Home » Industry » E-Commercewalmart and flipkart deal likely by June

वालमार्ट खरीद सकती है फ्लि‍पकार्ट में बड़ा हि‍स्‍सा, जून अंत तक हो सकती है डील

वालमार्ट इंक जून के अंत तक फ्लि‍पकार्ट में अधि‍कांश हिस्‍सेदारी खरीदने की डील को पूरा कर सकती है।

walmart and flipkart deal likely by June

हांगकांग/मुंबई। वालमार्ट इंक जून के अंत तक भारत की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी फ्लि‍पकार्ट में अधि‍कांश हिस्‍सेदारी खरीदने की डील को पूरा कर सकती है। रॉयटर्स की रि‍पोर्ट के मुताबि‍क, मामले से जुड़े दो लोगों ने कहा कि‍ यह अमेरि‍का की सबसे बड़ी रि‍टेल की कंपनी द्वारा कि‍या जाने वाला  ऑनलाइन बि‍जनेस का सबसे बड़ा सौदा होगा।

 

बीते हफ्ते ही रि‍पोर्ट आई है कि‍ वालमार्ट ने फ्लि‍पकार्ट को खरीदने के लि‍ए जरूरी काम पूरे कर लि‍ए हैं। इसके अलावा, वालमार्ट की ओर से 10 अरब डॉलर से 12 अरब डॉलर में फ्लि‍पकार्ट में 51 फीसदी हि‍स्‍सेदारी खरीदने का प्रस्‍ताव दि‍या था।   

 

माना जा रहा है कि‍ फ्लि‍पकार्ट के साथ इस डील से अमेजन.कॉम के साथ वालमार्ट की जंग आगे बढ़ेगी। यह लड़ाई भारत के बढ़ने ई-कॉमर्स मार्केट के लि‍ए हो रही है। मॉर्गन स्‍टेंले ने अनुमान लगाया है कि‍ एक दशक में यह मार्केट 200 अरब डॉलर का हो जाएगा। घरेलू मीडि‍या रि‍पोर्ट के मुताबि‍क, अमेजन भी फ्लि‍पकार्ट के साथ डील करने की संभावनाएं तलाश रही है। 

 

नए और मौजूदा शेयर्स खरीदेगी वालमार्ट

 

वालमार्ट की ओर से फ्लि‍पकार्ट के मौजूदा और नए दोनों शेयर्स खरीदे जाएंगे। नए शेयर्स से फ्लि‍पकार्ट की वैल्‍यू करीब 18 अरब डॉलर हो सकती है। मौजूदा शेयर्स की कीमत के हि‍साब से फ्लि‍पकार्ट की वैल्‍यू करीब 12 अरब डॉलर होगी। 

 

सॉफ्टबैंक ने बेचेगा अपना कोई शेयर

 

सूत्रों ने कहा कि‍ जापान के सॉफ्टबैंक ग्रुप के पास वि‍जि‍न फंड के जरि‍ए फ्लि‍पकार्ट में लगभग 20 फीसदी हि‍स्‍सेदारी है। माना जा रहा है कि‍ मौजूदा शेयर्स के लि‍ए कम कीमत मि‍लने की वजह से सॉफ्टबैंक अपना कोई शेयर नहीं बेचेगी। रॉयटर्स ने पहले रि‍पोर्ट दी थी कि‍ अगर डील पूरी होती है तो शुरुआती इन्‍वेस्‍टर्स जैसे टाइगर ग्‍लोबल एक्‍ससेल और नेस्‍पर्स अपना पूरा हि‍स्‍सा बेच देंगे। 

 

भारत पर दांव क्‍यों?

 

अमेरि‍का की कंपनी वॉलमार्ट इंक दुनि‍या की सबसे बड़ी रि‍टेल कंपनी है लेकि‍न इसके बावजूद वह अमेजन के खि‍लाफ संघर्ष करना पड़ रहा है। ऐसा इसलि‍ए क्‍योंकि कंज्‍यूमर्स तेजी से ऑनलाइन कॉमर्स पर शि‍फ्ट हो रहे हैं। अमेरि‍का और चीन के बाद भारत ही अगला सबसे बड़ा संभावनाओं वाला मार्केट है जहां वि‍देशी रि‍टेलर्स अलीबाबा ग्रुप होल्‍डिंग लि. के खि‍लाफ आगे बढ़ सकते हैं। 

 

फ्लि‍पकार्ट में वॉलमार्ट इसलि‍ए भी इन्‍वेस्‍ट कर रहा है कि‍ क्‍योंकि‍ वह खुद अमेजन से चुनौती का सामना कर रहा है। अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस पहले ही भारत में 5.5 अरब डॉलर इन्‍वेस्‍ट करने की प्रति‍बद्धता जता चुके हैं और यह संकेत भी दे चुके हैं कि‍ मार्केट लीडर बनने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट