विज्ञापन
Home » Industry » E-CommerceThe new rules of FDI have been implemented in e-commerce

अब समय पर नहीं मिलेगी आपको ऑनलाइन डिलीवरी ना ही मिलेगा सस्ता सामान, लागू हुआ नया नियम

नए नियम का सबसे अधिक असर पड़ेगा अमेजन पर

The new rules of FDI have been implemented in e-commerce

अगर आप ऑनलाइन शाॅपिंग करते हैं तो यह खबर आपके लिए है। अब ई-काॅमर्स में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) का नया नियम लागू किया गया है। नए बदलावों के मुताबिक अब ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म उन कंपनियों के प्रॉडक्ट नहीं बेच पाएंगे, जिनमें उनकी हिस्सेदारी है। 

नई दिल्ली। अगर आप ऑनलाइन शाॅपिंग करते हैं तो यह खबर आपके लिए है। अब ई-काॅमर्स में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) का नया नियम लागू किया गया है। नए बदलावों के मुताबिक अब ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म उन कंपनियों के प्रॉडक्ट नहीं बेच पाएंगे, जिनमें उनकी हिस्सेदारी है साथ ही ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर अब किसी प्रॉडक्ट विशेष की एक्सक्लूसिव सेल भी नहीं चल पाएगी। शुक्रवार से लागू इस नियम के बाद अब ग्राहकों को ना तो उन्हें जल्दी डिलीवरी मिलेगी ना ही ऑफर। इस नए नियम के तहत ग्राहकों को सामान पहले के 1-2 दिन की तुलना में अब कम से कम 4-5 दिनों में मिलेगा। इतना ही नहीं इसके लिए ग्राहकों को कीमत भी पहले से अधिक चुकानी होगी। बता दें कि सरकार ने दिसंबर में ई-कॉमर्स क्षेत्र में नए नियमों की घोषणा की थी और इन्हें 1 फरवरी से लागू किया जाना तय किया गया था माना जा रहा है कि इन नए नियमों से सबसे ज्यादा असर अमेजन और फ्लिपकार्ट के कारोबार पर होगा

 

अमेजन-फ्लिपकार्ट ने की थी डेडलाइन आगे बढ़ाने की मांग

अमेजन और फ्लिपकार्ट की ओर से इन नए नियमों को लागू करने की तारीख को आगे बढ़ाए जाने की भी मांग की गई थीकंपनियों का कहना था कि नए नियमों को समझने के लिए उन्हें और समय चाहिए

 

अमेजन पर पड़ा सबसे अधिक असर

इस नियम के तहत सबसे अधिक असर अमेजन पर पड़ा है। अमेजन को अपने प्लेटफार्म से मोबाइल, इलेक्ट्रानिक्स, ग्राॅसरी सहित कई उत्पादों को हटाना पड़ा है। क्लाउडटेल और ऐपेरियो जैसे सेलर्स ने काम करना बंद कर दिया। इन कंपनियों में अमेजन की हिस्सेदारी है।

वैश्विक तौर पर अमेजन को अंतरराष्ट्रीय काराेबार को 64.2 करोड़ डाॅलर का नुकसान उठाना पड़ा है जो इससे पहले वित्त वर्ष का समान तिमाही में 91.9 कराेड़ डाॅलर था।

 

फ्लिपकार्ट ने जारी किया बयान

फ्लिपकार्ट ने बयान जारी कर कहा है, वह सरकार द्वारा नियमों के अनुपालन की डेडलाइन न बढ़ाने के कदम से नाराज है। हालांकि नए नियमों का फ्लिपकार्ट पर तत्काल कोई प्रभाव नहीं पड़ा है।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन