बिज़नेस न्यूज़ » Industry » E-Commerceफ्लिपकार्ट, अमेजन पर भी मिलेंगे पतंजलि के प्रोडक्‍ट, ई-कॉमर्स कंपनियों से हुई डील

फ्लिपकार्ट, अमेजन पर भी मिलेंगे पतंजलि के प्रोडक्‍ट, ई-कॉमर्स कंपनियों से हुई डील

योग गुरु रामदेव की पतंजलि‍ आयुर्वेद ने ई-कॉमर्स कंपनि‍यों के साथ एग्रीमेंट कर ऑनलाइन मार्केट प्‍लेस में एंट्री की है।

1 of

नई दि‍ल्‍ली.   योग गुरु रामदेव की पतंजलि‍ आयुर्वेद ने ई-कॉमर्स कंपनि‍यों के साथ एग्रीमेंट कर ऑनलाइन मार्केट प्‍लेस में एंट्री कर ली है। पतंजलि‍ आयुर्वेद ने अपने स्‍वदेशी रेंज के एफएमसीजी प्रोडक्‍ट्स की ऑनलाइन सेल को बढ़ाने के मकसद से यह करार किया है। अब पतंजलि‍ के सभी प्रोडक्‍ट्स पेटीएम मॉल, बि‍ग बास्‍केट, फ्लि‍पकार्ट, ग्रोफर्स, अमेजन, नेटमेड्ड, 1 एमजी, शॉपक्‍लूज और दूसरी वेबसाइट्स पर भी मिलेंगे। कंपनी अभी तक अपने पोर्टल patanjaliayurved.net पर अपने प्रोडक्‍ट्स की ऑनलाइन सेल कर रही थी। इसके अलावा, उसके कुछ प्रोडक्‍ट दूसरे सेलर्स के जरिए भी ऑनलाइन मिल रहे थे।

 

 

रामदेव ने क्‍या कहा?

- बाबा रामदेव ने कहा कि ऑनलाइन सि‍स्‍टम का मकसद कस्‍टमर्स को पारंपरि‍क रि‍टेल मार्केट के अलावा दूसरे मार्केट प्‍लेस मुहैया कराना भी है।

-  उन्होंने कहा कि यह तय कि‍या जा रहा है कि‍ स्‍वदेशी आंदोलन जारी रहे। पतंजलि‍ के प्रोडक्‍ट्स बि‍जनेस पॉलिसी से समझौता कि‍ए प्रत्‍येक घर में पहुंचे।   

 

आचार्य बालकृष्णन ने क्‍या कहा? 
पतंजलि‍ आयुर्वेद के सीईओ और एमडी आचार्य बालकृष्‍णन ने कहा कि‍ नया सिस्टम उन लोगों के लि‍ए मददगार साबि‍त होगा जो आजकल शॉपिंग के लि‍ए ज्‍यादा से ज्‍यादा ऑनलाइन प्‍लेटफॉर्म का इस्‍तेमाल करते हैं।

 

नए सेगमेंट में भी उतर चुकी है पतंजलि
- हाल ही में पतंजलि ने कि‍ड्स और एडल्‍ट डायपर्स और सस्‍ते सेनि‍टरी नैपकि‍न सेगमेंट्स में एंट्री की है। बीते माह कंपनी ने सोलर इक्‍युपमेंट मैन्‍युफैक्‍चरिंग में उतरने का एलान किया है। 
- एफएमसीजी के अलावा कंपनी दूसरे सेक्‍टर्स जैसे एजुकेशन और हेल्‍थकेयर में भी है। 
- 2016-17 में पतंजलि का टर्नओवर 10,500 करोड़ रुपए के पार चला गया और इस फाइनेंशि‍यल ईयर में कंपनी का मकसद दोगुना ग्रोथ का है।

 

तेजी से बढ़ा रहा है आयुर्वेदिक हेल्थ प्रोडक्ट मार्केट
- नील्सन 2017 की रिपोर्ट के मुताबिक, आयुर्वेदिक हेल्थ प्रोडक्ट का मार्केट 2021 तक 1 अरब डॉलर का होगा। 
- रिपोर्ट के मुताबिक, कस्टमर अब नैचुरल और ऑर्गेनिक प्रोडक्ट का इस्तेमाल पर्सनल केयर में ज्यादा कर रहे हैं। ज्यादातर लोगों का फोकस केमिकल बेस्ड प्रोडक्ट की जगह हर्बल बेस्ड प्रोडक्ट की तरफ है।

 

मल्टी नेशनल के मार्केट में पतंजलि लगा रही सेंध
- बाबा रामदेव के पतंजलि के नूडल्स, बिस्किट, शैम्पू, टूथपेस्ट, शहद जैसे 350 से ज्यादा प्रोडक्ट हैं। 
- पतंजलि ने अपनी मार्केटिंग में आयुर्वेदिक और स्वदेशी पर ज्यादा फोकस किया है। 
- इससे उनके प्रोडक्ट और ब्रांड दोनों को फायदा हुआ है। पतंजलि देश की सबसे तेजी से ग्रोथ करने वाली एफएमसीजी कंपनी बन चुकी है। 2016-17 में 10,000 करोड़ रेवेन्यू वाली कंपनी बन गई है। 

 

दूसरी कंपनियों का भी आयुर्वेद पर फोकस
अर्न्स्ट एंड यंग के रिटेल और कन्ज्यूमर प्रोडक्ट के नेशनल लीडर और पार्टनर पिनाक रंजन मिश्रा के मुताबिक, पतंजलि मौजूदा एफएमसीजी सेक्टर के मार्केट में तेजी से हिस्सेदारी बढ़ा रही है। इससे एफएमसीजी सेक्टर में एचयूएल, आईटीसी, पीएंडजी और नेस्ले जैसी मार्केट लीडर कंपनियों के लिए एक नया चैलेंज खड़ा हो गया है। इसे देखते हुए कंपनियां अब आयुर्वेद पर फोकस कर रही हैं, जिससे अपने हिट ब्रांड को बचाया जा सके।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट