विज्ञापन
Home » Industry » CompaniesPilots And Engineers At Jet Airways Joining Spicejet at 30-50% Price Cut

50% तक कम सैलरी पर Spicejet में नौकरी ले रहे हैं Jet Airways के इंजीनियर और पायलट

जेट एयरवेज की क्राइसिस का फायदा मिल रहा है दूसरी एविएशन कंपनियों को

Pilots And Engineers At Jet Airways Joining Spicejet at 30-50% Price Cut
  • जेट एयरवेज (Jet Airways) में चल रही क्राइसिस का खामियाजा इंजीनियर्स और पायलट्स को भुगतना पड़ रहा है।
  • Spicejet में जेट एयरवेज के पायलट्स और इंजीनियर्स को 30 से 50 फीसदी तक की कटौती पर नौकरी मिल रही है।
  • जेट के कर्मी उम्मीद कर रहे हैं कि कोई इन्वेस्टर जेट में पैसा लगा दे, जिससे उनकी सैलरी सुरक्षित रहे।

नई दिल्ली.

जेट एयरवेज (Jet Airways) में चल रही क्राइसिस का खामियाजा वहां पर काम करने वाले इंजीनियर्स और पायलट्स को भुगतना पड़ रहा है। वहीं, प्रतिद्वंदी एयरलाइन कंपनी Spicejet इस क्राइसिस को भुना रही है। इन दिनों जेट एयरवेज छोड़कर निकलने वाले पायलट्स और इंजीनियरों को स्पाइसजेट बेहद कम तनख्वाह पर रख रहा है। एजेंसी की खबरों के मुताबिक Spicejet में जेट एयरवेज के पायलट्स को उनके मौजूदा सैलरी पैकेज से 25-30 फीसदी और इंजीनियरों को 50 फीसदी तक की कटौती पर नौकरी मिल रही है। इससे कुछ समय पहले ही स्पाइस जेट इन्हीं पायलट्स और इंजीनियर्स को ज्वाइनिंग बोनस और बेहतर सुविधाएं ऑफर कर रही थी।

 

मजबूरी में करनी पड़ रही है कटौती

SpiceJet और Air India Express में नौकरी के लिए अप्लाई करने वाले Jet Airways के सीनियर एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस मैनेजर ने बताया कि, जेट में उनकी सीटीसी (कॉस्ट टू कंपनी) तकरीबन 4 लाख रुपए प्रतिमाह है, जबकि उन्हें 1.5 से 2 लाख रुपए प्रतिमाह तक के ऑफर मिल रहे हैं। उन्होंने बताया कि ऑफर बेहद कम है, इसलिए नौकरी का फैसला मजबूरी में ही लेना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि वे उम्मीद कर रहे हैं कि कोई इन्वेस्टर जेट में पैसा लगा दे, जिससे उनकी सैलरी सुरक्षित रहे।

 

मार्केट रेट से ज्यादा सैलरी देता है जेट

स्पाइसजेट के एक अधिकारी के मुताबिक वे अपने सैलरी स्ट्रक्चर के मुताबिक ही सैलरी ऑफर करते हैं। जेट एयरवेज ने हमेशा ही मार्केट रेट से अधिक सैलरी दी है। जेट के अलावा स्पाइसजेट और एयर इंडिया एक्सप्रेस ही Boeing विमान को संचालित करते हैं। जिन एयरलाइंस में एयरबस विमान (Airbus) ऑपरेट होते हैं, वहां पायलट्स और इंजीनियर्स को एयरबस चलाने में प्रशिक्षण देने में काफी पैसा खर्च होगा। इसलिए वे जेट एयरवेजसे तकनीकी स्टाफ को नौकरी देने के पक्ष में नहीं हैं। हालांकि एविएशन क्षेत्र के एक्सपर्ट्स के मुताबिक जैसे ही जेट अपने पैरों पर खड़ा होता है, वैसे ही परिस्थितयां सामान्य हो जाएंगी।

 

कल से उड़ान नहीं भरेंगे 1,100 पायलट्स

संकट से गुजर रही जेट एयरवेज की पायलट्स बॉडी National Aviator's Guild (NAG) ने तय किया है कि सैलरी न मिलने के विरोध में सोमवार सुबह 10 बजे से संस्था के 1,100 पायलट उड़ान नहीं भरेंगे। पायलट्स, इंजीनियर्स और सीनियर मैनेजमेंट को जनवरी से अब तक सैलरी नहीं मिली है। कई अन्य कैटेगरी के कर्मचारियों को भी मार्च की सैलरी अब तक नहीं मिली है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss