विज्ञापन
Home » Industry » CompaniesIT companies have a job of rain, 7 times more employees in a year

Companies / आईटी कंपनियों ने की नौकरियों की बरसात, एक साल में रखे 7 गुना ज्यादा कर्मचारी

पिछले साल 64,805 कर्मचारियों को मिली नौकरियां

IT companies have a job of rain, 7 times more employees in a year
  • 20,000 इंजीनियरों की भर्ती करना चाहती है इन्फोसिस 

नई दिल्ली। भारत की शीर्ष बड़ी कंपनियों ने वित्त वर्ष 2019 में लोगों को सबसे ज्यादा नौकरियां दी हैं। इन तीनों ही कंपनियों ने इस वित्त वर्ष करीब 7 गुना नौकरियां दी है। इन तीनों ही कंपनियों ने प्रतिभावान लोगों की जमकर भर्तियां की हैं। टाटा कंसल्टैंसी सर्विसेस (TCS), इन्फोसिस और विप्रो ने वित्त वर्ष 2019 में 64,805 कर्मचारियों की नियुक्तियां कीं। इनकी तुलना में  वित्त वर्ष 2018 में 9,864 और वित्त वर्ष 2017 में 48,350 कर्मचारियों को रखा गया था। वित्त वर्ष 2019 में टीसीएस ने सर्वाधिक 29,287 नौकरियां जोड़ी, वहीं इन्फोसिस और विप्रो ने 24,016 और 11,502 नौकरियां निकाली। 

कंपनी नए लोगों की भर्ती दोगुनी करना चाहती है- विप्रो में अध्यक्ष 


पिछले कुछ सालों में लगातार सुस्ती के बाद यह तीनों कंपनियां दूसरी तिमाही में नए लोगों को नौकरियों पर रख रही हैं। विप्रो में अध्यक्ष एवं मुख्य मानव संसाधन (एचआर) अधिकारी सौरभ गोविल ने कहा कि उनकी कंपनी नए लोगों की भर्ती दोगुनी करना चाहती है। आईटी जानकारों का कहना है कि कंपनी करीब 20,000 लोगों की नियुक्तियां कर सकती हैं। उन्होंने यह भी कहा कि तकनीक के इस नए दौर में आईटी सेवा प्रदाता कंपनियों की बदलती जरूरतों को देखते हुए नए इंजीनियरों की मांग खासी बढ़ रही है। 

 20,000 इंजीनियरों की भर्ती करना चाहती है इन्फोसिस 


इन्फोसिस भी चालू वित्त वर्ष में इंजीनियरिंग कॉलेज से 20,000 इंजीनियरों की भर्ती करना चाहती है। इस बारे में कंपनी के मुख्य परिचालन अधिकारी यूबी प्रवीण राव का कहना था, 'पिछले  साल हमने 70,000 लोगों को रखा था और करीब 20,000 लोग इंजीनियरिंग कॉलेजों से उठाए थे। इस साल हम इंजीनियरिंग कॉलेजों 18,000 से 20,000 लोगों की भर्ती करना चाहते हैं।'  टाटा कंसल्टैंसी सर्विसेस (टीसीएस) ने कहा कि वह आईटी सेवाओं की मांग और संभावनाओं के आधार पर नियुक्तियां करेगी। पिछले वित्त वर्ष कंपनी ने करीब 20,000 लोगों को नौकरियों की पेशकश की थी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन