप लगाया है कि कंपनी के अधिकारियों ने उनके 'नॉन-इन्वेंटरी होल्डिंग मार्केटप्लेस मॉडल फॉर रिटेल' के कॉन्सेप्ट पर सहयोग नहीं किया, बल्कि धोखे से इसे हड़प लिया। दुआ ने कंपनी के फाउंडर्स (बहल और बंसल) और पूर्व सीएफओ के खिलाफ आईपीसी के सेक्शन 420 (धोखाधड़ी), 406 (भरोसा तोड़ने का अपराध) और 120बी (आपराधिक साजिश) के तहत शिकायत दर्ज कराई थी, जिसे ट्रायल कोर्ट ने खारिज कर दिया था। इसके बाद दुआ ने सेशन कोर्ट में रिवाइज्ड पिटीशन दायर की थी।
 
फंड जुटाने के बहाने दिया धोखा
शिकायत में बताया गया है कि दुआ एक इंजीनियर और एंटरप्रेन्‍योर हैं। इन्‍होंने 1999 में marketsdelhi.com और 2005 में indianretail.net पोर्टल्स की स्थापना की थी। दुआ ने दावा किया है कि वे भारत में 'नॉन-इन्वेंटरी होल्डिंग मार्केटप्लेस मॉडल फॉर रिटेल' के ब्रेन थे, लेकिन स्नैपडील के ऑफिशियल्स ने उनके बिजनेस के लिए फंड जुटाने के बहाने उन्हें धोखा दिया।

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY