विज्ञापन
Home » Industry » CompaniesDecide on TikTok by tomorrow, or ban ends SC to Madras HC

Technology / लगेगा बैन या फिर से बना पाएंगे TikTok वीडियो, सुप्रीम कोर्ट कल लेगा फैसला

मद्रास हाईकोर्ट ने 3 अप्रैल को TikTok ऐप पर इसलिए रोक लगा दी थी

Decide on TikTok by tomorrow, or ban ends SC to Madras HC
  • इस मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली बेंच कर रही है

नई दिल्ली। मद्रास हाईकोर्ट की तरफ से TikTok बैन मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को कहा कि वह आखिरी फैसला 24 अप्रैल को लेे। माना जा रहा है कि यदि  मद्रास हाईकोर्ट ने फैसला नहीं लिया तो इस मोबाइल ऐप पर लगा बैन का फैसला निरस्त हो सकता है। जिससे लोग फिर से इस ऐप को इस्तेमाल कर सकते  हैं। इस मामले पर सुनवाई चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षा वाली बेंच करेगी। इस बेंच में चीफ जस्टिस के अलावा जस्टिस दीपक गुप्ता और जस्टिस संजीव खन्ना भी होंगे।

मद्रास हाईकोर्ट ने 3 अप्रैल को TikTok ऐप पर इसलिए रोक लगा दी थी


मद्रास हाईकोर्ट ने 3 अप्रैल को TikTok ऐप पर इसलिए रोक लगा दी थी कि, क्योंकि उसका मानना था कि इससे बच्चों पर बुरा असर पड़ेगा। चीनी कंपनी ने हाईकोर्ट के फैसले का खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी। मद्रास हाईकोर्ट की ओर से चीनी वीडियो ऐप TikTok को देश में बैन करने की मांग का पालन करते हुए गूगल ने भारत में TikTok को ब्लॉक कर दिया है। इस ऐप को बीजिंग की Bytedance Technology Co ने तैयार किया है और यह भारत के ग्रामीण इलाकों में तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। इस ऐप में लोग छोटे वीडियो बनाकर उनमें स्पेशल इफेक्ट्स डाल सकते हैं और उन्हें शेयर कर सकते हैं। मामले से जुड़े हुए दो लोगों ने बताया है कि गूगल और एप्पल दोनों से ही सरकार ने अपने ऐप स्टोर से इस चीनी शॉर्ट वीडियो मोबाइल ऐप को हटाने की बात कही थी।

यह भी पढें- TikTok यूजर्स के लिए बुरी खबर, Google ने भारत में ब्लॉक किया ऐप

अश्लीलता को बढ़ावा देता है ऐप

मद्रास हाईकोर्ट ने इस ऐप के खिलाफ एक याचिका की सुनवाई के दौरान कहा कि TikTok का इस्तेमाल करने वाले बच्चों पर यौन शौषण का खतरा मंडराता है। इस ऐप का असंयमित कंटेट इसका एक खतरनाक पहलू है। इसमें बच्चों के अनजान लोगों के संपर्क में आने की संभावना है। कोर्ट ने कहा कि सरकार को इस ऐप को बैन करना चाहिए और इसके डाउनलोड पर रोक लगानी चाहिए। इसके साथ ही मीडिया को TikTok वीडियो को ब्रॉडकास्ट नहीं करना चाहिए।

यह भी पढ़ें- TikTok इस्तेमाल करने  वालों के लिए बुरी खबर, इन सभी लोगों का अकाउंट होगा डिलीट

1 साल में सबसे ज्यादा डाउललोडेड ऐप बन गया Tiktok

यह ऐप सबसे पहले सितंबर, 2016 में चीन में लॉन्च किया गया था। एक साल बाद इसे दुनियाभर में लॉन्च किया गया। तभी से इसे लोगों का जबरदस्त रिस्पॉन्स मिला है। 2018 में यह दुनिया के 150 देशों में 75 भाषाओं में मौजूद था। जुलाई, 2018 में इसे 50 लाख से अधिक मंथली यूजर्स इस्तेमाल कर रहे थे। भारत में इसे 24 लाख से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है। 2018 के शुरुआती छह महीनों में यह PUBG Mobile, Youtube, WhatsApp और Instagram को पछाड़ते हुए Apple के ऐप स्टोर पर दुनिया का सबसे ज्यादा डाउनलोड होने वाला ऐप बन गया। पफिलहाल यह दुनिया का तीसरा सबसे ज्यादा डाउनलोड होने वाला ऐप है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss