बिज़नेस न्यूज़ » Industry » E-Commerceस्‍नैपडील की टेक कंपनी यूनिकॉमर्स खरीदेगी इन्‍फीबीम, 120 करोड़ में हुई डील

स्‍नैपडील की टेक कंपनी यूनिकॉमर्स खरीदेगी इन्‍फीबीम, 120 करोड़ में हुई डील

स्‍पैनडील की सहायक कंपनी यूनिकॉमर्स को करीब 120 करोड़ रुपए में खरीदने का फैसला किया है।

1 of

नई दिल्‍ली. अहमदाबाद की कंपनी इन्‍फीबीम ने स्‍पैनडील की सहायक कंपनी यूनिकॉमर्स को करीब 120 करोड़ रुपए में खरीदने का फैसला किया है। यूनिकॉमर्स ई-कॉमर्स से जुड़े सॉफ्टवेयर ऑफर करती है। बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज (बीएसई) को दी जानकारी में इन्‍फीबीम ने बताया कि उसके बोर्ड ने यूनिकॉमर्स की पूरी हिस्‍सेदारी को उसके मौजूदा शेयरधारकों (जैस्‍पर इन्‍फोटेक, जो स्‍नैपडील को ऑपरेट करती है) से खरीदने को मंजूरी दे दी है। यह डील तीन से पांच महीने में पूरी हो सकती है। 

 

इन्‍फीबीम की ओर से जारी बयान के अनुसार, इस समझौते के तहत इन्‍फीबीम प्रिफरेंशियल आधार पर वैकल्पिक कन्‍वर्टिबल डिबेंचर जैस्‍पर इन्‍फोटेक को जारी करेगी, जिसकी वैल्‍यू 120 करोड़ रुपए तक होगी। हालांकि, इसके लिए शेयरधारकों की मंजूरी जरूरी होगी। इन्‍फीबीम में कैश डील की बजाय दूसरे तरीके से करने पर विचार करने के लिए कहा है। 

 

कस्‍टमर्स को देंगे और बेहतर सर्विस: इन्‍फीबीम  
इन्‍फीबीम के एमडी विशाल मेहता का कहना है कि यूनिकॉमर्स के जरिए हमारा प्‍लान ई-कॉमर्स आईटी क्षमता को मजबूत और अपने ग्राहकों को नए-नए प्रोडक्‍ट ऑफर करना है। इस डील से हमें एक व्‍यापक ई-कॉमर्स सॉल्‍यूशन तैयार करने में मदद मिलेगी। उन्‍होंने कहा कि यह डील कंपनी के तेजी से बढ़ते जेम (गर्वनमेंट ई-कॉमर्स) बिजनेस की ग्रोथ के लिए भी महत्‍वपूर्ण है। हम यूनिकॉमर्स की ग्रोथ के लिए पूरी तरह कमिटेड हैं और मौजूदा मैनेजमेंट टीम बिजनेस में आगे की निवेश योजना को पूरी तरह सपोर्ट रहेगा। 

 

कोर बिजनेस पर फोकस करेगी स्‍नैपडील 
स्‍पैनडील के चीफ स्‍ट्रैटजी और इन्‍वेस्‍टमेंट ऑफिसर जेसन कोठारी का कहना है कि यूनिकॉमर्स की बिक्री स्‍पैनडील 2.0 प्‍लान का हिस्‍सा है। इस प्‍लान का फोकस हमारे कोर कंज्‍यूमर ई-कॉमर्स बिजनेस पर है। यह सौदा तीन से पांच महीने में पूरा हो सकता है। 

 

फ्लिपकार्ट का 95 करोड़ डॉलर का ऑफर ठुकराया 
पिछले साल स्‍नैपडील ने फ्लिपकार्ट का करीब 95 करोड़ डॉलर का मिला टेकओवर ऑफर ठुकराया दिया है। स्‍नैपडील के फाउंडर कुणाल बहल और रोहित बंसल ने उस समय कहा था कि कंपनी भारतीय बाजार में नई रणनीति के साथ आगे बढ़ेगी। 

 

स्‍नैपडील 2.0 प्‍लान के तहत हुई यह बिक्री 
स्‍पैनडील 2.0 प्‍लान के तहत, उसने अपनी पेमेंट सर्विसेज यूनिट फ्रीचार्ज 385 करोड़ रुपए में एक्सिस बैंक को बेच दी। वहीं, लॉजिस्टिक कंपनी वालकैन एक्‍सप्रेस का अधिग्रहण को किशोर बियानी के फ्यूचर सप्‍लाई चेन सॉल्‍यूशन ने 35 करोड़ रुपए कैश में कर लिया। 

 

यूनिकॉमर्स की नेटवर्थ 24.63 करोड़ 
इन्‍फीबीम की ओर से जारी फाइलिंग के अनुसार, 31 मार्च 2018 तक यूनिकॉमर्स ई-सॉल्‍यूशंस की नेटवर्थ 24.63 करोड़ रुपए और टर्नओवर 20.27 करोड़ रुपए था। यूनिकॉमर्स की स्‍थापना 2012 में हुई। वह वेयरफाउस मैनेजमेंट और ओमनी-चैनल सर्विसेज के लिए ई-कॉमर्स के जरूरी सॉफ्टवेयर ऑफर करती है। इसके 10 हजार से ज्‍यादा सेलर्स, ब्रांड्स और ऑनलाइन रिटेलर्स हैं।  

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट