विज्ञापन
Home » Industry » CompaniesMON INDU COMP with last flight from amritsar to delhi jet airways shuts down operations

5 मई, 1993 में भरी थी पहली उड़ान, 17 अप्रैल, 2019 को आखिरी उड़ान के साथ रुक गया जेट एयरवेज का सफर

दिल्ली के बंगाली मार्केट की बरसाती से निकलकर जेट एयरवेज की नींव रखी थी नरेश गोयल ने

1 of

नई दिल्ली.

जेट एयरवेज की उड़ान बंद हो गई है। कंपनी के विमान ने 17 अप्रैल 2019 को अमृतसर से मुंबई के लिए आखिरी उड़ान भरी। 26 वर्ष पहले 5 मई 1993 को जेट के Boeing 737 विमान ने मुंबई से अहमदाबाद के लिए पहली उड़ान भरी थी। अब जेट के सभी विमान ग्राउंड हो चुके हैं। देश की सबसे पुरानी निजी एयरलाइंस की स्थापना नरेश गोयल ने 1 अप्रैल, 1992 में की थी। 14 जनवरी, 1955 को एयरलाइंस को ऑपरेटर परमिट मिला। नरेश गोयल 1975 के आसपास पंजाब के शहर संगरूर से दिल्ली आए थे। यहां उन्होंने बंगाली मार्केट की एक कोठी की बरसाती में रहना शुरू किया। उन दिनों तक दिल्ली में बरसाती कल्चर था। कई मकान मालिक अपने घरों के तीसरे फ्लोर में एक कमरा बना देते थे। यहां से जेट ऐयरवेज के मालिक बनने तक का उनका सफर बेहद मुश्किलों से भरा रहा।

 

 

बंगाली मार्केट से शुरू हुआ सफर

कुछ उसी तरह की बरसाती में नरेश गोयल रहते थे। वहां पर रहते हुए उनकी मुलाकात बंगाली मार्केट की जान बंगाली स्वीट्स के मालिक लाला भीमसेन से होने लगी। वो नरेश गोयल से उसके काम-धंधे का हाल-चाल पूछने लगे। वे तब तक बंगाली मार्केट के करीब की रिफ्यूजी मार्किट में जाकर खाना खाते थे। बंगाली मार्केट में खाना खाने के पैसे जेब में नहीं होते थे। हालांकि लाला जी की पत्नी उन्हें घर में कभी-कभार बुलाकर खाना खिला दिया करती थी। लाला जी की पत्नी को पुराने बंगाली मार्केट वाले किसी देवी से कम नहीं मानते थे।

 

यह भी पढ़ें- 30% लुढ़का जेट एयरवेज का शेयर, 52 हफ्ते के निचले स्तर के करीब

शुरू किया एयरलाइंस के टिकट बेचने का काम

दिल्ली में कुछ दिनों तक इधर-उधर काम करने के बाद नरेश गोयल ने इराक और कुवैत एयरलाइंस की टिकटों को बेचने का काम चालू कर दिया। तब इराक एयरलाइंस का दफ्तर कस्तूरबा गांधी मार्ग में होता था। देखते-देखते नरेश गोयल का धंधा चमका। गोयल ने मोटा पैसा कमाना शुरू कर दिया। काम चला तो गोयल ने कृष्णा नगर में एक घर खरीद लिया पर बंगाली मार्केट की बरसाती नहीं छोड़ी।

 

ऐसे चमका बिजनेस

वायुदूत एयरलाइंस के पूर्व चेयरमेन हर्षवर्धन के मुताबिक, नरेश गोयल ने सबसे पहले चार्टर फ्लाइट के काम में हाथ आजमाया। उसमें उसे तगड़ी सफलता मिली। गोयल और उसका एक दोस्त अमृतसर से चार्टर फ्लाइट लंदन लेकर जाने लगे। इस काम में उसे तगड़ा लाभ हुआ। नरेश गोयल की एक खास बात ये रही कि वो दोस्त बनाने में माहिर थे। उसे ये पता चल गया था कि बिना दोस्त बनाए बिजनेस नहीं किया जा सकता।

 

 

यह भी पढ़ें- रातोंरात एक लाख लोग हो गए बेकार, इन्हें कहीं और नौकरी मिलने के भी आसार नहीं

 

FDI ने खोले सफलता के रास्ते

सरकार ने 90 के दशक में एविएशन सेक्टर में एफडीआई का रास्ता खोला। उसके फौरन बाद गोयल ने छोड़ दी दिल्ली और बंगाली मार्केट । फिर तो वो आसमान से बातें करने लगे। हालांकि उनका दिल्ली आना लगा रहता। वे मुंबई शिफ्ट हो गए। वे यहां सुबह आकर शाम को वापस मुंबई चले जाते। माया नगरी में नरेश गोयल ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। वो वहां पर भी दोस्त बनाने लगा। उसके दोस्तों में जेआरडी टाटा भी थे। गोयल की बॉलीवुड में भी खूब दोस्ती थी। इसलिए उन्होंने शाहरुख खान, जावेद अख्तर और यश चोपड़ा को इसका निदेशक बनवा दिया था। वे रोज ताज या ओबराय होटल में शाम को बैठते। कहते हैं कि 90 के दशक में मुंबई का एलिट इन दोनों होटलों में ही शाम को मिल बैठ करता था।

 

 

यह भी पढ़ें- ICICI बैंक का अप्रैल ऑफर, 1.2 करोड़ लोगों को चुटकी में 2 लाख का लोन

 

 

 

तेजी से गिर रहे जेट के शेयरों के दाम

वित्तीय संकट के कारण फिलहाल परिचालन बंद कर चुकी निजी विमान सेवा कंपनी जेट एयरवेज (Jet Airways) के शेयर गुरुवार को 30 फीसदी लुढ़क गए। अब जेट एयरवेज के शेयर अपने 52 हफ्ते के निचले स्तर के करीब 163 रुपए प्रति शेयर तक पहुंच गए हैं। एयरलाइन ने बुधवार शाम घोषणा की थी कि गुरुवार से उसकी सभी घरेलू तथा अंतरराष्ट्रीय उड़ानें रद्द रहेंगी। उसने कहा है कि परिचालन अस्थायी रूप से बंद किया जा रहा है। इसके लिए कंपनी ने नकदी की कमी का हवाला दिया है। इस घोषणा के बाद गुरुवार सुबह बाजार खुलते ही कंपनी के शेयर 24.15 अंक लुढ़ककर 217.70 अंक पर खुले। बुधवार को बाजार बंद होते समय यह 241.85 अंक पर रहा था। खबर लिखे जाते समय 12.10 बजे कंपनी का शेयर 27.04 फीसदी की गिरावट के साथ 176.45 रुपए पर कारोबार कर रहा है। 

 

 

यह भी पढ़ें- Jet अब जंतर-मंतर पर, 20 हजार कर्मचारियों को आसमान से ला दिया सड़क पर, कभी भी जा सकती है नौकरी

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन