बिज़नेस न्यूज़ » Industry » E-Commerceअब सेलर्स को कमाई बढ़ाना सिखाएगी फ्लिपकार्ट, कम करेगी अपना कमीशन

अब सेलर्स को कमाई बढ़ाना सिखाएगी फ्लिपकार्ट, कम करेगी अपना कमीशन

फ्लिपकार्ट सेलर्स को अपने प्‍लेटफाॅर्म पर बरकरार रखने और उनका फायदा बढ़ाने के लि‍ए कुछ नए प्‍लान लेके आई है।

1 of

 

 

नई दि‍ल्‍ली. भारत की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट सेलर्स को अपने प्‍लेटफाॅर्म पर बरकरार रखने और  उनका फायदा बढ़ाने के लि‍ए कुछ नए प्‍लान लेके आई है। इस प्‍लान के तहत सेलर्स की सेल और उनका फायदा बढ़ाने की सलाह के साथ एक्‍सपर्ट ओर से उन्‍‍‍‍‍हें टि‍‍‍‍प्‍स भी दि‍ए जाएंगे। सेलर्स के फायदे के लि‍ए इस तरह का ट्रेनि‍ंग प्रोग्राम चलाने वाली फ्लि‍पकार्ट दुनि‍या की पहली ई-कॉमर्स कंपनी है। इसके तहत कंपनी सेलर्स को फायदे पहुंचाने के लि‍ए एक्‍सपर्ट से उन्‍हें उन बारीकि‍यों के बारे में बताने के लि‍ए कहेगी, जि‍ससे सेलर्स प्रोडक्‍ट की क्‍वॉलि‍टी और डि‍जाइन को डि‍मांड के अनुसार बना सकें। इस स्‍कीम को कंपनी ने 'फ्लिपकार्ट उत्‍कर्ष' का नाम दि‍या है।  

 

एक्‍सपर्ट करेंगे सेलर्स की मदद 

फ्लिपकार्ट के वाइस प्रेजि‍डेंट और मार्केटप्लेस हेड अनिल गोतेती ने बताया कि‍ कंपनी ने उत्‍कर्ष के तहत एक नई तरह के ट्रेनि‍ंग प्रोग्राम को शुरू कि‍या है। इसके तहत फ्लिपकार्ट की ओर से कुछ एक्‍सपर्ट की एक टीम बनाई गई है। यह टीम सेलर्स को बताएगी की लोग कि‍स तरह के प्रोडक्‍ट पसंद कर रहे हैं। ताकि‍ सेलर्स लोगों की पसंद और डि‍मांड के प्रोडक्‍ट तैयार कर सकें। उन्‍होंने बताया कि‍ कंपनी ने इसके लिए 25 सदस्यों की टीम बनाई है। इनमें डाटा वैज्ञानिक भी शामिल हैं। 


प्रोडक्‍ट रि‍प्‍लेसमेंट को कम करने की तैयारी 

अनि‍ल गोतेती ने बातचीत के दौरान बताया कि‍  कंपनी अपनी इस ताजा पहल 'फ्लिपकार्ट उत्कर्ष' के तहत विक्रेताओं को उनके कारोबार को सुधारने में मदद करने की तैयारी कर रही है। इससे वे अपने प्रोडक्‍ट की गुणवत्ता को सुधार पाएंगे। इसका फायदा सेलर और कंपनी दोनों को मि‍लेगा। उदाहरण के तौर पर उन्‍होंने बताया कि‍ कई बार प्रोडक्‍ट की क्‍वॉलि‍टी खराब होने पर खरीददार प्रोडक्‍ट को वापस कर देते हैं। इससे सेलर और कंपनी दोनों को नुकसान उठाना पड़ता है। ये एक बड़ा कारण है कि‍ उत्‍कर्ष प्रोग्राम के तहत सेलर्स को उनके प्रोडक्‍ट की क्‍वॉलि‍टी सुधारने के लि‍ए प्रेरि‍त कि‍या जाएगा। 

 

कम करेेंगे कमाई का प्रति‍शत 

फ्लिपकार्ट के वाइस प्रेजि‍डेंट अनिल गोतेती ने आगे बताया कि‍ हमारी कोशि‍श है कि‍ जहां पुराने सेेलर्स हमसे जुड़े रहें। वहीं, नए सेलर्स को हमसे जुडने पर पहले से ज्‍यादा फायदा मि‍ले। इसके लि‍ए हमने पि‍छली कुछ ति‍माही में उत्पादों पर कमाई 15 से 20 प्रतिशत घटी है। इससे ग्राहकों को सीधा फायदा तो मि‍ल ही रहा है साथ ही सेलर्स का मुनाफा भी बढ़ा है। 

 

500 रुपए से कम के प्रोडक्‍ट पर कम हो मार्जि‍न 

भारत की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट की ओर से बोलते हुए उन्‍होंने कहा कि‍ अपने प्लेटफॉर्म पर अपनी कमाई के हिस्से को इस साल 10 से 15 प्रतिशत और कम करने का इरादा है।इसके अलावा कंपनी की ओर से सेलर्स से बात कर 500 रुपए से कम कीमत वाले प्रोडक्‍ट पर मार्जि‍न घटाने की भी तैयारी की जा रही है। इसके लि‍ए एक मई से अपने विक्रेताओं के लिए विभिन्न तरह की फीस जि‍समें फि‍क्‍स्‍ड चार्ज और कमि‍शन चार्ज शामि‍ल है कि‍ 50 फीसदी तक कम करने का फैसला कि‍या है। 

 

एक मुहि‍म 'आदत से आगे' 

अनिल गोतेती ने आगे बताया कि‍ फ्लिपकार्ट की ओर से प्रोडक्‍ट की क्‍वॉलि‍टी के अलावा ग्राहकों का वि‍श्‍वास बनाए रखने के लि‍ए एक अलग तरह कह मुहि‍‍‍म शुरू की गई है। इसके तहत वह उन लोगों की सफलता की कहानी का प्रचार कर रहा है, जि‍न्‍होंने फ्लिपकार्ट से जुड़ने के बाद नाम कमाया। इनमें रि‍तु कौशि‍क के रि‍तुपाल कलेक्‍शन के बारे में उन्‍होंने बताया। उन्‍होंने बताया कि‍ कैसे एक हाउस वाइफ फ्लिपकार्ट से जुुड़ने के बाद अपने को ब्रांड में बदल सकीं। उन्‍होंने बताया कि‍ इन कहानि‍यों से सेलर्स को प्रेरि‍त करने में सहायता मि‍लेगी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट