Home » Industry » CompaniesNilekanis pledge half of wealth for philanthropy

'गिविंग प्लेज' से जुड़ी नीलेकणी दंपति‍, आधी संपत्ति की दान

इंफोसिस के को-फाउंडर नंदन नीलेकणि और उनकी पत्नी रोहिणी नीलेकणि ने अपनी आधी संपत्ति दान दे दी है।

1 of
नई दि‍ल्‍ली. इंफोसिस के को-फाउंडर नंदन नीलेकणी और उनकी पत्नी रोहिणी नीलेकणी ने अपनी आधी संपत्ति दान दे दी है। बिल गेट्स और वॉरेन बफेट की पहल से शुरू हुए 'गिविंग प्लेज' पर दस्तखत करते हुए उन्‍होंने यह घोषणा की। इसके बाद द गिविंग प्लेज की वेबसाइट पर नीलेकणी के हस्ताक्षर वाला पत्र अपलोड किया गया है। 
 
क्‍या है 'गिविंग प्लेज' 
 
'गिविंग प्लेज' पर साइन करने वाले को अपनी जिंदगी के दौरान या वसीयत के जरिए कम से कम आधी संपत्ति परोपकार के काम के लिए दान करनी होती है। भारत में नीलेकणी दंपति‍ से पहले विप्रो के चेयरमैन अजीम प्रेमजी, बायोकॉन की किरण मजूमदार शॉ और शोभा डिवेलपर्स के प्रमोटर पी. एन. सी. मेनन इस पर दस्तखत कर चुके हैं। बता दें कि‍, 171 लोग गिविंग प्लेज पर दस्तखत कर चुके हैं। बफेट और गेट्स ने जब इसे शुरू कि‍या था तो उन्‍हें इसके इतने सफल होने की उम्‍मीद नहीं थी। दोनों ने  2010 में 40 ग्लोबल बिलिनि‍यर्स के साथ इसकी शुरुआत की थी। 
 
 
गीता के श्‍लोक से ली प्रेरणा 
 
हस्ताक्षर वाले पत्र में उन्‍होंने भागवद् गीता के श्लोक कर्मणेय वाधिका रस्ते मा फलेसू कदाचन भी लिखा है। इसकेे अलावा नीलेकणी ने अपने पत्र में लिखा है कि हमें फल की चिंता न करते हुए अपना काम करते जाना चाहिए। नीलेकणी के इस पत्र को बिल गेट्स ने अपने ट्विटर हैंडल पर ट्वीट किया है। वहीं, उन्‍‍‍‍‍‍होंनेे बिल गेट्स और मेलिंडा से कहा है कि हमें भगवद् गीता से प्रेरित एक नैतिक आकांक्षा का एहसास कराने और एक बेहतरीन अवसर प्रदान करने के लिए धन्यवाद। 
 
बिल गेट्स किया ट्वीट 
 
बिल गेट्स ने ट्वीट किया कि मैं खुश हूं कि‍ नंदन नीलेकणी और उनकी पत्‍नी परोपकार के लिए आगे आए हैं। मैं इसके लि‍ए उनका और उनकी पत्‍नी रोहिणी का स्वागत करता हूं। गिविंग प्लेज की शुरुआत बिल व मेलिंडा गेट्स और वारेन बफेट ने अगस्त ने 2010 में शुरुआत की थी। 
 
पत्‍नी की तारीफ की 
 
नीलेकणी ने लिखा है कि हमारे दो दशक का यह सफर इस वजह से पूरा हो गया क्‍योंकि‍ रोहिणी इसमें दिलोजान से शामिल हैं। नंदन नीलेकणी ने हाल ही में इन्फोसिस में वापसी की है। बता दें कि‍, नीलेकणी परिवार के पास 1.7 अरब डॉलर (110.5 अरब रुपये) की संपत्ति होने का अनुमान है। नीलेकणि ने एन. आर. नारायण मूर्ति और दूसरों के साथ मिलकर इन्फोसिस की स्थापना की थी। 
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट