पहल /अब प्लास्टिक बोतलों से बनेंगे जिम और एक्टिव वियर, होंगे सस्ते और इको-फ्रेंडली

  • रिलायंस इंडस्ट्रीज ने ‘सस्टेनेबल क्लोदिंग’ की तरफ रखा कदम
  • इस्तेमाल किए हुए उत्पादों का स्टोर पर लौटा कर छूट पा सकेंगे ग्राहक

Moneybhaskar.com

Sep 11,2019 07:03:00 PM IST

नई दिल्ली. बड़े स्तर पर फैलते प्लास्टिक प्रदूषण को रोकने के लिए रिलायंस ने अलग तरह का कदम उठाया है। पीईटी बोतलों की प्रोसेसिंग करके कंपनी फाइबर में तब्दील कर रही है, जिससे जिम और एक्टिव वियर तैयार किया जा रहा है। इस पहल में कई डिजायनर्स भी रिलायंस के साथ जुड़े हैं। इंडियन परफॉर्मेंस वियर ब्रांड एल्किस स्पोर्ट्स और डिजाइनर नरेंद्र कुमार ने आर। एलानफाइबर (R. ElanFiber) का उपयोग करते हुए लेबल ‘एल्किस एक्स नारी’ के तहत सस्टेनेबल जिम और वर्कवियर का एक नई कलेक्शन लॉन्च करने के लिए हाथ मिलाया है।

हर साल दो अरब पीईटी बोतलों को रिसाइकिल करता है रिलायंस

आरआईएल के एक प्रमुख अधिकारी ने बताया दुनिया की सबसे बड़ी एकीकृत पॉलिएस्टर यार्न और फाइबर निर्माता रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) ने ‘सस्टेनेबल क्लॉदिंग’ को भी सस्ता और सुलभ बनाने के लिए एक बड़ा प्रयास किया है। आरआईएल के पेट्रोकेमिकल्स डिवीजन के मुख्य परिचालन अधिकारी विपुल शाह ने बताया कि कंपनी हर साल दो अरब पोस्ट-कंज्यूमर (प्रयुक्त) पीईटी बोतलों की प्रोसेसिंग कर रही है और इसे अगले दो साल में छह अरब तक बढ़ाने की योजना है। यह दुनिया की एकमात्र कंपनी है जिसने बोतलों को बनाने के लिए पीईटी रेसिन के निर्माण से पूरी तरह से एक प्रोसेस सिस्टम बनाया है, जो कि बोतलबंद पीईटी बोतलों को एकत्र करके उन्हें रिक्रॉन ग्रीन गोल्ड में परिवर्तित करता है और डाउनस्ट्रीम कपड़ा मूल्य श्रृंखला द्वारा उपयोग के लिए पर्यावरण के अनुकूल पॉलिएस्टर में परिवर्तित करता है।

कई फैशन हाउसेज को जोड़ रहा है साथ

आरआईएल पूरे कपड़ा उद्योग के साथ मिलकर काम कर रहा है। अपने हब एक्सीलेंस प्रोग्राम के माध्यम से यार्न, कपड़ा निर्माताओं, प्रमुख घरेलू और इंटरनेशनल ब्रांड्स, रिटेल विक्रेताओं और फैशन हाउसेज को शामिल कर रहा है। आरआईएल ने इस तरह के अग्रणी यार्न, टेक्सटाइल और अपैरल के साथ साझेदारी कर समान विचारधारा आधारित संबंध विकसित किया है। आरआईएल ने को-ब्रांडेड टेक्सटाइल और अपेरल्स बनाने की रणनीति अपनाई और यह पहले ही अन्य इंटरनेशनल ब्रांड्स में एरो, रैंगलर, रेमंड, ली जैसे ब्रांड्स के साथ पार्टनरशिप कर चुका है।

दुनिया के बड़े ब्रांड कर रहे हैं प्रोडक्ट्स में रिसाइकिल्ड सामग्री का इस्तेमाल

इटालियन ब्रांड प्राडा ने अपने प्रतिष्ठित नायलॉन बैग के लिए रीसाइक्लिड सामग्री को अपनाने का फैसला किया है, जबकि ब्रिटिश लेबल बरबेरी ने ग्रीन यार्न से बनी एक नई कलेक्शन को लॉन्च किया है। कई विकसित देशों में उपभोक्ता एथिकल या सस्टेनेबल फैशन को अपना रहे हैं, और इसके लिए प्रीमियम का भुगतान करने के लिए भी तैयार हैं। भारतीय खरीदार, हालांकि, अभी भी ऐसे उत्पादों के मूल्यों को लेकर काफी संवेदनशील हैं।

इस्तेमाल किए हुए उत्पादों का स्टोर पर लौटा कर छूट पा सकेंगे ग्राहक

आरआईएल और नरेंद्र कुमार भी उपभोक्ताओं द्वारा उपयोग किए जाने के बाद इन उत्पादों को रीसाइक्लि करने के तरीकों पर काम कर रहे हैं, ताकि वे लैंडफिल्स में ना दबाई जाएं। कुमार ने कहा कि ‘हमारे पास ऐसी प्रणाली होगी जहां ग्राहक इस्तेमाल किए गए उत्पादों को स्टोर पर लौटा सकते हैं और छूट पा सकते हैं। कपड़े फिर से रीसाइक्लिंग के लिए भेजे जा सकते हैं। ये पूरी वैल्यू चेन एक चक्र में पिरोई गई है।’ ग्लोबल ब्रांड स्विमवियर से लेकर विंटर वियर से लेकर बैकपैक तक सब कुछ रिसाइकल मैटीरियल के साथ कर रहे हैं। यदि संसाधन के रूप में इसके कचरे को देखें तो भारत जल्द ही इस दिशा में काफी आगे जा सकता है।

X
COMMENT

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.