Home » Industry » CompaniesUC Browser taken down from Google Play Store, over misleading promotions

गलत तरीके से प्रमोशन कर रहा था यूसी ब्राउजर, गूगल ने प्‍ले स्‍टाेर से हटाया

गूगल ने यूसी ब्राउज़र को गलत जानकारी देने के लि‍ए अपने प्ले स्टोर से हटा दिया है।

1 of
 
 
नई दि‍ल्‍ली. गूगल ने यूसी ब्राउज़र को गलत जानकारी देने के लि‍ए अपने प्ले स्टोर से हटा दिया है। बता दें कि‍, यूसी चीन की कंपनी अलीबाबा का ब्राउजर है, जि‍से दुनि‍याभर में 500 मिलियन से ज्यादा बार डाउनलोड कि‍या जा चुका है। इतना ही नहीं भारत में भी यूसी ब्राउज़र के 100 मिलियन (10 करोड़) से ज्यादा डाउनलोड हैं या इतने लोग इसका इस्‍तेमाल करते हैं। आंकड़ों के अनुसार यूसी ब्राउजर भारत का छठा सबसे ज्‍यादा डाउनलोड कि‍या जाने वाला ऐप है। 
 
यूसी ब्राउज़र मिनी अब भी है प्‍ले स्‍टोर पर 
 
प्ले स्टोर पर UC browser mini अब भी उपलब्ध है। हालांकि‍ अभी तक गूगल और यूसी दोनों की तरफ से इस मामले में कोई टिप्पणी नहीं की गई है। लेकि‍न मीडि‍या रि‍पोर्ट् स की मानें तो एक ईमेल लीक हुआ है, जि‍समें कहा गया है यूसी ब्राउज़र स्पैम लिंक्स और रीडायरेक्ट करने वाले गलत मैसेज के जरिए अपना प्रचार कर रहा था। ऐसे में गलत जानकारी देने वाले व्यवहार के चलते ऐप को 30 दिनों के लिए गूगल प्‍ले स्‍टोर से हटा लि‍या गया है और 30 दि‍न बाद इसे फि‍र से रीस्‍टोर कर लि‍या जाएगा। 
 
पहले भी लगे आरोप 
 
गौरतलब है कि अगस्त में भी भारतीय यूजर्स के मोबाइल डाटा को लीक करने के मामले में सरकार UC ब्राउजर की जांच के आदेश दिए थे। इस संबंध में IT मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा था कि यूसी ब्राउजर के खिलाफ ऐसी शिकायतें हैं कि यह भारतीय यूजर्स का मोबाइल डाटा चीन में रखे सर्वर को भेजता है। ऐसी भी शिकायतें मि‍लीं थीं कि‍ अगर यूजर इसे अनइंस्टाल कर देता है या ब्राउजिंग डाटा मिटा देता है तो भी यूजर के डिवाइस के DNS पर इसका कंट्रोल रहता है। यदि यूसी ब्राउजर पर लगे आरोपों की पुष्टि हो जाती है तो देश में इसको प्रतिबंधित किया जा सकता है। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट