Home » Industry » Companiesmost powerful fighter jet made by Lockheed Martin

जिस लड़ाकू विमान पर इतराता है पाकिस्तान, अब भारत में बने पंखों से भरेगा उड़ान

F-16 लड़ाकू विमान को पाकिस्तानी एयरफोर्स की बड़ी ताकत माना जाता है

1 of

 

वाशिंगटन. लगभग तीन दशक से पाकिस्तान अपने जिस लड़ाकू विमान पर इतरा रहा है, अब उसे भारत में बने पंखों से उड़ान मिलेगी। दरअसल लड़ाकू विमान बनाने वाली दुनिया की अग्रणी कंपनियों में से एक Lockheed Martin ने मंगलवार को अपने एफ-16 लड़ाकू विमानों (F-16 fighter jets) के लिए भारत में पंख बनाने का ऐलान किया है। इसे पीएम नरेंद्र मोदी की ‘मेक इन इंडिया’ योजना के लिए बड़ी कामयाबी माना जा रहा है।

 

 

पाकिस्तानी एयरफोर्स की बड़ी ताकत हैं एफ-16 लड़ाकू विमान

दरअसल पाकिस्तान ने लगभग साढ़े तीन दशक पहले अमेरिका से लगभग 85 एफ-16 खरीदे थे, जिन्हें पाकिस्तानी एयरफोर्स की बड़ी ताकत माना जाता है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इनमें से लगभग 76 लड़ाकू विमान आज भी एक्टिव हैं। यह विमान आज भी दुनिया के सबसे ताकतवर टॉप 10 लड़ाकू विमानों की लिस्ट में शामिल है। पाकिस्तान ने बाद में भी कुछ एफ-16 विमान खरीदने की कोशिश की थी, लेकिन अमेरिका की सख्ती के कारण कोई डील नहीं हो सकी।

 

आगे भी पढ़ें 

 

 

लॉकहीड मार्टिन का टाटा से हुआ करार

लॉकहीड मार्टिन ने एफ-16 के पंखों को भारत में बनाने के लिए टाटा ग्रुप की डिफेंस कंपनी टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स लिमिटेड (TASL) के साथ समझौता किया है। कंपनी के अधिकारियों ने कहा कि एफ-16 के पंखों का भारत में प्रोडक्शन इस बात पर निर्भर नहीं है कि इंडियन एयरफोर्स एफ-16 खरीदती है या नहीं। लॉकहीड ने पहले ही भारत को F-16 का मैन्युफैक्चरिंग बेस को देश में शिफ्ट करने का ऑफर दे रखा है। भारत को अभी तक इस पर फैसला नहीं किया है।

 

आगे भी पढ़ें 

 

 

मेक इन इंडिया को मिलेगा सपोर्ट

लॉकहीड मार्टिन के अधिकारियों ने कहा कि भारत में एफ-16 के पंखों के निर्माण से कंपनी की टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स के साथ स्ट्रैटजिक पार्टनरशिप को मजबूती मिलेगी और सरकार की मेक इन इंडिया योजना को सपोर्ट मिलेगा। कंपनी के वाइस प्रेसिडेंट (स्ट्रैटजिक एंड बिजनेस डेवलपमेंट) विवेक लाल ने कहा, ‘एफ-16 के पंखों का भारत में निर्माण ऐसा कदम है, जिससे C-130J (Super Hercules airlifter) और S-92 (helicopter) के लिए टाटा के साथ उसकी पार्टनरशिप को मजबूती मिलेगी।’

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट