Advertisement
Home » इंडस्ट्री » कम्पनीजPower ministry may make 24 degree as default setting ACs

बि‍जली बचाने के लि‍ए सरकार AC की डिफाल्‍ट सेटिंग करेगी 24 डिग्री सेल्सियस, 6% तक कम हो सकता है बिजली बिल

तापमान बढ़ाने से साल में 20 अरब यूनिट बिजली की होगी बचत,साथ ही हेल्‍थ पर भी नकारात्मक असर कम होगा।

Power ministry may make 24 degree as default setting ACs

नई दि‍ल्‍ली. ऊर्जा मंत्री आर के सि‍ंह ने शुक्रवार को कहा कि‍ सरकार कुछ महीनों में AC के डि‍फॉल्‍ट तापमान को 24 डि‍ग्री पर सेट करने के आदेश दे सकती है। उन्‍‍‍‍‍‍‍‍होंने यह भी कहा कि‍ उनकी AC बनाने वाली कंपनि‍यों के साथ इस मामले में एक मीटि‍ंग भी हो चुकी है। इसमें AC कंपनि‍यों की ओर से भी सुझाव दि‍या गया है कि‍ AC के तापमान को डि‍फॉल्‍ट 24-26 डि‍ग्री पर सेट करने से बिजली का बि‍ल तो कम होगा ही साथ ही यूजर्स के हेल्‍थ पर भी नकारात्‍मक प्रभाव नहीं होगा। ऊर्जा  मंत्री के अनुसार एसी का एक डि‍ग्री तापमान बढ़ाने से करीब 6 फीसदी बि‍जली की बचत हो सकती है। 

 

होटल और ऑफि‍स में 18 से 21 डि‍ग्री सेल्सियस रहता है तापमान

 

उन्‍होंने आगे कहा कि‍ एक इंसान की बॉडी का सामान्य तापमान 36 से 37 डि‍ग्री के करीब होता है। लेकि‍न ज्‍यादातर होटल और ऑफि‍स में तापमान को 18 से 21 डि‍ग्री के बीच रखा जाता है। इसकी वजह से बिजली की खपत भी बढ़ती है, साथ ही स्‍वास्‍थ्‍य के लि‍ए भी अच्‍छा नहीं है। आर.के.सिंह ने यह भी कहा कि‍ होटल्‍स में तापमान  कम रखने की वजह से  लोगों को गर्म कपड़े पहनने पड़ते हैं और कंबल का प्रयोग करना पड़ता है। यह सि‍र्फ और  सि‍र्फ बि‍जली की बर्बादी है। 

Advertisement

 

जापान में 28 डि‍ग्री पर मेंटेन है तापमान


उन्‍होंने यह भी कहा कि‍ बहुत से देशों जैसे कि‍ जापान में तापमान 28 डि‍ग्री पर मेंटेन कि‍या गया है। इसे देखते हुए ऊर्जा दक्षता ब्यूरो (बीईई) ने एक अध्ययन किया और इसके बाद यह सि‍फरि‍श की गई है कि‍ एसी के तापमान को 24 डि‍ग्री सेल्‍सि‍यस पर डि‍फॉल्‍ट सेट कर दि‍या जाए। इससे बि‍जली की बड़े पैमाने पर बचत होगी। 

 

साल में बचेगी 20 अरब यूनि‍ट बि‍जली

 
ऊर्जा मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि‍ ऐसा करने से सि‍र्फ एक साल में 20 अरब यूनि‍ट बि‍जली की बचत हो सकेगी। वहीं, एक AC कंपनी की ओर से भी कहा गया है कि‍ यह एकदम सही निर्णय है, जो कि‍ सही दि‍शा में होगा। 

Advertisement


 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement
Don't Miss