Home » Industry » CompaniesWhy Apples Logo is Cut Off In Apple, And why did Steve Jobs like this names

एप्‍पल के लोगो में क्‍यों कटा हुआ है सेब, और स्‍टीव जॉब्‍स को क्‍यों भाया ये नाम

आपने कभी सोचा कि एप्‍पल के लोगो में सेब थोड़ा सा कटा हुआ क्यों होता है। यह पूरा सेब भी तो हो सकता था।

1 of
नई दि‍ल्‍ली. आजकल भारत में एप्‍पल के आईफोन का बड़ा क्रेज है। ऐसे में आपने एप्पल कंपनी का लोगो तो देखा ही होगा। लेकिन क्या आपने कभी सोचा कि एप्‍पल के लोगो में सेब थोड़ा सा कटा हुआ क्यों होता है। यह पूरा सेब भी तो हो सकता था। इसकी वजह क्‍या है यह बात आपके दि‍माग में भी अक्‍सर आती होगी, लेकि‍न आपको आज तक इसका जवाब नहीं मि‍ला तो आइए moneybhaskar.com बता रहा है कि‍ आखि‍र एप्‍पल के लोगो में सेब कटा हुआ क्‍यों है। 

पहली नजर में भाया लोगो 
 
स्‍टीव जॉब्‍स ने अपने दो साथि‍यों के साथ 1976 में एप्‍पल कंपनी की स्‍थापना की। लेकि‍न कंपनी का लोगो 1977 में रॉब जेनेफ ने तैयार कि‍या। इस लोगो को तैयार करके उन्‍होंने एप्पल के फाउंडर स्टीव जॉब्स को दिखाया। पहली नजर में ही जॉब्स को कटे हुए सेब का यह लोगो भा गया था।  आगे पढ़ें 
कहां से आया आइडि‍या 
 
कटे सेब के लोगो के बारे में कहा जाता है कि‍ ये लोगो कम्प्यूटर साइंस के जनक माने जाने वाले एलन टरि‍ंग की याद में बनाया गया है। बता दें कि‍, एलन टरि‍ंग की मौत 1954 में संदिग्ध परिस्थियों में हो गई थी और उनके शव के पास से एक चखा हुआ सेब मि‍‍‍‍ला था जोकि‍ जहरीला था। ऐसे में एप्‍पल के लोगो को इसका रूप दि‍या गया। आगे पढ़ें
क्‍याें रखा कंपनी का नाम एप्‍पल 
 
2009 में जेनेफ ने अपने एक इंटरव्‍यू में बताया था कि‍ स्टीव जॉब्स ने अपनी कंपनी का नाम एप्पल इसलिए रखा क्योंकि उत्तर कैलिफोर्निया में उनका सेब का एक बाग था और वहां उनका काफी समय बीता था। इसके साथ ही स्टीव सेब को एक मुकम्मल फल मानते थे। जब वो कंपनी बनाने जा रहे थे, तो कंपनी के नाम रखने के लि‍ए जो लि‍स्‍ट बनाई गई थी उसमें एप्‍पल का नाम सबसे ऊपर था। आगे पढ़ें
नहीं बदलती पहचान 
 
वहीं, जेनेफ ने यह भी बताया कि‍ चूंकि सेब एक ऐसा फल है, जिसके थोड़ा सा कटने के बाद भी पहचान नहीं बदलती। इसलिए एप्पल कंपनी के लिए इस तरह का लोगो तैयार किया गया। 
- जानकारी सीएनएन और 'फ्री लोगो' नामक ब्‍लॉग से ली गई है। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट