Home » Industry » CompaniesMukesh Ambani Became Asia Richest Person, Topples Founder of Alibaba Jack Ma

मुकेश अंबानी बने एशिया के सबसे अमीर शख्‍स, जैक मा को पीछे छोड़ा

RIL चेयरमैन Mukesh Ambani की दौलत गुरूवार को 44.3 अरब डॉलर पहुंच गई है। वहीं जैक मा की दौलत 44 अरब डॉलर ऱही।

Mukesh Ambani Became Asia Richest Person, Topples Founder of Alibaba Jack Ma

नई दिल्ली. रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) के चेयरमैन मुकेश अंबानी एशिया के सबसे अमीर शख्स बन गए। शुक्रवार को कारोबार के दौरान उन्होंने अलीबाबा ग्रुप के फाउंडर जैक मा को पछाड़ दिया। मुकेश अंबानी की नेटवर्थ कारोबार के दौरान 44.3 अरब डॉलर पहुंच गई जबकि तब जैक मा की नेटवर्थ 44 अरब डॉलर थी। मुकेश अंबानी और जैक मा की दौलत में केवल 3 लाख डॉलर का गैप है। ऐसे में अगले कारोबारी दिन में रैंकिंग में बदलाव हो सकता है।

 

 

मुकेश बने एशिया के सबसे रईस आदमी

ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के मुताबिक, शुक्रवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर 1.6 फीसदी बढ़कर 1,099.8 रुपए पहुंच गए थे जिसके कारण उनकी नेटवर्थ 44.3 अरब डॉलर पहुंच गई। अलीबाबा ग्रुप के जैक मा की नेटवर्थ अमेरिका में गुरुवार को कारोबार के दौरान 44 अरब डॉलर पर बंद हुई। जैक मा की कंपनी यूएस में लिस्टेड है।

 

पेट्रोकेमिकल की कैपेसिटी बढ़ाने से बढ़ी नेटवर्थ

अंबानी की नेटवर्थ अपने पेट्रोकेमिकल कारोबार की कैपेसिटी डबल करने के कारण 4 अरब डॉलर बढ़ गई है। रिलायंस जियो इंफोकॉम की सफलता से इन्वेस्टर भी खुश हैं। महीने की शुरूआत में मुकेश अंबानी ने बताया था कि 21.5 करोड़ जियो यूजर्स हैं। अब वह अपना ई-कॉमर्स कारोबार में फैलाने पर काम कर रहे हैं। साल 2018 में अलीबाबा ग्रुप होल्डिंग लिमिटेड के जैक मा की नेटवर्थ में 1.4 अरब डॉलर खोया है।

 

1,100 शहरों में फाइबर बेस्ड ब्रॉडबैंड

मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज पेट्रोलियम, ऑयल और गैस, टेलिकॉम कारोबार में है। मुकेश अंबानी की कंपनी लगातार बेहतर कर रही है। अपनी सालाना शेयरहोल्डर्स की मीटिंग मे मुकेश अंबानी ने कहा कि वह हाइब्रिड, ऑनलाइन टू ऑफलाइन कॉमर्स प्लेटफॉर्म में ग्रोथ का मौका देख रहे हैं। मीटिंग में अंबानी ने बताया कि जियो ने 1,100शहरों में फाइबर बेस्ड ब्रॉडबैंड शुरू की है। ये वर्ल्ड में किसी भी जगह फिक्स्ड लाइन का बड़ा नेटवर्क है। सालाना मीटिंग में घोषणा के बाद रिलायंस 100 अरब डॉलर के क्लब में री-एंटर कर गई थी।

 

पिता से मिली विरासत

मुकेश अंबानी को रिलायंस अपने पिता धीरूभाई अंबानी से मिली है। साल 2002 में धीरूभाई अंबानी की मृत्यु के बाद उनका कारोबार उनके बेटों मुकेश और अनिल के हाथ में आ गया। हालांकि, साल 2005 में कंपनी दो हिस्सों में बंट गई।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट