Home » Industry » E-CommerceAfter google rejected him twice, Binny Bansal co-founded Flipkart

कभी गूगल ने किया था नौकरी देने से इनकार, अब गूगल पर करता है ट्रेंड

रिजेक्शन के बाद उद्यमी बने बिन्नी बंसल ने बनाई फ्लिपकार्ट

1 of

नई दिल्ली।

दिग्गज आईटी कंपनी गूगल ने कभी जिस शख्स को नौकरी देने से इनकार कर दिया था, वह अब गूगल पर ट्रेंड करता है। देश की नामी शख्सियतों में शुमार बिन्नी बंसल को दो बार गूगल की तरफ से जो रिजेक्शन मिला, उसी के मोटिवेशन से उन्होंने फ्लिपकार्ट की स्थापना की और इसे देश की सबसे बड़ी ई-काॅमर्स कंपनी बना दिया। अब बिन्नी बंसल गूगल पर ट्रेंड करते हैं। वे कुछ कहते हैं या करते हैं तो खुद गूगल उन्हें प्रायोरिटी पर रखता है। बीते दो दिनों से वे फिर गूगल पर ट्रेंड कर रहे हैं, ऐसा इसलिए क्योंकि उन्होंने अचानक ही फ्लिपकार्ट के सीईओ के पद से इस्तीफा दे दिया है।

 

2007 में की फ्लिपकार्ट की स्थापना

 

बिन्नी बंसल ने 2007 में सचिन बंसल के साथ मिलकर बेंगलुरु में एक छोटे से अपार्टमेंट में Flipkart की स्थापना की। दोनों आईआईटी दिल्ली से पासआउट थे। फ्लिपकार्ट की नींव रखने से पहले बिन्नी बंसल ने अमेजन कंपनी में नौ महीने काम किया। 2016 में वे फ्लिपकार्ट के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर (सीओओ) बने। जनवरी, 2017 में उन्हें ग्रुप का सीईओ बनाया गया।

 

आगे भी पढ़ें- 

 

 

नेटवर्थ 1.2 अरब डॉलर

 

इसी साल अमेरिकी रिटेल कंपनी वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट का अधिग्रहण किया। इस डील में वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट के 77 फीसदी शेयर शरीदे। कंपनी में बिन्नी के 5.5 फीसदी शेयरों की कीमत बढ़कर अरब डॉलर (7200 करोड़ रुपएहो गई।

 

आगे भी पढ़ें- 

 

 

आरोपों की वजह से दिया इस्तीफा

 

फ्लिपकार्ट की एक पूर्व महिला कर्मचारी ने फ्लिपकार्ट-वॉलमार्ट डील की घोषणा के समय वॉलमार्ट के सीईओ Doug McMillon को पत्र लिखकर बिन्नी बंसल पर शोषण का आरोप लगाया। इससे पहले 2016 में भी यह महिला कर्मी बिन्नी पर यह अारोप लगा चुकी थी। डील फाइनल करने के साथ वॉलमार्ट ने एक अंतरराष्ट्रीय लॉ फर्म को इस मामले की पड़ताल के लिए नियुक्त किया। इन्हीं आरोपों के चलते बिन्नी बंसल ने फ्लिपकार्ट ग्रुप के सीईओ के पद से इस्तीफा दे दिया।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट