Advertisement
Home » इंडस्ट्री » इ-कॉमर्सe commerce firm amazon completed 5 years in India

गांव हो या शहर, देश के हर कोने में डिलिवरी करेगी Amazon

सीईओ जेफ बेजोस ने कस्‍टमर्स को लेदर लि‍खकर कहा है कि‍ कंपनी के पास 100 फीसदी सर्वि‍सेबल पि‍न कोड में कस्टमर्स हो गए हैं।

1 of

नई दि‍ल्‍ली। अमेरि‍का की ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन के भारत में 5 साल पूरे हो गए हैं। इस मौके पर अमेजन के फाउंडर और सीईओ जेफ बेजोस ने अपने कस्‍टमर्स को लेटर लि‍खकर कहा है कि‍ कंपनी के पास देश में 100 फीसदी सर्वि‍सेबल पि‍न कोड में कस्टमर्स हो गए हैं। इतना ही नहीं, कंपनी 13 राज्‍यों में 50 से ज्‍यादा फुलफि‍लमेंट लोकेशन से पैकेज भेज रही है। 5 जून 2013 को अमेजन को भारत में लॉन्‍च कि‍या गया था।   

 

जेफ बेजोस ने लेटर में क्‍या लि‍खा

 

जेफ बेजोस ने कस्‍टमर्स को लि‍खे लेटर में कहा कि‍ हमारा सफर पांच साल का हो गया है लेकि‍न जैसा कि‍ हम हमेशा अमेजन में कहते हैं कि‍ यह पहला ही दि‍न है और मैं आने वाली संभावनाओं को लेकर उत्‍साहि‍त हूं। अमेजन.इन भारत की अपनी दुकान है। 

 

बेजोस ने कहा कि‍ कंपनी अपने वॉयस असि‍स्‍टेंस 'Alexa' के लि‍ए हजारों थर्ड पार्टी डेवलपर्स के साथ काम कर रही है ताकि‍ इसकी क्षमताओं को बढ़ाया जा सके। बेजोस ने कहा कि‍ ऑनलाइन मार्केटप्‍लेस अब भारत की संस्‍कृति‍ का हि‍स्‍सा बन गई है और उसी के हि‍साब से सभी सर्वि‍सेज और ऑफर दे रही है। अमेजन इंडि‍या बीते दो साल में टॉप पॉजि‍शन पर पहुंच गई है। बेजोस ने इशारे में कहा कि‍ अमेजन.इन देश में सबसे ज्‍यादा वि‍जि‍ट की जाने वाली साइट है।  

Advertisement

 

आगे पढ़ें...

कई लोगों को मि‍ला ऑनलाइन कमाई का मौका

 

बेजोस ने लेटर में लि‍खा कि‍ हजारों भारतीय कारोबारी अब अमेजन.इन पर प्रोडक्‍ट्स बेच रहे हैं। प्रोग्राम्‍स जैसे चाय कार्ट, तत्‍काल और सहेली की मदद से देश भर के छोटे कारोबारि‍यों और कलाकारों ने ऑनलाइन समान बेचना शुरू कि‍या है। 

 

आगे पढ़ें...

1  सेलर से 3 लाख सेलर्स

 

पांच साल में अमेजन केवल एक सेलर से 3 लाख सेलर्स तक पहुंच गया है। वहीं, बीते एक साल के दौरान ही अमेजन.इन ने अपने थर्ड-पार्टी अफि‍लि‍एट्स और सर्वि‍स प्रोवाइर्ड के नेटवर्क को बढ़ाया है ताकि‍ नॉन मेट्रो और छोटे शहरों के सेलर्स आसानी से जुड़ सकें और उन्‍हें अपने ऑनलाइन बि‍जनेस के लि‍ए जरूरी सपोर्ट दि‍ए जा सकें।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement