बिज़नेस न्यूज़ » Industry » CompaniesUAIDI वि‍वाद: Google ने मांगी माफी, कहा- गलती से एंड्रॉयड फोन में डाला आधार हेल्‍पलाइन नंबर

UAIDI वि‍वाद: Google ने मांगी माफी, कहा- गलती से एंड्रॉयड फोन में डाला आधार हेल्‍पलाइन नंबर

लोगों के फोन में अपने आप दि‍खने लगा आधार नंबर...

Aadhaar number on phone, Google apologises

नई दि‍ल्‍ली। लोगों ने बि‍ना उनकी सहमति‍ के आधार हेल्‍पलाइन नंबर मोबाइल फोन में प्री-स्‍टोर करने पर आपत्‍ति‍ जताने के बाद Google ने अपनी गलती को स्‍वीकार कि‍या। Google ने जारी बयान में कहा कि‍ उन्‍होंने पुराने UIDAI हेल्‍पलाइन नंबर को 'गलती से' डाल दि‍या है और 112 हेल्‍पलाइन नंबर एंड्रॉयड फोन के 'सेटअप वि‍जार्ड' में लोड कर दि‍या। गूगल के स्‍पोक्‍सपर्सन ने कहा कि‍ हमारी आंतरिक समीक्षा में यह बात सामने आई है कि साल 2014 में UIDAI हेल्पलाइन और आपदा हेल्पलाइन नंबर 112 अनजाने में एंड्रॉयड के सेटअप विजर्ड में कोड कर दिया गया था और भारत के फोन निर्माता कंपनियों (OEMs) के लिए इसे जारी कर दिया गया था। 

 

नए फोन में ट्रांसफर हो गए नंबर्स

 

गूगल ने बयान में कहा कि‍ मोबाइल फोन यूजर्स के कॉन्टेक्ट लिस्ट में ये दोनों नंबर हैं। उन्‍होंने यह भी कहा, क्‍योंकि‍ यह नंबर्स यूजर्स के कॉम्‍टेक्‍ट लि‍स्‍ट में लिस्‍टेड थे, इसलि‍ए यह अपने आप कि‍सी भी नए डि‍वाइज में ट्रांसफर हो गए। मोबाइल बदलने के बावजूद गूगल से पुराने नंबर ट्रांसफर हो जाते हैं और इस तरह ये नंबर नए फोनों में भी आ जा रहे थे। 

 

अगली रि‍लीज में इसे फि‍क्‍स करेगी कंपनी 

 

कंपनी ने ने कहा कि‍ हम इसको लेकर लोगों की चिताएं समझते हैं लेकिन आश्वस्त करना चाहते हैं कि यह एड्रॉयड फोन के अनधिकृत एक्सेस का मामला नहीं है। बयान में यह भी कहा गया है कि कंपनी सेटअप विजर्ड की अगली रिलीज में इसे फिक्स करने की दिशा में काम करेगी और OEMs को अगले कुछ सप्ताह में यह उपलब्‍ध कराया जाएगा।  

 

भारत की कि‍सी अथॉरि‍टी का कोई लेना-देना नहीं

 

गूगल ने UIDAI विवाद पर अपनी गलती स्‍वीकार करते हुए यह भी कहा कि लोगों के फोन में जो नंबर सेव हो रखे हैं, उसमें भारत या भारत के किसी अथॉरिटी का कोई लेना देना नहीं है। यह एक सॉफ्टवेयर इश्यू की वजह से है।

 

UIDAI ने बताया सही नंबर

 

आधार जारी करने वाली संस्‍था यूआईडीएआई ने लोगों को सतर्क करते हुए कहा है कि टोल फ्री नंबर 1800-300-1947 उसका वैलिड नंबर नहीं है। यूआईडीएआई ने लोगों के लिए अपना टोल फ्री नंबर जारी करके बताया है कि संस्‍था की ओर से सिर्फ एक मात्र 1947 नंबर से आधार सदस्‍यों को कॉल की जाती है। बाकी किसी नंबर से यूआईडीएआई का किसी तरह का लेना देना नहीं है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट