विज्ञापन
Home » Industry » E-Commercefake review factories fooling online

Report / रिव्यू और स्टार रेटिंग को देखकर नहीं करें ऑनलाइन खरीदारी, काफी संख्या में हो रहे हैं FAKE रिव्यू

ब्रिटेन के कंज्यूमर एडवोकेसी ग्रुप का खुलासा 87 हजार से ज्यादा लोग फेक रिव्यू करने में लगे हुए हैं

fake review factories fooling online
  • ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन के ऑनलाइन ग्राहकों को फेसबुक ग्रुप पर फेक रिव्यू के जरिए फंसाया जा रहा है।

नई दिल्ली। यदि आप ऑनलाइन कोई भी सामान खरीदने से पहले कंज्यूमर रिव्यू पर भरोसा करते हैं तो आपके लिए यह खबर काफी जरूरी है। ऑनलाइन  सामान खरीदने से पहले कंज्यूमप रिव्यू पढ़ने और उस पर भरोसा करने वाले लोगों को सचेत रहने की जरूरत है। क्योंकि आप जिस प्रोडक्ट को खरीदते समय रिव्यू पढ़ रहे हैं वह फेक भी हो सकती है। आपको जानकर हैरानी होगी कि  दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन के ऑनलाइन ग्राहकों को फेसबुक ग्रुप पर फेक रिव्यू के जरिए फंसाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें- मात्र 50 रुपए में खोलिए अपनी ऑनलाइन दुकान, एक साल तक बिना खर्च कीजिए कमाई

87 हजार से ज्यादा लोग फेक रिव्यू करने में लगे हुए हैं


ब्रिटेन के कंज्यूमर एडवोकेसी ग्रुप विच समेत कई कंपनियों और उद्यमियों ने इस बात को माना है कि फेसबुक ग्रुप के जरिए अमेजन की साइट पर बिकने वाले प्रोडक्ट्स का फेक रिव्यू हो रहा है। कई उत्पादों को मनमाने तरीके से रेटिंग देकर अमेजन के दुनियाभर में फैले 260 करोड़ ग्राहकों को फंसाया जा रहा है। विच का दावा है कि उसने अमेजन की साइट पर बिकने वाले सैकड़ों टेक प्रोडक्ट्स का विश्लेषण किया और पाया कि कई अनजान से ब्रांड ने लोकप्रिय आइटम्स की सर्च में अपना वर्चस्व कायम कर लिया है। इतना ही नहीं, 87 हजार से ज्यादा लोग फेक रिव्यू करने में लगे हुए हैं।

सेलर्स ऐसे प्रोडक्ट्स की लिस्टिंग करा रहे हैं, जिनके साथ हजारों की संख्या में पॉजिटिव अनवेरिफाइड रिव्यू दिए गए हैं 


विच के मुताबिक, सेलर्स ऐसे प्रोडक्ट्स की लिस्टिंग करा रहे हैं, जिनके साथ हजारों की संख्या में पॉजिटिव अनवेरिफाइड रिव्यू दिए गए हैं। इसका मतलब है कि अमेजन या किसी अन्य साइट पर खरीदे जाने वाले प्रोडक्ट का रिव्यू देने वाले लोगों का कोई प्रमाण नहीं है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss