विज्ञापन
Home » Industry » CompaniesPM to build foreign beauty products to save foreign exchange, today became the international brand

आश्चर्यजनक / विदेशी मुद्रा बचाने के लिए PM ने बनवाया Tata से देसी ब्यूटी प्रोडक्ट, आज बन गया इंटरनेशनल ब्रांड

महिलाएं विदेशी प्रोडक्ट पर करती थी करोड़ों डालर खर्च, नेहरू ने बनवाया Lakme

1 of

नई दिल्ली. आमतौर पर कंपनियां बाजार का अध्ययन कर ग्राहकों की जरूरत पर नए उत्पाद का निर्माण करती हैं लेकिन देश में एक ऐसा भी उदाहरण है जब लोगों की बजाए एक नेता के कहने पर नया प्रोडक्ट बना दिया गया। प्रोडक्ट भी ब्यूटी यानी सौंदर्य निखारने का। नेता ने यह प्रोडक्ट अपने लिए नहीं बल्कि भारतीय महिलाओं के लिए बनवाया था। नेता का मानना था कि महिलाएं सौंदर्य के लिए विदेशी उत्पाद का इस्तेमाल करती हैं। इससे बहुमूल्य विदेशी मुद्रा खर्च हो जाती है। लिहाजा, नेता ने टाटा समूह के तत्कालीन अध्यक्ष JRD Tata को बुलवाया और उनसे  ब्यूटी प्रोडक्ट बनाने की गुजारिश कर दी। यह नेता थे देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू। और जो प्रोडक्ट बना, वह था Lakme। आज लेक्मे इंटनेशनल ब्रांड है। 


सिमोनी टाटा बनी थी चेयरपर्सन  

 नेहरू ने व्‍यक्‍ति‍गत रूप से जेआरडी टाटा को भारत में एक ब्‍यूटी प्रोडक्‍ट की मैन्‍युफैक्‍चरिंग करने का नि‍वेदन कि‍या। साल 1952 में टाटा ऑयल मि‍ल (टोमको) ने 100 फीसदी सब्‍सि‍डयरी कंपनी लैक्मे लीवर की शुरुआत की। सि‍मोनी टाटा इस कंपनी की चेयरपर्सन बनी थीं। करीब 67 साल पहले शुरू हुए इस प्रोडक्‍ट ने वि‍देशी ब्रांड्स के बीच अपनी जगह बनाई और आज इसका मार्केट शेयर 17.7 फीसदी से ज्‍यादा हो गया है।

 

यह भी पढ़ें - नीलामी / ITC को मात देकर टाटा ने 33 साल के लिए फिर अपने नाम कर लिया 'ताज'

 

महज 200 करोड़ में टाटा ने बेच दिया लेक्मे 

1996 में टाटा ने लैक्मे लीवर की 100 फीसदी हि‍स्‍सेदारी एचएलएल को बेच दी। एचएएल को हिंदुस्‍तान यूनि‍लि‍वर लि‍मि‍टेड (एचयूएल) के नाम से जाना जाता है। यह सौदा महज 200 करोड़ रुपए में हुआ। इस वक्‍त एचयूएल के प्रोडक्‍ट पोर्टफोलि‍यो में सबसे ज्‍यादा प्रॉफि‍टेबल प्रोडक्‍ट लेक्मे ही है। साल 2018 के अंत तक करीब 97,100 करोड़ रुपए के इंडि‍यन ब्‍यूटी प्रोडक्‍ट मार्केट में लेक्मे का मार्केट शेयर 17.7 फीसदी से ज्‍यादा है।

 


यह भी पढ़ें - भारतीयों के पास डीमैट से ज्यादा ऑनलाइन Gold अकाउंट, आप भी खोल सकते हैं यह अकाउंट

 

पतंजली के बाद दूसरे स्थान पर 

ब्रांड ट्रस्‍ट रि‍पोर्ट 2012 में इंडि‍या के सबसे ज्‍यादा ट्रस्‍टेड ब्रांड्स में लेक्मे की रैंकिंग 104 थी। वर्ष 2013 में 71वें पायदान पर पहुंच गई और 2014 में 36वें स्‍थान हासिल किया। 2018 की ब्रांड ट्रस्‍ट रिपोर्ट में लेक्मे एफएमसीजी सुपर कैटेगरी में पतंजली के बाद दूसरे पायदान पर है। ब्रांड ट्रस्‍ट रिपोर्ट ट्रस्‍ट रि‍सर्च एडवाइजरी द्वारा तैयार की जाती है जो कि एक ब्रांड एनालि‍टि‍क्‍स कंपनी है। 

 

यह भी पढ़ें - नेताओं का निवेश फंडा : शाह उठाते हैं जोखिम, नमो और गांधी को बैंकों पर भरोसा

 

फैशन शो से लेकर सैलून तक चला रही है लेक्मे

 लेक्मे ने देश भर में ब्‍यूटी सैलून खोले हैं। आज एचयूएल के पास देश भर में 230 लैक्मे ब्‍यूटी सैलून हैं। इसमें से 56 सैलून कंपनी खुद चला रही है जबकि 174 लैक्मे सैलून की फ्रेंचाइजी है।  साल 2000 में लैक्मे ने फैशन इंडस्‍ट्री में कदम रखा। आज यह इसे लैक्मे फैशन वीक के नाम से जाना जाता है। 


यह भी पढ़ें - 10 बाइ 10 की छोटी सी दुकान में कभी शादी की पत्रिका छापता था यह शख्स, छापे में पता चली अकूत दौलत

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन