Home » Industry » Companieschina tested unmanned transport drone successfully

भारत पर खुफिया नजर रखने के लिए चीन ने किया मानवरहित ड्रोन का सफल परीक्षण

ट्रांसपोर्ट ड्रोन फीहोंग-98 का विकास चाइना एकेडमी ऑफ एयरोस्पेस इलेक्ट्रोनिक्स टेक्नोलॉजी ने किया है।

china tested unmanned transport drone successfully

बीजिंग: चीन ने हाल ही में सफलतापूर्वक मानवरहित ट्रांसपोर्ट ड्रोन का परीक्षण किया। यह ड्रोन डेढ़ टन तक का भार उठा सकता है। बुधवार को चीन की सरकारी मीडिया ने इस बात की जानकारी दी। चीन के सरकारी समाचार पत्र चाइना डेली की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रांसपोर्ट ड्रोन फीहोंग-98 का विकास चाइना एकेडमी ऑफ एयरोस्पेस इलेक्ट्रोनिक्स टेक्नोलॉजी ने किया है। मंगलवार को इस ड्रोन का सफल परीक्षण किया गया था। डेली पाकिस्तान की एक रिपोर्ट के अनुसार, यह ड्रोन लगभग 1.5 टन भार उठा सकता है। चाइना डेली के मुताबिक, इस ड्रोन की टेस्टिंग उत्तर चीन के Baotou टेस्ट साइट पर की गई थी।

 

क्या है खासियत
यह ड्रोन 4500 मीटर तक की ऊंचाई पर उड़ान भर सकता है और इसकी गति 180 किलोमीटर प्रति घंटा है। इसकी उड़ान की अधिकतम सीमा 1200 किलोमीटर है। अत्याधुनिक तकनीक से लैस यह ड्रोन सामान्य रूप से उड़ान भर सकता है और इसकी लागत भी कम है। चीन मानवरहित विमानों के विकास में लगातार आगे बढ़ रहा है।  चीन अकेडमी ऑफ एयरोस्पेस इलेक्ट्रॉनिक्स टेक्नोलॉजी के अध्यक्ष लियू मेक्सुआन के अनुसार, एफएच -98 में एक सस्ती कीमत पर सरल टेक-ऑफ और लैंडिंग, सरल ऑपरेशन, उन्नत तकनीक है। चीन मानव रहित एरियल वाहनों के विकास में प्रगति कर रहा है। 9 अक्टूबर को, राज्य मीडिया ने बताया कि चीन अपने सभी ड्रोन पाकिस्तान को बेच देगा।

 

चीन ने इससे पहले भी हाइपरसॉनिक विमान के मॉडलों का सफल परीक्षण किया था। इन मॉडलों की खास बात यह था कि हथियार ढोने में सक्षम किसी भी विमान को रोकने के लिए इसकी स्पीड को जरूरत के मुताबिक घटाया और बढ़ाया जा सकेगा।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट