बिज़नेस न्यूज़ » Industry » E-Commerceफ्लि‍पकार्ट ने कि‍या अब तक का सबसे बड़ा शेयर बायबैक, खरीदे 10 करोड़ डॉलर के ESOPs

फ्लि‍पकार्ट ने कि‍या अब तक का सबसे बड़ा शेयर बायबैक, खरीदे 10 करोड़ डॉलर के ESOPs

फ्लि‍पकार्ट ने कहा है कि‍ कंपनी ने कहा है कि‍ उन्‍होंने 10 करोड़ डॉलर के इम्‍पलॉइ स्‍टॉक ऑप्‍शन (ESOPs) का बायबैक कि‍या

फ्लि‍पकार्ट ने 10 करोड़ डॉलर का इम्‍पलॉइ स्‍टॉक ऑप्‍शन (ESOPs) का शेयर बायबैक कि‍या - Flipkart completed the 100 million dollar buyback of ESOPs

नई दि‍ल्‍ली। भारत की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी फ्लि‍पकार्ट ने 10 करोड़ डॉलर के इम्‍पलॉइ स्‍टॉक ऑप्‍शन (ESOPs) का बायबैक कि‍या है। यह देश में कि‍सी भी अनलि‍स्‍टेड कंपनी की ओर से कि‍या सबसे बढ़ा बायबैक प्रोग्राम बन गया है। इस प्रोग्राम में फ्लि‍पकार्ट के साथ-साथ सब्‍सि‍डयरीज मिंत्रा, जबॉन्‍ग और फोनपे के 3,000 से ज्‍यादा मौजूदा और पुराने कर्मचारि‍यों को शामि‍ल कि‍या गया जि‍न्‍होंने अपने स्‍टॉक ऑप्‍शप का कुछ हि‍स्‍सा बेचा है। बीते 5 साल में फ्लि‍पकार्ट की ओर से चौथ और सबसे बड़ा शेयर बायबैक था।  

 

कंपनी ने क्‍या कहा

 

फ्लि‍पकार्ट के चेयरमैन सचि‍न बंसल और ग्रुप सीईओ बि‍न्‍नी बंसल ने बयान में कहा कि‍ कर्मचारी हमारी सबसे बड़ी स्‍ट्रेंथ है, उनके बि‍ना फ्लि‍पकार्ट भारत में ई-कॉमर्स इंडस्‍ट्री को कभी नहीं बना पाता। एक ऑर्गेनाइजेशन के तौर पर हमारा मानना है कि‍ उन्‍हें भी फ्लि‍पकार्ट की सक्‍सेस में बराबर का पार्टनर होना चाहि‍ए। यह ESOPs रीपर्चेस प्रोग्राम इस कल्‍चर का हि‍स्‍सा है और सालों से की गई कड़ी मेहनत और डेडि‍केशन के लि‍ए शुक्रि‍या अदा करने का तरीका है।  

 

ये भी पढ़े - फ्लि‍पकार्ट ने कि‍या अब तक का सबसे बड़ा शेयर बायबैक, खरीदे 10 करोड़ डॉलर के ESOPs

 

फंड जुटाने के बाद कि‍या गया बायबैक

 

शेयरों को दोबारा खरीदने का फैसला फ्लि‍पकार्ट की ओर से जापान के इन्‍वेस्‍टर सॉफ्टबैंक से 2.5 अरब डॉलर का फंड जुटाने के बाद लि‍या गया है। अगस्‍त में सॉफ्टबैंक ने कंपनी में मौजूदा इन्‍वेस्‍टर्स से शेयर खरीदने के लि‍ए मंजूरी दी थी। सॉफ्टबैंक ने फ्ल्‍ि‍पकार्ट में दूसरे इन्‍वेस्‍टर्स से 9-10 अरब डॉलर की वैल्‍यूएशन पर स्‍टॉक खरीदे थे। 

 

फ्लि‍पकार्ट ने कि‍स वैल्‍यू पर खरीदे शेयर

 

अक्‍टूबर में न्‍यूज रि‍पोर्ट के मुताबि‍क, फ्लि‍पकार्ट 85.2 डॉलर प्रति‍ शेयर के साथ करीब 3 से 4 डॉलर की ट्रांजैक्‍शन फीस के साथ शेयर खरीदेगी। मौजूदा कर्मचारी अपने स्‍टॉप ऑप्‍शन का 25 फीसदी तक बेच सकते हैं जबकि‍ पुराने कर्मचारी अपनी होल्‍डिंग का केवल 10 फीसदी ही बेच सकते हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट