Home » Industry » E-Commerceflipkart buyback 350 mn dollar share, वॉलमार्ट डील से पहले फ्लि‍पकार्ट ने बायबैक कि‍ए 2300 करोड़ के शेयर्स

वॉलमार्ट डील से पहले फ्लि‍पकार्ट ने बायबैक कि‍ए 2300Cr के शेयर्स, बनी रहेगी प्राइवेट कंपनी

फ्लि‍पकार्ट ने ऐसा सिंगापुर में खुद को प्राइवेट लि‍मि‍टेड कंपनी दोबारा बनने के लि‍ए कि‍या है।

1 of

नई दि‍ल्‍ली। फ्लि‍पकार्ट ने वॉलमार्ट की ओर से अधि‍कांश हि‍स्‍सेदारी खरीदने से पहले अपनी सिंगापुर स्‍थि‍त पैरेंट कंपनी में 35 करोड़ डॉलर (करीब 2300 करोड़ रुपए) के शेयर वापस खरीद लि‍ए हैं। फ्लि‍पकार्ट ने सिंगापुर में खुद को प्राइवेट कंपनी बनाए रखने के लिए ऐसा कि‍या है।

 

बि‍जनेस इंटेलि‍जेंस प्‍लेटफॉर्म पेपर.वीसी और फ्लि‍पकार्ट की ओर से सिंगापुर अथॉरि‍टीज को दि‍ए दस्‍तावेजों के मुताबि‍क,  कंपनी ने 18,95,574 रीडीमएबल प्रिफरेंस शेयर्स और 1,74,319 नॉन रीडीमएबल प्रिफरेंस शेयर्स को इन्‍वेस्‍टर्स से 35.46 करोड़ डॉलर में खरीदा है। यह ट्रांजैक्‍शन 27 अप्रैल को पूरी हुई है। 

 

 

इन लोगों ने बेचे शेयर्स

जि‍न इन्‍वेंस्‍टर्स ने अपने शेयर्स बेचे हैं उनमें शेखर कि‍रानी, दीप नि‍शर और आईडीजी वेंचर्स हैं। इन इन्‍वेस्‍टर्स के अलावा कई पेंशन फंड्स भी फ्लि‍पकार्ट से बाहर हो गए हैं। फ्लि‍पकार्ट ने 169.31 डॉलर प्रति‍ शेयर के हि‍साब से हि‍स्‍सा खरीदा है। हालांकि‍, कंपनी में बड़े इन्‍वेस्‍टर्स - सॉफ्टबैंक, टाइगर ग्‍लोबल, नेस्‍पर्स, माइक्रोसॉफ्ट, ईबे और एक्‍सेल ने इस बायबैक में हि‍स्‍सा नहीं लि‍या है। आईडीजी वेंचर्स ने कंपनी में मल्‍टीपल फंड्स के जरि‍ए इन्‍वेस्‍टमेंट कि‍या था। 

 

 

सिंगापुर में प्राइवेट कंपनी बने रहना चाहती है फ्लि‍पकार्ट

फ्लि‍पकार्ट के लि‍ए खुद को सिंगापुर में प्राइवेट कंपनी बने रहने की जरूरत है ताकि‍ बड़े ट्रांजैक्‍शन के मामले में ज्‍यादा अनुपालनों से बचा जा सके। कंपनी वॉलमार्ट के साथ बड़ा ट्रांजैक्‍शन करने की योजना बना रही है।

माना जा रहा है वॉलमार्ट की ओर से फ्लि‍पकार्ट में 60 से 80 फीसदी की हि‍स्‍सेदारी खरीदी जा सकती है जि‍सके लि‍ए वह करीब 12 अरब डॉलर का इन्‍वेस्‍टमेंट करेगी। यह डील फ्लि‍पकार्ट के 20 अरब डॉलर के प्राथमि‍क वैल्‍यूएशन पर होगी। सिंगापुर अथॉरि‍टीज को दि‍ए दस्‍तावेजों में कंपनी ने कहा कि‍ वह 131.4 डॉलर शेयर्स के हि‍साब से इन्‍वेस्‍टर्स से अपने खुद के शेयर्स को खरीदना चाहती है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट