Home » Industry » E-CommerceFlipkart deal may negatively impact EPS by $0.25-0.30: Walmart

फ्लिपकार्ट डील से उत्साहित वालमार्ट, लेकिन ईपीएस 0.30 डॉलर घटने की जताई आशंका

दुनिया की सबसे बड़ी रिटेलर वालमार्ट ने कहा कि फ्लिपकार्ट में 16 अरब डॉलर के निवेश से फिस्कल ईयर 2019 में उसकी प्रति शेयर

1 of

नई दिल्ली. दुनिया की सबसे बड़ी रिटेलर वालमार्ट ने कहा कि फ्लिपकार्ट में 16 अरब डॉलर के निवेश से फिस्कल ईयर 2019 में उसकी प्रति शेयर अर्निंग्स (ईपीएस) में 0.25-0.30 डॉलर की कमी आ सकती है। हालांकि उसने कहा कि भारत के ई-कॉमर्स सेक्टर की तेज ग्रोथ को लेकर वह ‘भविष्य के प्रति उत्साहित’ है।

वालमार्ट ने अपने अर्निंग स्टेटमेंट में कहा, ‘फ्लिपकार्ट में उसके इन्वेस्टमेंट से संबंधित ट्रांजैक्शन दूसरी तिमाही के अंत तक पूरा हो जाता है, तो फिस्कल ईयर 2019 में उसके ईपीएस में 0.25-0.30 डॉलर की कमी आ सकती है।’

 

 

उम्मीद से बेहतर वालमार्ट के पहले तिमाही के नतीजे

अमेरिका बेस्ड कंपनी के पहले क्वार्टर के नतीजे उम्मीद से बेहतर रहे और उसका कुल रेवेन्यू 4.4 फीसदी बढ़कर 122.7 अरब डॉलर के स्तर पर पहुंच गया। संबंधित तिमाही के दौरान उसकी ऑनलाइन सेल्स में 33 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई और पूरे साल के दौरान इसमें 40 फीसदी की ग्रोथ होने का अनुमान है।

वहीं जनवरी-मार्च तिमाही के दौरान वालमार्ट की इंटरनेशनल बिजनेस से कुल बिक्री 11.7 फीसदी बढ़कर 30.3 अरब डॉलर तक पहुंच गई। स्टेटमेंट में कहा गया कि कंपनी का डाइल्यूटेड ईपीएस 0.72 डॉलर, जबकि एडजस्टेड ईपीएस 1.14 डॉलर रहा।

 

 

भारत के ई-कॉमर्स सेक्टर में हैं काफी संभावनाएं

स्टेटमेंट में यह भी कहा गया कि अपने बिजनेसेस के पोर्टफोलियो को मजबूती बनाने के लिए कंपनी ने तिमाही के दौरान कई कदम उठाए। इसमें वालमार्ट का फ्लिपकार्ट में निवेश, यूके में सैन्सबुरी और असादा को मिलाना और वालमार्ट कनाडा व वालमार्ट चिली के बैंकिग ऑपरेशन को बेचना शामिल है।

भारत में हुई फ्लिपकार्ट डील पर वालमार्ट के प्रेसिडेंट और सीईओ डग मैकमिलन ने कहा कि भारत में ई-कॉमर्स सेक्टर तेजी से बढ़ रहा है और रिटेल की तुलना में इस सेगमेंट के चार गुना तेजी से बढ़ने का अनुमान है।  

 

 

फ्लिपकार्ट हासिल करेगी अच्छी ग्रोथ

उन्होंने कहा, ‘फ्लिपकार्ट पहले ही इस ग्रोथ के बड़े हिस्से को हथिया चुकी है और कंपनी भविष्य में अच्छी ग्रोथ हासिल करने की स्थिति में। इसलिए, तेजी से बढ़ते देश में ई-कॉमर्स जैसे ग्रोथ एरिया की स्थापित कंपनी में निवेश को लेकर हम खासे उत्साहित हैं।’

 

 

वालमार्ट खरीदेगी फ्लिपकार्ट की 77 फीसदी हिस्सेदारी

कई महीनों के विचार-विमर्श के बाद वालमार्ट ने एक मेगा डील के माध्यम से फ्लिपकार्ट ग्रुप होल्डिंग कंपनी की 77 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने का ऐलान किया था, जो सिंगापुर में रजिस्टर्ड है। अभी यह ट्रांजैक्शन कॉम्पिटीशन कमीशन ऑफ इंडिया सहित विभिन्न स्टैच्युरी अप्रूवल्स पर निर्भर करेगा।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट