Home » Industry » E-CommerceThe hand of the Indian CEO behind Walmart big success of behind 1 lakh crores deal

1 लाख करोड़ की डील के पीछे हैं इस इंडियन CEO का हाथ, वॉलमार्ट को मिली बड़ी कामयाबी

वॉलमार्ट और फ्लिपकार्ट में हुए सौदे के बाद जो नाम सबसे ज्‍यादा सामने आ रहा है वह है कल्‍याण कृष्‍णमूर्ति‍ का।

1 of
नई दि‍ल्‍ली. वॉलमार्ट और फ्लिपकार्ट में हुए सौदे के बाद जो नाम सबसे ज्‍यादा सामने आ रहा है वह है कल्‍याण कृष्‍णमूर्ति‍ का। कल्‍याण कृष्‍णमूर्ति‍ को जनवरी 2017 में तब फ्लिपकार्ट का सीईओ बनाया गया था। जब कंपनी की वैल्‍यूएशन घट रही थी। वहीं, अमेजन से भी कंपनी को कड़ी टक्‍कर मि‍ल रही थी। ऐसे समय में कल्‍याण कृष्‍णमूर्ति‍ ने कंपनी को संभाला और फंडि‍ग लाने केे साथ-साथ कड़े फैसले लि‍ए। अपने कार्यकाल के दौरान कृष्‍णमूर्ति‍ कंपनी को उस लेवल तक ले गए जहां वह देश की सबसे कामयाब ई-कॉमर्स वेबसाइट है। इसी के चलते आज वॉलमार्ट के साथ 1 लाख करोड़ की डील हो सकी है। 
  
4 साल में फ्लिपकार्ट को बनाया नंबर-1  
 
कल्‍याण कृष्‍णमूर्ति‍ ने 2013 में चीफ फाइनेंशि‍यल ऑफि‍सर के रूप में फ्लिपकार्ट ज्‍वॉइन की। इसके बाद जब सचि‍न ने सीईओ का पद छोड़ा तो जनवरी 2017 में कृष्‍णमूर्ति‍ को कंपनी का सीईओ बनाया गया। यह वह समय था जब अमेजन चीन में अलीबाबा से पि‍छड़ने के बाद भारत में अपनी मार्केटि‍ंग पर और ज्‍यादा अग्रेसि‍व स्‍ट्रेटजी अपना रही थी। अमेजन ने लोगों को अपनी ओर खींचने के लि‍ए करीब 5.5 अरब डॉलर का इनवेस्‍टमेंट प्‍लान बनाया था। लेकि‍न कृष्‍णमूर्ति‍ की ओर से नई पॉलि‍सी और टॉप मैनेजमेंट लेवल पर कि‍ए गए बदलाव के चलते फ्लिपकार्ट ने सि‍र्फ 4 साल में अमेजन को पीछे छोड़ नंबर एक कंपनी की पॉजि‍शन हासि‍ल कर ली। 
अागे पढ़ें : कैसे बनाया नंबर वन 

क्‍या चाहते हैं भारतीय 
 
सीईओ बनने के बाद कृष्णमूर्ति ने एक नई पहल की और अमेजन से लड़ाई के लि‍ए नई तकनीक अपनाई। उन्‍होंने यह पता लागना शुरू कि‍या कि‍ सवा अरब भारतीय क्‍या चाहते हैं। उन्‍होंने कंपनी में खराब प्रदर्शन करने वाले लोगों के लि‍ए ऑनलाइन ट्रैफि‍क और सेल्‍स को लेकर नए गोल सेट कि‍ए। कृष्णमूर्ति ने इसे 80-20 नियम कहा। उन्‍होंने फ्लिपकार्ट के रि‍वेन्‍यू का 80 फीसदी हि‍स्‍सा 20 फीसदी कैटेेगरी से आने की बात कही। इनमें सबसे बड़े उपकरण, फैशन और मोबाइल फोन शामिल थे। 
अागे पढ़ें : क्‍या है सबसे बड़ी कामयाबी 
वॉलमार्ट भी बनाए रखेगी सीईओ 
 
अपने एक इंटरव्‍यू के दौरान 2017 में कृष्णमूर्ति ने ब्‍लूमबर्ग से कहा था कि‍ यह मेरे समय का सबसे बड़ा इनवेस्‍टमेंट है कि‍ हमने पता लगाया कि‍ भारत के लोग क्‍यों और क्‍या ऑनलाइन खरीदारी करते हैं। शायद यही कारण है कि‍ वॉलमार्ट की ओर से डील के बाद कहा गया है कि‍ कृष्णमूर्ति को ही फ्लिपकार्ट का सीईओ बनाए रखा जाएगा। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट