Home » Industry » Companiescyber criminals may trick you with tax fraud

इन तरीकों से साइबर क्रिमिनल्स आपके साथ करते हैं टैक्स फ्रॉड

कुछ आसान तरीकों से आप टैक्स फ्रॉड से बच सकते हैं।

1 of

नई दिल्ली। आज के समय में साइबर क्राइम आम हो गए हैं। साइबर क्राइम के खास हथियार कंप्यूटर और नेटवर्क हैं, इसकी मदद से हैकर्स किसी भी व्यक्ति का डाटा और उसकी पर्सनल जानकारियां निकाल सकते हैं। साइबर क्राइम कई तरह के होते हैं जैसे, स्पैम ईमेल, हैकिंग, फिशिंग, वायरस को डालना, किसी की जानकारी को ऑनलाइन प्राप्त करना या किसी पर हर वक़्त नजर रखना। साइबर क्राइम के चलते हैकर्स फोन, ईमेल के जरिए लोगों की पर्सनल जानकारियां निकाल रहे हैं। आज हम अपनी खबर के माध्यम से आपको जानकारी दे रहे हैं कि किस प्रकार कुछ आसान तरीकों से आप टैक्स फ्रॉड से  बच सकते हैं।  

 

फ़िशिंग ईमेल: सेंट्रल बैंक और सरकारी बैंक एजेंसियां कई सालों से लोगों को चेतावनी देते आ रहे हैं कि किस प्रकार हैकर्स लोगों के पर्सनल डाटा को लीक कर रहे हैं। लेकिन अब तक इस समस्या का समाधान नहीं निकल पाया है। कई बार ऐसी फ्रॉड मेल आती है जिसे देखकर आप सोचेंगे की RBI की तरफ से मेल आया है। और इसमें आपको अपने बैंक अकाउंट को अपडेट करने के लिए कहा जाता है। इसके जरिए हैकर्स इसी इंतजार में रहते हैं  कि जैसे ही आप अपनी पर्सनल जानकारी इसमें डालें वह उसे हैक कर लें।  

 

RBI की ओर से फोन: आपने कई बार सुना होगा कि लोगों के पास फोन आता है जिसमें सामने वाला व्यक्ति खुद को  RBI का कर्मचारी बताता है। ध्यान रहे यदि कभी भी आपके पास ऐसा कोई भी फोन आता है तो वह हैकर्स की तरफ से किया जाता है। सेंट्रल बैंक कभी भी लोगों को फोन नहीं करता। आजकल हैकर्स कुछ पर्सनल जानकारी निकालकर फोन करते हैं जिससे लोग इनके झांसे में आ जाते हैं।

 

टैक्स रिटर्न भरने  के बहाने फ्रॉड: साइबर अपराधी आपकी पर्सनल जानकारियों को डाटा लीक, फिशिंग ईमेल के जरिए आपके डाटा को हैक कर लेते हैं। अगर हैकर्स के पास आपका PAN नंबर या कोई और डाटा होता है तो वह आपके नाम से गलत इनकम टैक्स रिटर्न भी भरते हैं। 

 

आगे पढ़ें, 

टैक्स सलाहकारों का कॉल्स: कई बार लोगों को फ्रॉड टैक्स सलाहकारों का फोन आता है। जिसमें वह लोगों को डराते हैं कि उनका टैक्स रिटर्न में लॉस हुआ है। इससे बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि आपको यह पता होना चाहिए कि आपका टैक्स रिटर्न कौन तैयार कर रहा है। इसके साथ ही अपना टैक्स रिटर्न भरते समय भी सावधानी बरतें। 

 

हॉटस्पॉट और पब्लिक वाई-फाई के जरिए हैकिंग: अगर आप भी पब्लिक वाई-फाई का इस्तेमाल करते हैं तो कोई भी आपका डाटा हैक कर सकता है। ध्यान रहे कि कभी भी किसी कॉफी हाउस के वाई-फाई का इस्तेमाल कर अपना टैक्स ना भरें। और ना ही पब्लिक वाई-फाई से बैंक संबंधित कोई काम करें। अगर आपका ट्रैवल करते समय काम करना बहुत आवश्यक है तो हमेशा VPN का इस्तेमाल करें। 

 

आगे पढ़ें,

ईमेल के जरिए आकर्षक प्लान: कई बार आपके ईमेल बॉक्स में ऐसे मैसेज आते हैं जिसमें आपको आकर्षक इनाम और पैसे पाने के लिए क्लिक करने के लिए कहा जाता है। यदि आपके साथ भी ऐसा होता है तो क्लिक करने से पहले दो बार सोच लें। हो सकता है कि कंप्यूटर के अंदर बैठा हैकर आपका पर्सनल डाटा चुरा रहा हो।   

 

ईमेल के जरिए फेक टैक्स बिल: ऐसा कई बार होता है कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट टैक्सपेयर को ईमेल करते हैं। लेकिन कई बार यह हैकर्स की चाल भी हो सकती है। अगर आपको लगता है कि आपको बिल से ज्यादा टैक्स भरना पड़ रहा है तो यह कोई स्कैम भी हो सकता है। किसी भी बिल की पेमेंट करने से पहले आप अपने पास के किसी आईटी ऑफिस में जाएं और अपने बिल की जानकारी  प्राप्त करें। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट