Home » Industry » CompaniesGoogle stopped the Pentagon drone project Pichai said AI is not for this

कर्मचारियों के विरोध पर गूगल ने पेंटागन के ड्रोन प्रोजेक्ट को रोका, पिचाई ने कहा AI इसके लिए नहीं

गूगल हथियारों और निगरानी करने वाले उपकरणों के लिए आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस (एआई) तकनीक विकसित नहीं करेगी।

Google stopped the Pentagon drone project Pichai said AI is not for this
 
वॉशिंगटन. गूगल हथियारों और निगरानी करने वाले उपकरणों के लिए आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस (एआई) तकनीक विकसित नहीं करेगी। गुरुवार को कंपनी के सीईओ सुंदर पिचाई ने यह बात अपने ब्लॉग में कही। दरअसल, गूगल अमेरिका रक्षा विभाग पेंटागन के साथ तस्वीरों के विश्लेषण से जुड़े एआई प्रोजेक्ट पर काम कर रही है। जिसके जरिए अमेरिका अपने ड्रोन्स की मारक क्षमता को बढ़ाना चाहता है। गूगल के कर्मचारियों ने इसके खिलाफ मुहिम चलाकर एक लेटर पर हस्ताक्षर किए थे। अब गूगल ने इस प्रोजेक्ट को रोकने का फैसला लिया है।
 
पेंटागन के साथ 2019 में खत्म होना था प्रोजेक्ट
न्यूज एजेंसी के मुताबिक, गूगल के करीब 4 हजार कर्मचारियों ने 'मेवेन प्रोजेक्ट' के खिलाफ लेटर पर हस्ताक्षर किए थे। इसमें कहा गया था कि हथियारों के निर्माण लिए आर्टीफीशियल इंटेलिजेंस प्रोजेक्ट कंपनी के सिद्धांतों के खिलाफ है। हमें युद्ध के कारोबार में नहीं उतरना चाहिए। इसके बाद सुंदर पिचाई ने कर्मचारियों में बढ़ती नाराजगी और उनकी भावनाओं का ध्यान रखते हुए एआई प्रोजेक्ट को रोकने का फैसला किया है। यह प्रोजेक्ट पेंटागन के साथ चल रहा है और 2019 में खत्म होगा।
 
 
गूगल मानवाधिकारों के खिलाफ काम नहीं करेगी
भारतीय मूल के सीईओ पिचाई ने ब्लॉग में लिखा- ''गूगल हथियारों या उन तकनीकों में एआई का प्रयोग नहीं करेगी। जो निगरानी के लिए जानकारी इकट्ठा करती हो या अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर स्वीकृत मानदंडों का उल्लंघन करती हो। या जिससे लोगों को किसी भी तरह की चोट पहुंचे। अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकारों के खिलाफ हो।''
''हम साफ करना चाहते हैं कि हथियारों के लिए एआई विकसित नहीं होने देंगे, पर सरकारों और सेनाओं के साथ कई क्षेत्रों में जुड़े रहेंगे। इनमें साइबर सिक्युरिटी, ट्रेनिंग, सैन्य भर्ती, बुजुर्गों के स्वास्थ्य की देखभाल, खोज और राहत-बचाव शामिल हैं। ऐसे मामलों में हमारा सहयोग अहम होता है। नागरिकों और सेनाओं की सुरक्षा के लिए सेवाओं को बढ़ाएंगे।''

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट