Home »Industry »Companies» IN Sebi Sahara Case Special SEBI Court Quashes Warrant Against Subrata Roy

सुब्रत राय के खिलाफ जारी नॉन बेलेबल वांरट कैंसिल, सहारा-सेबी केस की सुनवाई अब 18 मई को

सुब्रत राय के खिलाफ जारी नॉन बेलेबल वांरट कैंसिल, सहारा-सेबी केस की सुनवाई अब 18 मई को
नई दिल्‍ली. मुम्‍बई की स्‍पेशल सीबीआई कोर्ट ने सुब्रत राय सहारा के उपस्थित होने के बाद उनके खिलाफ जारी नॉन बेले‍बल वॉरंट कैंसिल कर दिया। कोर्ट ने इस मामले की अगली तारीख 18 मई तय की है, और कहा है कि उसी दिन सहारा सेबी विवाद मामले में आरोप तय होने को लेकर सुनवाई शुरू की जाएगी। हालांकि कोर्ट ने पिछली तारीख में उपस्थित न होने पाने को लेकर एक हलफनामा भी देने को कहा है।
 
क्‍या है सहारा-सेबी विवाद
 
सहारा की दो सहयोगी कंपनियों SCSCL और SHICL पर गलत तरीके से 18 हजार करोड़ रुपए एकत्र करने का आरोप है। सहारा की सहयोगी कंपनियों ने यह पैसा 30 लाख निवेशकों से जुटाने का दावा किया था। सेबी ने यह पैसा 15 फीसदी ब्‍याज के साथ लौटाने का आदेश दिया था। आरोप है कि सहारा की ग्रुप कंपनियों ने यह आदेश नहीं माना है। 
 
एक अन्‍य मामले में सुप्रीम कोर्ट भी जता चुका है नाराजगी
 
इससे पहले 17 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट ने लगभग 34  हजार करोड़ रुपए की कीमत वाली सहारा की अम्बे वैली को नीलाम करने का आदेश सुनाया है। साथ ही कोर्ट ने सहारा समूह के चीफ सुब्रत रॉय को इस मामले में 28 अप्रैल को होने वाली अगली सुनवाई के दौरान व्यक्तिगत तौर पर पेश होने के लिए भी कहा है। कोर्ट ने सहारा ग्रुप के इन्वेस्टर्स को लौटाने के लिए फंड डिपॉजिट करने में नाकाम रहने पर यह फैसला सुनाया है। जस्टिस दीपक मिश्रा, रंजन गोगोई और ए के सीकरी की बेंच ने सहारा ग्रुप के तय समय तक 5 हजार करोड़ रुपए जमा करने में नाकाम रहने पर कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा, ‘बस बहुत हो गया। आज हम कुछ नहीं सुन सकते और कल की कल देखेंगे।’

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY