Home » Industry » E-CommerceOver 50 crore mobiles numbers may face KYC proof issue

सरकार की सफाई, नहीं बंद होंगे 50 करोड़ मोबाइल नंबर

आधार कार्ड पर लिए गए सिम के लिए नहीं देना होगा दूसरा पहचान पत्र

Over 50 crore mobiles numbers may face KYC proof issue

नई दिल्ली: कसभी मोबाइल यूजर्स की परेशानी को सरकार ने अपनी सफाई से दूर कर दिया। कल रात से यह खबर चल रही थी कि आधार कार्ड पर लिए गए सिम कार्ड के लिए दूसरा पहचान पत्र नहीं देने पर सिम काम करना बंद कर देगा। इस संबंध में गुरुवार सुबह दूरसंचार विभाग की तरफ से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि ऐसा कुछ नहीं होने वाला है। यह खबर बिल्कुल भ्रामक है और इसे गलत तरीके से फैलाया जा रहा है। आधार कार्ड पर सिम लेने वाले उपभोक्ता को सिम कार्ड को जारी रखने के लिए कोई भी दूसरा पहचान पत्र नहीं देना होगा।

कल रात से खबर चल रही है थी कि देश में 50 करोड़ मोबाइल उपभोक्ताओं के नंबर बंद हो सकते हैं। खबर के मुताबिक जिन मोबाइल उपभोक्ताओं ने भी कनेक्शन लेने के दौरान आधार कार्ड के अलावा कोई और पहचान पत्र नहीं दिया है उन लोगों को खतरा हो सकता है। केवल आधार कार्ड देकर कनेक्शन लेने वाले लोगों को केवाईसी प्रक्रिया से गुजरना होगा। आधार कार्ड पर लिए सिम को अगर किसी दूसरे आइडेंटिफिकेशन प्रक्रिया से ब्रेकअप नहीं मिल तो आपका सिम बंद हो जाएगा। हाल ही  में सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया था कि कोई भी निजी कंपनी किसी भी व्यक्ति के यूनिक आईडी का इस्तेमाल पहचान पत्र के तौर पर नहीं कर सकती है। कोर्ट के फैसले के बाद केंद्र सरकार ने निर्णय लिया है कि टेलीकॉम कंपनियां नए सिरे से केवाईसी प्रक्रिया पूरा करेंगी। 

 

टेलीकॉम सेक्रेटरी ने किया था कंपनियों से विचार-विमर्श
एक अंग्रेजी वेबसाइट पर छपी खबर के मुताबिक, बीते बुधवार को टेलीकॉम सेक्रेटरी अरुण सुंदरराजन ने कंपनियों के साथ बैठक की और ऑथेंटिकेशन के दूसरे तरीके पर विचार-विमर्श किया। इस समस्या को लेकर टेलीकॉम डिपार्टमेंट UIDAI से बात कर रहा है। अरुण सुंदरराजन ने कहा कि सरकार इस समस्या को लेकर काफी गंभीर है। इस समस्या से कैसे निकला जाए इस पर सरकार चर्चा कर रही है। ससुंदरराजन ने कहा कि सरकार चाहती है  कि नई प्रक्रिया से लोगों को परेशानी का सामना ना करना पड़े। उन्होंने कहा  कि हम चाहते हैं एक सरल प्रक्रिया के तहत ये काम किया जाए। जिससे यूजर्स को परेशानियों का सामना ना करना पड़े। 

 

जियो यूजर्स को खतरा
कोर्ट के इस फैसले से रिलायंस जियो की सिम इस्तेमाल करने वाले यूजर्स को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। पता हो कि रिलायंस जियो  ने मात्र आधार कार्ड के जरिए लोगों को सिम बांटे थे। जियो के अलावा भारती एयरटेल, वोडाफोन, बीएसएनएल और एमटीएनएल का नंबर यूज कर रहे लोगों पर भी खतरा मंडरा रहा है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट