Home » Industry » E-Commerceamazon India reduce seller fees again

Flipkart को टक्‍कर देने के लि‍ए Amazon ने फि‍र बदली पॉलि‍सी, घटाई सेलर फीस

सेलर्स के लि‍ए बदली पॉलि‍सी 15 जुलाई को प्रभावी होगी। इससे पहले अप्रैल में Amazon इंडि‍या ने सेलर फीस में कटौती की थी।

amazon India reduce seller fees again

नई दि‍ल्‍ली  इंडि‍यन ई-कॉमर्स मार्केट में दो दि‍ग्‍गज कंपनि‍यों - Flipkart और Amazon के बीच कॉम्‍पीटि‍शन बढ़ता जा रहा है। इसी को देखते हुए Amazon इंडि‍या ने एक बार फि‍र अपने सेलर पॉलि‍सी में बदलाव कि‍या है। अमेजन ने फर्नीचर और लगैज जैसी कैटेगरीज में सेलर फीस को कम कर दि‍या है। इन दोनों सेगमेंट पर फ्लि‍पकार्ट का भी फोकस बढ़ रहा है। 

 

दोनों ही कंपनि‍यां इन कैटेगरीज को लेकर एग्रेसि‍व हो गई हैं और सेलर्स को कम दाम पर प्रोडक्‍ट बेचने की मांग कर रही हैं। सेलर्स के लि‍ए बदली पॉलि‍सी 15 जुलाई को प्रभावी होगी। इससे पहले अप्रैल में अमेजन इंडि‍या ने सेलर फीस में कटौती की थी। 

 

कई कैटेगरीज के लि‍ए बदला फीस स्‍ट्रक्‍चर

 

अमेजन इंडि‍या ने कई फैशल प्रोडक्‍ट्स के लि‍ए रेफरल फीस को कम कर दि‍या है। अपैरल एक्‍सेसरीज के लि‍ए इसे 20 फीसदी से घटाकर 15 फीसदी कर दि‍या गया है। वहीं, दूसरी कैटेगरीज जैसे फर्नीचर के लि‍ए फीस 14 फीसदी से 12 फीसदी कर दी गई है। इसके अलावा, लगैज के लि‍ए फीस 7 फीसदी से घटकर 5.5 फीसद और चश्‍मों के लि‍ए 16.5 फीसदी से घटाकर 8.5 फीसदी की दी है।

 

22 कैटेगरीज में कम हुई फीस

 

अमेजन के स्‍पोक्‍सपर्सन ने कहा कि‍ हाल ही में बदली गई फीस में हमने 22 कैटेगरीज के लि‍ए रेफरल फीस को कम कर दि‍या है। इसमें वेट हैंडलिंग, ओवर साइज आइट्म के लि‍ए पि‍क और पार्क फीस जैसी वि‍भि‍न्‍न चीजों के लि‍ए फीस को घटाया गया है ताकि‍ अमेजन पर बि‍जनेस करने वाले सेलर्स की बि‍जनेस कॉस्‍ट कम हो सकें।

 

अप्रैल में भी घटाई थी सेलर फीस

 

इससे पहले अमेजन इंडि‍या ने अप्रैल में भी सेलर्स फीस को बदला था। इसके तहत कंपनी ने ग्रॉसरी, डेली समान की जरूरतों और अपैलर कैटेगरीज में सेलर्स फीसदी को 70 फीसदी तक कम कर दि‍या गया था। हालांकि‍, कंपनी ने कुछ आइट्स जैसे पावर बैंक, चार्जर्स, बैकपैक और शूज के लि‍ए फीस को 50 फीसदी तक बढ़ा दि‍या है। 

 

32 कैटेगरीज में फीस घटाई

 

अमेजन ने अपने प्‍लेटफॉर्म पर डेली जरूरत के समान और अपैरल जैसी कैटेगरीज पर बेचने वाले सेलर्स की फीस 70 फीसदी तक घटा दी है। लेकि‍न शूज, होम इम्‍प्रूवमेंट एक्‍सेसरीज, पावरबैक और चार्जर्स जैसे आइट्म को बेचने वालो के लि‍ए फीस 50 फीसदी तक बढ़ा दी है।

 

कुल मिलाकर कंपनी ने 24 कैटेगरीज के लि‍ए फीस बढ़ाई है और 32 कैटेगरीज के लि‍ए फीस कम कर दी है। वहीं, 48 कैटेगरीज में कोई बदलाव नहीं कि‍या गया है, जि‍समें मोबाइल, लैपटॉप, बुक और स्‍मॉल अप्‍लायंसेस शामि‍ल हैं। 

 

छोटे और ग्रामीण इलाकों के सेलर्स पर फोकस

 

हाल के कुछ दि‍नों में सेलर्स ने आरोप लगाया था कि‍ अमेजन पर बि‍जनेस करना महंगा पड़ रहा है। बीते साल कंपनी ने अपने GoLocal प्रोग्राम के तहत दूरी के हि‍साब से फीस लगानी शुरू कर दी थी। लेकिन नई पॉलि‍सी के तहत अमेजन ने 30 से ज्‍यादा कैटेगरीज में रेफरल फीस को घटा दि‍या। अमेजन पर कई नए सेलर्स छोटे शहरों और सेमी अर्बन इलाकों से हैं। इसलि‍ए कंपनी ने सेलर फीस स्‍ट्रक्‍चर को रीडि‍जाइन कि‍या है।    

 

कंपनी ने सेलर्स के लि‍ए तीन शि‍पिंग मॉड्यूल बनाए

 

अमेजन ने सेलर्स के लि‍ए तीन शि‍पिंग मॉड्यूल्‍स का ऑफर दि‍या है। लोकल ऑप्‍शन में, एक वेंडर अब सेलर सि‍टी में लोकली प्रोडक्‍ट्स को बेच सकता है। जबकि‍, रीजनल कैटेगरी और नेशनल कैटेगरी में पहले से तय शहरों या राज्‍यों के अलावा देश में भर में प्रोडक्‍ट्स बेच सकता है। इस कदम से सेलर्स अपने लोकल मार्केट पर फोकस कर सकते हैं ताकि‍ प्रोडक्‍ट्स की डि‍लि‍वरी सस्‍ते में और तेजी से हो सके। 

 

बि‍ग बास्‍केट और फ्लि‍पकार्ट को टक्‍कर

 

ग्रॉसरी कैटेगरी के लि‍ए सेलर फीस को 7 फीसदी से घटाकर 3 फीसदी कर दि‍या गया है। कंपनी ने यह कदम बि‍ग बास्‍केट और फ्लि‍पकार्ट को टक्‍कर देने के लि‍ए उठाया है। वहीं, फैशन कैटेगरी में फ्लि‍पकार्ट का मुकाबला करने के लि‍ए सेलर फीस को 19.5 फीसदी से घटाकर 17 फीसदी कर दि‍या है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट