Home »Industry »Companies» Troubled Toshiba Reports Unaudited Results After 2 Delays

बैंकरप्ट होने के कगार पर खड़ी तोशिबा ने जारी किए रिजल्‍ट, 9.2 अरब डॉलर का हुआ है लॉस

बैंकरप्ट होने के कगार पर खड़ी तोशिबा ने जारी किए रिजल्‍ट, 9.2 अरब डॉलर का हुआ है लॉस
टोक्‍यो।अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रही जापानी कंपनी तोशिबा ने मंगलवार को अपनी कमाई का ब्‍यौरा जारी किया है। बिना ऑडिट के जा‍री किए गए कंपनी के कमाई के आंकड़ों के मुताबिक पिछले वित्‍त वर्ष में उसे 9.2 अरब डॉलर रुपए का नुकसान उठाना पड़ा है। टीवी से लेकर कंप्‍यूटर चिप बनाने वाली तोशिबा की  यूएस न्‍यूक्लियर यूनिट वेस्टिंगहाउस इलेक्ट्रिक कंपनी ने बैंकरप्‍टसी के लिए फाइल किया है।
 
ऑडिट फर्म नहीं निकाल पाई कोई निष्‍कर्ष
टोक्‍यो स्थिति तोशिबा के ऑडिट किए बिना जारी किए गए रिजल्‍ट के मुताबिक  अप्रैल से दिसंबर, 2016 तक कंपनी को 4.8 अरब डॉलर का नुकसान हुआ है। फरवरी में कंपनी ने अपना नुकसान 3.5 अरब डॉलर से ज्‍यादा आंका था। कंपनी की ऑडिटर फर्म प्राइसवाटरहाउसकूपर्स आराटा ने कहा कि अपने रिव्‍यू में वह कमाई के आंकड़ों को लेकर किसी निष्‍कर्ष पर नहीं निकल पाई। इसकी वजह यूएस न्‍यूक्लियर कंस्‍ट्रन कंपनी सीबीएंडआई स्‍टोन एंड वेबस्‍टर के अधिग्रहण को लेकर फैली अनिश्चितता थी।
 
बुरे दौर से गुजर रही है तोशिबा
एक वक्‍त में जापान की सबसे प्रतिष्ठित कंपनी रह चुकी तोशिबा ने हाल के कुछ वर्षों में काफी नुकसान झेला है। कंपनी की स्थिति इतनी खराब हो गई है कि सर्वाइव करने के लिए कंपनी को अपने कई अच्‍छे बिजनेस बेचने पड़े हैं। कंपनी की स्थिति 2011 में फुकुशिमा में हुए न्‍यूक्लियर डिजास्‍टर के बाद और खराब हुई है। हादसे के बाद सुरक्षा चिंताओं और कड़े नियम-काननू के वजह से कंपनी को यहां काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ा।
 
ये वजहें बनी नुकसान का कारण
कुछ देशों में न्‍यूक्लियर पावर को लेकर चल रही बहस, ऑयल प्राइस की कीमतों में कमी आना और नैचुरल गैस का उपयोग बढ़ना कंपनी के लिए घातक साबित हुआ है। इससे कंपनी के न्‍यूक्लियर आधारित बिजनेस स्‍ट्रैटजी को झटका लगा है। इसी बीच, प्रॉफिट टारगेट्स पूरे करने के लिए अकाउंट बुक्‍स में गड़बड़ी किए जाने का मामला सामने आने के बाद कंपनी की साख को तगड़ा झटका लगा है।

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY