Home » Industry » E-CommerceWarren Buffet invest in Paytm, Warren Buffet in India

भारत में पहली बार निवेश कर सकते हैं वारेन बफे, Paytm पर लगाएंगे 2,500 करोड़ का दांव

फंड मिलने से Paytm की वैल्यूएशन करीब 10 से 12 करोड़ डॉलर हो जाएगी

Warren Buffet invest in Paytm, Warren Buffet in India

नई दिल्ली। दुनिया के सबसे बड़े इन्वेस्टर्स में से एक वारेन बफे की बर्कशायर हैथवे भारत की मोबाइल वॉलेट कंपनी Paytm की पेरेंट फर्म वन97 कम्युनिकेशनंस में हिस्सा खरीद सकती है। अगर ऐसा होता है तो यह वॉरेन बफे का भारत में पहला इन्वेस्टमेंट होगा। अंग्रेजी अखबार मिंट की रिपोर्ट के मुताबिक, पेटीएम की ओर से इस साल फरवरी की शुरुआत से ही बर्कशायर हैथवे के साथ बातचीत चल रही है। पेटीएम करीब 2,200 से 2,500 करोड़ रुपए (30 से 35 करोड़ डॉलर)  जुटाने की योजना बना रही है। रिपोर्ट के मुताबिक, फंड मिलने से कंपनी की वैल्यूएशन करीब 10 से 12 करोड़ डॉलर हो जाएगी।  

 

भारत में होगा पहला इन्वेस्टमेंट

 

माना जा रहा है कि इस डील का ऐलान अगले दो हफ्तों के भीतर कर दिया जाएगा। ऐसे में यह बर्कशायर हैथवे का भारत के स्टार्टअप ईकोसिस्टम में पहला इन्वेस्टमेंट होगा। इतना ही नहीं, यह प्राइवेट टेक्नोलॉजी कंपनी में किया जाने वाला पहला इन्वेस्टमेंट भी होगा। इससे पहले बर्कशायर ने चुनिंदा पब्लिक लिस्टेड कंपनियों में इन्वेस्टमेंट किया था। इससे सबसे प्रमुख इंटरनेशनल बिजनेस मशींस (आईबीएम) कॉर्प. और एप्पल हैं। हालांकि, बर्कशायर हाल ही में आईबीएस से बाहर निकल गई है लेकिन उसके पास अब भी एप्पल के स्टॉक हैं। 

 

भारत में बजाज आयलांज के साथ की थी पार्टनरशिप

 

सीएनएन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, बफे ने साल 2011 में बर्कशायर इंडिया को बनाया था और इंश्योरेंस बेचने के लिए बजाज आयलांज के साथ पार्टनरशिप की थी। हालांकि, दो साल बाद ही बर्कशायर इस पार्टनरशिप से बाहर हो गई। कंपनी का कहना था कि ज्यादा रेग्युलेशन की वजह से वह बाहर निकल रही है। 

 

पेटीएम के इन्वेस्टर्स

 

पेटीएम के पास पहले से ही दुनिया के बड़े इन्वेस्टर्स है जैसे जापान का सॉफ्टबैंक ग्रुप, चीन का अलिबाबा ग्रुप और ऐंट फाइनेंशियल। इसके अलावा,  SAIF पार्टनर्स और मीडियाटेक भी पेटीएम के इन्वेस्टर्स हैं। पेटीएम का दावा है कि उन्होंने 4 अरब डॉलर का मंथली ग्रास ट्रांसजैक्शन वैल्यू को छू लिया है। जून में समाप्त क्वार्टर में ट्रांसजैक्शन की संख्या 1.3 करोड़ पर पहुंच गई है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट