विज्ञापन
Home » Industry » E-Commercereport claims Amazon flooded with thousands of fake reviews

Amazon पर फेक रिव्यू से फंसाए जाते हैं कस्टमर, रिपोर्ट में किया गया दावा

अमेजन (Amazon) की साइट पर बिकने वाले प्रोडक्ट्स के फेक रिव्यूज के चक्कर में कस्टमर्स फंस जाते हैं।

report claims Amazon flooded with thousands of fake reviews

दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स (e-commerce) कंपनी अमेजन (Amazon) की साइट पर बिकने वाले प्रोडक्ट्स के फेक रिव्यूज के सहारे कस्टमर्स फंस जाते हैं। यूके के कंज्यूमर एडवोकेसी ग्रुप व्हिच? (Which?) ने हाल में जारी अपनी रिपोर्ट में यह दावा किया। 


नई दिल्ली. दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स (e-commerce) कंपनी अमेजन (Amazon) की साइट पर बिकने वाले प्रोडक्ट्स के फेक रिव्यूज के चक्कर में कस्टमर्स फंस जाते हैं। यूके के कंज्यूमर एडवोकेसी ग्रुप व्हिच? (Which?) ने हाल में जारी अपनी रिपोर्ट में यह दावा किया। सीएनबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, उसने अमेजन (Amazon) की वेबसाइट पर हजारों फर्जी फाइव-स्टार रिव्यू मिलने की बात कही।

 

अनजान ब्रांड का दिखता है वर्चस्व

कंज्यूमर एडवोकेसी ग्रुप व्हिच (Which?) ने अमेजन (Amazon) की साइट पर बिकने वाले सैकड़ों टेक प्रोडक्ट्स का विश्लेषण किया और पाया कि संभावित तौर पर झूटे रिव्यूज से अनजान से ब्रांड्स ने लोकप्रिय आइटम्स की सर्च में अपना वर्चस्व कायम कर लिया है।

 

हजारों की संख्या में मिले अनवेरिफाइड रिव्यू

व्हिच (Which?) के मुताबिक, सेलर्स ऐसे प्रोडक्ट्स की लिस्टिंग करा रहे हैं, जिनके साथ हजारों की संख्या में पॉजिटिव अनवेरिफाइड रिव्यू दिए गए हैं। इसका मतलब है कि अमेजन या किसी अन्य साइट पर खरीदे जाना वाले प्रोडक्ट का रिव्यू देने वाले लोगों का कोई प्रमाण नहीं है।

 

अनजान प्रोडक्ट्स को मिले बेस्ट रिव्यू

जांच में सामने आया कि एक ही दिन में प्रोडक्ट पेजों पर सैकड़ों अनवेरिफाइड फाइव-स्टार रिव्यू पोस्ट किए गए। कई ऐसे प्रोडक्ट पेज्स पर भी पॉजिटिव रिव्यू नजर आए जिनके आइटम्स एक-दूसरे से पूरी तरह अलग थे। व्हिच (Which?) ने हेडफोन, स्मार्च वाच और वियरेबल डिवाइस सहित अमेजन (Amazon) पर लिस्ट 14 टेक प्रोडक्ट के लिए सर्च की। पहले पेज पर हेडफोन के लिए की गई सर्च में पाया कि प्रोडक्ट पर पहले बेस्ट रिव्यू दिए गए थे, जिसमें 100 फीसदी ऐसे ब्रांड के आइटम बेचे जा रहे थे जिनके बारे में टेक्स एक्सपर्ट्स ने भी कभी नहीं सुना था।

पहले पेज पर 71 फीसदी आइटम्स के सर्च रिजल्ट में फाइव स्टार रिव्यू मिले, जिनमें से 90 फीसदी अनवेरिफाइड थे। महज दो घंटे में ही व्हिच (Which?) ने पाया कि महज 24 आइटम्स के लिए 10 हजार से ज्यादा रिव्यू अनवेरिफाइड परचेजर्स के थे।
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन