बिज़नेस न्यूज़ » Industry » E-Commerceइकोनॉमि‍क सर्वे : इस साल 33 अरब डॉलर का हो जाएगा ई-कॉमर्स मार्केट

इकोनॉमि‍क सर्वे : इस साल 33 अरब डॉलर का हो जाएगा ई-कॉमर्स मार्केट

इकोनॉमि‍क सर्वे में अनुमान लगाया गया है कि‍ इस साल ई-कॉमर्स मार्केट 33 अरब डॉलर का हो जाएगा।

इकोनॉमि‍क सर्वे : इस साल 33 अरब डॉलर का हो जाएगा ई-कॉमर्स मार्केट - economic survey says ecommerce sector will reach 33 billion

नई दि‍ल्‍ली। वि‍त्‍त मंत्री अरुण जेटली की ओर से संसद में रखे इकोनॉमि‍क सर्वे में अनुमान लगाया गया है कि‍ इस साल ई-कॉमर्स मार्केट 33 अरब डॉलर का हो जाएगा। इससे संकेत मि‍लता है कि‍ 2016-17 की तुलना में 19 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की जाएगी। डि‍स्‍काउंट, फेस्‍टि‍व ऑफर्स, तेज डि‍लि‍वरी और बेहतर टेलि‍कॉम बैंडवि‍द् की मदद से ईकॉमर्स सेक्‍टर में प्रभावशाली ग्रोथ दर्ज की जा रही है। वहीं, सेंटर और स्‍टेट भी इस सेक्‍टर को सपोर्ट कर रहे हैं क्‍योंकि‍ वह इस सेक्‍टर को नौकरी पैदा करने वाला ग्रोथ सेक्‍टर मान रहे हैं। सेंटर इस सेक्‍टर को पहलों जैसे स्‍टार्टअप इंडि‍या के जरि‍ए प्रोत्‍साहि‍त कर रहा है। 

 

ई-कॉमर्स में आईटी से दोगुनी ग्रोथ 

 

ई-कॉमर्स सेक्‍टर में आईटी और बि‍जनेस प्रोसेस मैनेजमेंट (आईटी-बीपीएम) की तुलना में दोगुनी ग्रोथ रही है। आईटी-बीपीएम इंडस्‍ट्री समान अवधि‍ में 8 फीसदी की ग्रोथ के साथ 140 अरब डॉलर तक बढ़ी है। हालांकि‍, इस मार्केट साइज में ई-कॉमर्स और हार्डवेयर शामि‍ल नहीं हैं। वहीं, इसी दौरान आईटी-बीपीएम सर्वि‍सेज 7.6 फीसदी की ग्रोथ के साथ 116 अरब डॉलर पर पहुंच गई है जोकि‍ बीते साल 108 अरब डॉलर पर थी। 

 

सरकार ने उठाए कई कदम

 

सर्वे में कहा गया कि‍ सरकार ने इस सेक्‍टर को प्रमोट करने के लि‍ए कई कदम उठाए हैं, जैसे बीपीओ प्रमोशन और कॉमन सर्वि‍सेज सेंटर्स को खोलना। सर्वे में कहा गया कि‍ यह सेंटर्स डि‍जि‍टल इन्‍क्‍लूशन और समान ग्रोथ के साथ-साथ 1.45 लाख लोगों (खासकर छोटे शहरों के) को रोजगार देने में मदद कर रहा है। 

 

इसके अलावा, एक अलग 5,000 सीट्स और 15,000 लोगों के जॉब संभावना वाली नॉर्थईस्‍ट बीपीओ प्रमोशन स्‍कीम को शुरू कि‍या गया। साथ ही, डाटा प्रोटेक्‍शन पॉलि‍सी लॉ का ड्रॉफ्ट तैयार कि‍या जा रहा है। इसके अलावा, डि‍जि‍टल इंडि‍या, मेक इन इंडि‍या, स्‍मार्ट सि‍टीज, ई-गर्वनेंस, स्‍कि‍ल इंडि‍या के जरि‍ए डि‍जि‍टल टेलेंट को बूस्‍ट देना और स्‍टार्टअप इंडि‍या के जरि‍ए इनोवेशन और कैशलेस इकोनॉमी को बढ़ाना है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट