Trending News Alerts

ट्रेंडिंग न्यूज़ अलर्ट

    Home »Industry »E-Commerce» Snapdeal And Flipkart Deal May Leave Staff Richer By Rs 193 Cr

    Snapdeal बिकने की चर्चा के बीच डायरेक्टर कोला का इस्तीफा, कर्मचारियों को करोड़ों के बोनांजा की उम्मीद

    नई दिल्‍ली. स्‍नैपडील बोर्ड में कल्‍लारी कैपिटल के प्रतिनिधि वानी कोला ने इस्‍तीफा दे दिया है। स्‍नैपडील की फ्लि‍पकार्ट के हाथों बिकने की खबरों के बीच इस कदम हो अहम माना जा रहा है। मिनिस्‍ट्री ऑफ कार्पोरेट अफेयर्स में रेग्‍युलेटरी फाइलिंग में 2 मई को जैस्‍पर इनफोटेक ने यह जानकारी देते हुए बताया है कि कोला ने निदेशक पद से इस्‍तीफा दे दिया है। जैस्‍पर इनफोटेक स्‍नैपडील को चलाने वाली कंपनी है। उधर सूत्रों का कहना है कि स्‍नैपडील के बिकने पर फाउंडर्स को मिलने वाले पैसों में से आधा पैसा कर्मचारियों में बांटा जाएगा। यह पैसा करीब 193 करोड़ रुपए हो सकता है।
    कोला ने इमीडिएट इफेक्‍ट से इस्‍तीफा स्‍वीकार करने की अपील की
    कोला ने अपने इस्‍तीफे में हालांकि इसका कोई कारण नहीं बताया है, लेकिन उन्‍होंने आग्रह किया है कि इसे इमीडिएट इफेक्‍ट से स्‍वीकार कर उन्‍हें जिम्‍मेदारी से मुक्‍त कर दिया जाए।
     
    कल्‍लारी शुरुआती दौर की इन्‍वेस्‍टमेंट कंपनी है स्‍नैपडील में
    कल्‍लारी ने स्‍नैपडील में शुरुआती दौर में इन्‍वेस्‍टमेंट किया था। इसके पास स्‍नैपडील के 8 फीसदी हिस्‍सेदारी है। कोला के इस्‍तीफ देने के बाद अब कल्‍लारी का स्‍नैपडील बोर्ड में कोई प्रतिनिधि नहीं बचा है। स्‍नैपडील में अब सॉफ्टबैंक और नैक्‍सस वेंचर के सदस्‍यों के अलावा कंपनी के फाउंडर कुनाल बहल और रोहित बंसल ही सदस्‍य के रूप में हैं। 
     
    फाउंडर्स दे रहे हैं  50  फीसदी हि‍स्‍सा
    स्‍नैपडील फाउंडर्स ने बोर्ड से कहा कि‍ वह उनके हि‍स्‍से की सेटलमेंट राशि‍ में से करीब 193 करोड़ रुपए नि‍काल लें। वह यह तय कर लेना चाहते हैं कि‍ कि‍सी भी परि‍स्‍थि‍ति‍ में टीम अलग-थलग न रह जाए। सूत्रों के मुताबि‍क, पि‍छले एक साल के दौरान कंपनी छोड़ चुके कुछ सीनि‍यर अधि‍कारि‍यों को भी इससे फायदा हो सकता है। इस समय कंपनी में 1500 से 1200 लोग काम कर रहे हैं।
     
    उनका मकसद इम्प्लॉई स्‍टॉक ऑप्‍शन प्‍लान को स्‍वीकार करने वाले वरि‍ष्‍ठ कर्मचारि‍यों को इसके बदले कॉम्‍पनसेट करना है। एक अधि‍कारी ने कहा कि‍ जैसे ही मर्जर की डील साइन हो जाती है, उनके शेयर की वैल्‍यू कुछ नहीं रह जाएगी। ऐसे कर्मचारि‍यों को भी फायदा पहुंचाया जाएगा, जि‍न्‍होंने इम्प्लॉई स्‍टॉक ऑप्‍शन प्‍लान को स्‍वीकार नहीं कि‍या था।
     
    फाउंडर्स को मि‍लेंगे  6  करोड़ डॉलर
    अगर यह डील हो जाती है कि‍ स्‍नैपडील के फाउंडर्स को 6 करोड़ डॉलर मि‍लेंगे। इसी का आधा हि‍स्‍सा वह कर्मचारि‍यों को देना चाहते हैं। स्‍नैपडील में सबसे ज्‍यादा पैसा नि‍वेश करने वाले जापान के सॉफ्टबैंक ने इसे फ्लि‍पकार्ट को बेचने का प्रोसेस शुरू कि‍या है। बोर्ड के सदस्‍य इस पर राजी हो गए हैं, जि‍नमें कुनाल बहल और रोहि‍त बंसल भी शामि‍ल हैं। इसके अलावा शुरुआती इनवेस्‍टर्स कल्‍लारी और नेक्‍सस वेंचर पार्टनर्स भी इसके लि‍ए तैयार हैं।
     
    आगे पढ़ें स्‍नैपडील में कि‍सकी कि‍तनी हि‍स्‍सेदारी 
     

    Recommendation

      Don't Miss

      NEXT STORY