Home » Industry » E-CommerceA factory worker’s son builds 7 billion dollar startup in Indonesia

फैक्ट्री मजदूर के बेटे ने खड़ा कर दिया 497 अरब रुपए का कारोबार

व्यक्ति को कामयाबी उसकी अमीरी और गरीबी से नहीं मिलती

1 of

नई दिल्ली। किसी भी व्यक्ति को कामयाबी उसकी अमीरी और गरीबी को देखकर नहीं मिलती। काम करने और कुछ नया सीखने का जज्बा जिन लोगों में होता है उन्हें कामयाबी किसी ना किसी तरह मिल ही जाती है। इसी के चलते आज हम आपको एक ऐसे सफल बिजनेसमैन के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने एक मामूली फैक्ट्री मजदूर के बेटे होने के बावजूद इंडोनेशिया में सबसे बड़ी स्टार्टअप कंपनी खोल ली। इनका नाम विलियम तनुविजया है।

 

विलियम ने कड़ी मेहनत से अपनी कंपनी पीटी टोकोपीडिया को इंडोनेशिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी के रूप में स्थापित किया है। पीटी टोकोपीडिया इस समय इंडोनेशिया का सबसे बड़ा ऑनलाइन मार्केटप्लेस है। सॉफ्टबैंक समेत मौजूदा निवेशकों से  इसमें 1 अरब डॉलर का निवेश किया है जिससे यह देश की सबसे मूल्यवान स्टार्टअप कंपनी बन चुकी है। यह ई-कॉमर्स कंपनी इलैक्ट्रॉनिक्स, कपड़े और हेल्थ केयर के सामान बेचती है। साथ ही यह कंपनी ट्रेन टिकट खरीदने और मोबाइल फोन रिचार्ज करने के लिए वेबसाइट्स का संचालन भी करती है।

 

2025 तक 3,763 अरब रुपए तक कमा सकती है पीटी टोकोपीडिया
 एक अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के मुताबिक इस ई-कॉमर्स ऑपरेटर का कारोबार लगभग  497 अरब रुपए का है। एक रिसर्च फर्म के मुताबिक, इंडोनेशिया में स्टार्टअप कंपनी के लिहाज से यह सबसे अधिक कमाई करने वाली कंपनी बन चुकी है। पीटी टोकोपीडिया के संस्थापक 37 वर्षीय विलियम तनुविजया एक आम फैक्ट्री वर्कर के बेटे हैं जिन्होंने अपनी मेहनत से पीटी टोकोपीडिया को इंडोनेशिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी बना दिया। 

 

इस कंपनी के कारण इंडोनेशिया के लोग ऑनलाइन शापिंग करने के लिए प्रेरित हुए हैं। Google और टेमासेक होल्डिंग्स पीटीई की एक हालिया रिपोर्ट के मुताबिक, इंडोनेशिया की इंटरनेट अर्थव्यवस्था दक्षिणपूर्व एशिया में सबसे बड़ी और तेजी से बढ़ रही है, जिससे यह ई-कॉमर्स कंपनी 2025 तक 3,763 अरब रुपए तक कमा सकती है। 

 

आगे पढ़ें, 

टोकोपिडिया एक प्रमुख कंपनी के रूप में उभरा रही है
विलियम तनुविजाया ने इस कंपनी की शुरुआत 2009 में की थी। धीरे-धीरे यह कंपनी अपने प्रतिद्वंद्वियों कड़ी को टक्कर दे रही है। जहां एक और चीन की अलीबाबा ग्रुप होल्डिंग लिमिटेड दक्षिण एशियाई देशों में अपने बिजनेस को बढ़ा रही है वहीं  पीटी बुकालपैक.com सिंगापुर के सागर लिमिटेड के साथ मिलकर पड़ोसी देशों में अपने बिजनेस का विस्तार करने के लिए भारी निवेश कर रही है। बैन एंड कंपनी के एक जकार्ता स्थित साझेदार उस्मान अख्तर ने कहा, हालिया समय में टोकोपियाडिया एक प्रमुख कंपनी के रूप में उभरा रही है। कुछ प्रमुख निवेशक इसे भविष्य के एक बड़े बाजार में संभावित नेताओं में से एक के रूप में देखते हैं।  

आगे पढ़ें

फैक्ट्री वर्कर का बेटा होने के कारण लोगों ने किया रिजेक्ट
साल 2016 में दिए गए एक इंटरव्यू में विलियम तनुविजाया ने कहा कि एक समय था जब बहुत लोगों ने मुझे सिर्फ इसलिए रिजेक्ट कर दिया क्योंकि मैं एक फैक्ट्री वर्कर का बेटा हूं। ऐसे में सिर्फ एक व्यक्ति था जिसने मुझसे मेरे फ्यूचर के बारे में पूछा। और वह सॉफ्टबैंक के फाउंडर मसायोशी सोन थे। सॉफ्टबैंक  जापान की बड़ी टेलिकॉम और इंटरनेट कंपनियों में से एक है, जो ब्रॉडबैंड, फिक्स्ड लाइन टेलिकॉम, ई-कॉमर्स, वित्त, मीडिया और मार्केटिंग के क्षेत्र में अपनी सेवाएं दे रही है। मसायोशी सोन जापान के सर्वाधिक धनी व्यक्तियों में से एक हैं। फोर्ब्स की विश्व के सबसे अधिक ताकतवर लोगों की सूची में उनका 45वां रैंक है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट