Home » Industry » E-CommerceStartup companies now providing online funeral kits

अब ऑनलाइन मिल रहा है अंतिम संस्कार का सामान, इस क्षेत्र में उतर आई हैं स्टार्टअप कंपनियां

अंतिम क्रिया की किट के साथ पंडित की भी हो सकेगी बुकिंग

1 of

नई दिल्ली.

परिवार में किसी की मृत्यु हो जाए तो शोकाकुल लोगों के लिए अंतिम संस्कार की क्रिया से जुड़े सामान खरीदना, पंडित की व्यवस्था करना काफी भागदौड़ वाला काम हो जाता है। ऐसे में अगर इस महत्वपूर्ण रिवाज से जुड़ी सभी सामग्री घर बैठे आसानी से मिल जाए तो इससे परिवार को काफी सहूलिसत होगी। इसी साेच के साथ अब स्टार्टअप कंपनियां अंतिम संस्कार का सामान ऑनलाइन मुहैया कराने लगी हैं। देश में ऐसे कई स्टार्टअप खड़े हो गए हैं, जहां से आप अंतिम संस्कार का किट खरीद सकते हैं।

 

सभी जरूरी सामान होता है किट में

इन किट्स में गोमूत्र, अगरबत्ती, गोबर का उपला, बांस की सीढ़ी, मिट्टी का घड़ा समेत वे सब जरूरी चीजें शामिल होती हैं जिनकी जरूरत अंतिम संस्कार की क्रिया में पड़ती है। किट में तकरीबन 32 से 38 चीजें होती हैं। इतना ही नहीं किट के साथ पंडित की बुकिंग भी की जा सकती है।

 

कई स्टार्टअप उतर रहे हैं इस क्षेत्र में

अहमदाबाद की कंपनी 'मोक्षशील' और मुंबई की कंपनी 'सर्वपूजा' इस तरह की किट ऑनलाइन मुहैया कराती हैं। कोलकाता स्थित स्टार्टअप 'अंत्येष्टी’ भी अंतिम संस्कार किट उपलब्ध कराती है। इसके साथ ही यह कंपनी पंडितों और शमशान घाट की बुकिंग के साथ मृतक के शरीर को अंतिम संस्कार स्थल तक ले जाने के लिए वाहन की भी सुविधा देती है।

 

आगे पढ़ें- लोगों को भा रहे हैं ये स्टार्टअप

 

 

लोगों को भा रहे हैं ये स्टार्टअप

सर्वपूजा के संस्थापक नीतेश मेहता के मुताबिक उनका स्टार्टअप एक साल पहले ही लाॅन्च हुआ है। इस दौरान उन्होंने दाे हजार किट्स बेची हैं। उनका कहना है कि हिंदू धर्म के मुताबिक मृत व्यक्ति का अंतिम संस्कार 24 घंटे के अंदर करना होता है। ऐसे में अंतिम संस्कार से जुड़ी ये सुविधाएं मृतक के परिवार की परेशानी काफी कम कर सकती हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वे जल्द ही मुस्लिमों के लिए भी इस तरह की सेवा शुरू करने की योजना बना रहे हैं।

 

आगे पढ़ेंदुकानदारों को हो रही परेशानी

 

दुकानदारों को हो रही परेशानी

इन स्टार्टअप की वजह से स्थानीय दुकानदारों का काम काफी प्रभावित हो रहा है। जिन जगहों पर ये तीन स्टार्टअप अपनी सेवाएं दे रहे हैं वहां के दुकानदारों का कहना है कि उनकी कमाई पर इससे असर पड़ रहा है। हालांकि स्टार्टअप कंपनियों का कहना है कि अभी ज्यादातर लोग अंतिम संस्कार की पूजन सामग्री खरीदने के लिए पारंपरिक तौर तरीकों को ही प्राथमिकता देते हैं। यही वजह है कि अभी स्टार्टअप कंपनियों को मुनाफा नहीं हो रहा है।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट