विज्ञापन
Home » Industry » E-CommerceReliance to install pos machines in 1 cr retail stores

मनी भास्कर खास / किराना क्रांतिः एक करोड़ किराना स्टोर में रिलायंस लगाएगी पीओएस मशीन

पीओएस मशीन लगते ही ये स्टोर जुड़ जाएंगे रिलायंस के ऑफलाइन-ऑनलाइन कारोबार से

Reliance to install pos machines in 1 cr retail stores
  • गुजरात से ऑफलाइन-ऑनलाइन की होगी शुरुआत, तैयारी पूरी
  • हर जगह डिलिवरी की होगी सुविधा
  • सीधे मैन्युफैक्चरर्स से सामान खरीदने से सामान होगा सस्ता

मनी भास्कर। नई दिल्ली.

किराना स्टोर को ई-कॉमर्स प्लेटफार्म से जोड़ने के लिए रिलायंस जल्द ही इन स्टोर में प्वाइंट टू सेल (पीओएस) मशीन या कार्ड स्वाइप मशीन लगाने का काम शुरू करने जा रही है। यह शुरुआत गुजरात से होने जा रही है। फिलहाल 30 लाख किराना स्टोर में पीओएस जोड़ने के लिए सर्वे का काम किया गया है। लेकिन वित्त वर्ष के अंत तक एक करोड़ से अधिक किराना स्टोर में यह सुविधा हो जाएगी। पीओएस मशीन के जरिए किराना कारोबारी ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों कारोबार कर सकेंगे। रिलायंस जियो इंफोकॉम की पीओएस मशीन की कीमत बाजार में उपलब्ध पीओएस से काफी कम होगी और यह पर्याप्त संख्या में उपलब्ध होगी। वर्ष 2016 में नोटबंदी के बाद रिटेल दुकानों में डिजिटल पेमेंट को प्रोत्साहित करने के लिए पीओएस मशीन लगाने की शुरुआत की गई थी, लेकिन पर्याप्त संख्या पीओएस उपलब्ध नहीं होने एवं इसकी लागत अधिक होने की वजह से रिटेल स्टोर में डिजिटल पेमेंट को प्रोत्साहित नहीं किया जा सका।

 

710 अरब डॉलर का है देश का रिटेल कारोबार

एसबीआई ग्रुप के एसबीआई कैप सिक्योरिटीज के सर्वे के मुताबिक देश में रिटेल कारोबार का आकार 710 अरब डॉलर का है। इनमें से 90 फीसदी असंगठित क्षेत्र से हैं। इस रिटेल कारोबार पर 1.5 करोड़ दुकानदारों दबदबा है। इनमें से सिर्फ 15 फीसदी पीओएस मशीन का इस्तेमाल करने लायक है। इसकी मुख्य वजह है कि अभी पीओएस मशीन रखने की लागत अधिक है। सूत्रों के मुताबिक रिलायंस सिर्फ अपनी पीओएस मशीन नहीं देगी। पीओएस मशीन के लगते ही ये किराना स्टोर रिलायंस से ऑफलाइन-ऑनलाइन कारोबार से जुड़ जाएंगे। मतलब पीओएस के कारण कोई भी ग्राहक इन किराना स्टोर में ऑनलाइन ऑर्डर भी कर सकता है और आपके घर पर सामान की डिलिवरी होगी। कंपनी से जुड़ने वाले किराना स्टोर के सामान का पूरा ब्योरा रिलायंस के पास भी होगा। मतलब स्टोर में कितना सामान बिका, कितना नहीं बिका, इसकी पूरी जानकारी रिलायंस के पास भी होगी।

 

हर जगह होगी डिलिवरी

अभी ई-कॉमर्स कंपनियां कई जगहों पर डिलिवरी देने में सक्षम नहीं है। छोटे शहर या दूरजराज के इलाके में ई-कॉमर्स कंपनियां डिलिवरी नहीं दे पाती है। लेकिन रिलायंस हर जगह डिलिवरी देगी। असल में रिलायंस अपने किराना स्टोर के जरिए कहीं भी आपको डिलिवरी देने में सक्षम होगी। दूरदराज या छोटे शहरों में रहने वालों को पास के रिलायंस स्टोर से डिलिवरी मिल जाएगी।

 

वेयर हाउस बनाने की भी हो गई शुरुआत

किराना स्टोर को जोड़ने के तैयारी की साथ ही रिलायंस सभी बड़े शहरों के आसपास वेयर हाउस बना रही है। दिल्ली-एनसीआर में सप्लाई के लिए कंपनी 5 करोड़ की लागत से झज्जर में वेयर हाउस का निर्माण कर रही है। वैसे ही, अन्य शहरों के आसपास वेयर हाउस बनाने का काम आरंभ कर दिया गया है।

 

मिडलमैन का खात्म

रिलायंस के आने से किसानों को मंडी में जाने की आवश्यकता नहीं होगी। किराना स्टोर के लिए रिलायंस सीधे किसानों से सामान की खरीदारी करेगी। अभी किसान को अपनी फसल को मंडी में बेचना पड़ता है। वहां से मिल और थोक व्यापारी के माध्यम से खुदरा स्टोर में सामान पहुंचता है। यह प्रणाली समाप्त हो जाएगी। मिडलमैन के समाप्त होने से रिलायंस से जुड़े किराना स्टोर के सामान अन्य के मुकाबले सस्ते होंगे।

 

गुजरात से होगी शुरुआत

रिलायंस के ऑनलाइन-ऑफलाइन किराना स्टोर की शुरुआत गुजरात से होने जा रही है। गुजरात में पायलट प्रोजक्ट को आरंभ करने की तैयारी पूरी कर ली गई है। पायलट प्रोजेक्ट से जुड़ने वाले किराना स्टोर का सर्वे कर लिया गया है और यहां पीओएस लगाने का काम भी शुरू हो चुका है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन