• Home
  • Industry
  • Companies
  • After the '996', Jack Ma gave the advice of '669' to the staff, strongly criticized by people on social media

VIRAL /'996' के बाद अब जैक मा ने दी कर्मचारियों को '669' की सलाह, सोशल मीडिया पर लोगों ने की कड़ी आलोचना

  • खुद से ज्यादा स्मार्ट लोगों को नौकरी देना पसंद करते हैं चीन के सबसे अमीर शख्स जैक मा

Money Bhaskar

May 15,2019 12:32:15 PM IST

नई दिल्ली। अलिबाबा के संस्थापक जैक मा अपनी नीतियों की वजह से चर्चा का विषय बने रहते हैं। हाल ही में जैक मा ने कर्मचारियों को 996 का कॉन्सेप्ट अपनाने की सलाह दी थी, जिसका मतलब यह है कि किसी भी कर्मचारी को सुबह 9 बजे से लेकर रात के 9 बजे तक हफ्ते में 6 दिन काम करना चाहिए। टेक इंडस्ट्री ने मा की इस फिलोस्फी की आलोचना की थी। लेकिन अब उन्होंने लोगों को पार्टनर के साथ शारीरिक संबंध बनाने को लेकर भी सलाह दे डाली है। उन्होनें लोगों को 669 का कॉन्सेप्ट अपनाने की सलाह दी है। इसका मतलब यह है कि लोगों को 6 दिन में 6 बार शारीरिक संबंध बनाना चाहिए।

सामूहिक विवाह के दौरान कर्मचारियों को दी सलाह


डेली मेल की एक रिपोर्ट के मुताबिक, चीन के सबसे अमीर आदमी ने अलीबाबा कर्मचारियों के सामूहिक विवाह के दौरान कर्मचारियों को यह सलाह दी। उन्होंने कहा, 'काम पर हम '996' की भावना पर जोर देते हैं। जीवन में हमें '669' का पालन करना चाहिए।'

कई लोगों ने मा के इस कॉन्सेप्ट की कड़ी आलोचना की है


54 साल के मा अपनी कंपनी के सामूहिक विवाह कार्यक्रम में बोल रहे थे जो हर साल 10 मई को 'अली डे' पर हांग्जो में कंपनी के मुख्यालय में होता है। मा के ऐसे बयान ने सोशल मीडिया पर तूफान पैदा कर दिया है। कई लोगों ने मा के इस कॉन्सेप्ट की कड़ी आलोचना की है। मा के कॉन्सेप्ट पर एक यूजर ने कमेंट किया कि 'पृथ्वी पर किसके पास 996 के अनुसार काम करने के बाद घर पर 669 करने की ऊर्जा होगी?'

दुनिया के टॉप 10 अमीरों की सूची में शुमार मा का मानना है कि वह खुद से ज्यादा स्मार्ट लोगों को अपनी कंपनी में नौकरी देना पसंद करते हैं। क्योंकि खुद से ज्यादा स्मार्ट लोगों को कंपनी में जगह देने पर ही कंपनी तरक्की करती है और कंपनी खुश रहती है।

इन बातों का रखते हैं ख्याल


ग्लोबल इकोनॉमिक फोरम पर अलीबाबा में नौकरी पाने की शर्तों के बारे में खुलासा करते हुए मा ने कहा कि अगर नौकरी पाने वाला उनसे ज्यादा बेवकूफ है तो इससे कंपनी का भला नहीं होगा। मा ने कहा कि नौकरी पाने वाले व्यक्ति को हर हाल में उनसे अधिक स्मार्ट होना होगा। उन्होंने खुलासा किया कि नौकरी देने के दौरान वह इस बात का पूरा ख्याल रखते हैं कि क्या नौकरी पाने वाला व्यक्ति अगले 4-5 साल में उनका बॉस बनने लायक है। मा नौकरी पाने वाले उस व्यक्ति के लिए काम करना पसंद करते हैं।

नौकरी देने के दौरान मा के लिए दूसरी महत्वपूर्ण चीज उस व्यक्ति का व्यक्तित्व है


नौकरी देने के दौरान मा के लिए दूसरी महत्वपूर्ण चीज उस व्यक्ति का व्यक्तित्व है। उनका कहना है कि नौकरी पाने वाले का व्यक्तित्व ऐसा होना चाहिए कि आप उसे पसंद करे। वह व्यक्ति सकारात्मक सोच का होना चाहिए। आसानी से हार मानने वाला नहीं होना चाहिए। मा ने बताया कि वह नौकरी देने के दौरान उस शख्स से यह नहीं पूछते है कि वह किस विश्वविद्यालय से पढ़ा है या कहां से उसने डिग्री ली है। यह बात उनके लिए मायने नहीं रखती है।

X
COMMENT

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.