बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesविजय माल्‍या के खिलाफ एक और चार्जशीट दायर, ED की कार्रवाई

विजय माल्‍या के खिलाफ एक और चार्जशीट दायर, ED की कार्रवाई

ED ने भगोड़े आर्थिक अपराधी विजय माल्‍या के खिलाफ नई चार्ज शीट फाइल की है।

Another charge sheet filed against Vijay Mallya
 
मुंबर्इ. एन्फोर्समेंट डायरेक्टोरेट (ED) ने भगोड़े आर्थिक अपराधी विजय माल्‍या के खिलाफ नई चार्जशीट फाइल की है। इस चार्ज शीट में माल्‍या के अलावा उनसे जुड़ी दो कंपनियां और कुछ अन्‍य लोगों के खिलाफ नए सिरे से आरोप लगाए गए हैं। विजय माल्‍या पर भारतीय बैंकों से 6000 करोड़ रुपए से ज्‍यादा की धोखाधड़ी का आरोप है। 
ED ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉड्रिंग एक्‍ट (PMLA) के तहत स्‍पेशल कोर्ट के समक्ष यह चार्जशीट दायर की है। आमतौर पर इसे प्रॉसिक्यूशन कंप्‍लेंट कहा जाता है। इसमें विजय माल्‍या की किंगफिशर एयरलाइंस, यूनाइटेड ब्रेवरीज होल्डिंग लिमिटेड सहित अन्‍य लोगों के नाम हैं। 
 
 
पिछले साल हुई थी पहली चार्ज शीट फाइल
ED ने पिछले साल विजय माल्‍या के खिलाफ पहली चार्ज शीट फाइल की थी। इसमें IDBI बैंक से किंगफिशन एयरलाइंस के लिए 900 करोड़ रुपए के लोन में फ्रॉड का आरोप है। इस मामले में विजय माल्‍या की अभी तक करीब 9,890 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी जब्‍त हो चुकी है। 
 
 
SBI से जुड़े मामलों पर है दूसरी चार्ज शीट
दूसरी चार्ज शीट में SBI से जुड़े मामले में हैं। SBI और कुछ अन्‍य बैंकों ने विजय माल्‍या को 6027 करोड़ रुपए का लोन दिया था, लेकिन इसे वापस नहीं किया गया। यह लोन 2005 से 2010 के बीच दिया गया था। ED ने CBI की इस मामले में दर्ज FIR पर जांच की थी। 
 
 
फंड की हेराफेरी में शेल कंपनियों का इस्‍तेमाल 
ईडी के अधिकारी के अनुसार, जांच में यह पाया गया कि फंड की हेराफेरी करने में शेल या डमी कंपनियों का इस्‍तेमाल किया गया। जांच एजेंसी की अगली चार्जशीट में इसकी जानकारी सामने आने की उम्‍मीद है। ईडी को केंद्र सरकार की ओर से नया भगोड़ा अध्‍यादेश लाए जाने से अधिक पावर मिली है। जिसके तहत वह माल्‍या को चार्जशीट के आधार पर एक भगोड़े के श्रेणी में करने की आधिकारिक घोषणा का रास्‍ता तलाशेगी। 
 
 
ब्रिटिश कोर्ट से लगा है झटका 
ब्रिटेन की एक अदालत ने हाल ही में विजय माल्या को इंडियन बैंकों के पैसे वापस लौटाने के आदेश दिए है। जो कि 2 लाख पाउंड यानी करीब 1.80 करोड़ रुपए है। ब्रिटेन कोर्ट के जज एंड्रयू हेनशॉ ने पिछले महीने माल्या की प्रॉपर्टी को कुर्क करने के एक विश्वव्यापी आदेश को पलटने से इनकार कर दिया था। उन्होंने भारतीय बैंकों के समूह का माल्या से करीब 1.145 अरब पौंड की वसूली को सही ठहराया था। कोर्ट ने आदेश दिया है कि विजय माल्या उसके खिलाफ लड़ाई लड़ रहे बैंकों को पैसा लौटाएं। किसी एक रकम पर दोनों पक्ष सहमत हों। या फिर कोर्ट बैंकों की ओर से कानूनी प्रोसेस में खर्च की गए पैसों का आंकलन करे। अगर कोर्ट पैसों का आकलन करता है तो उसकी अपनी एक अलग प्रोसेस है, जो कि अदालती सुनवाई के साथ पूरी होगी। लेकिन इस बीच भी माल्या को कानूनी खर्च के तौर पर करीब 2 लाख पाउंड का भुगतान तो करना ही होगा।
 
 
 
माल्या के खिलाफ 13 बैंक लड़ रहे कानूनी लड़ाई
माल्या के खिलाफ स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ बड़ोदा, IDBI बैंक, कॉर्पोरेशन बैंक, फेडरल बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, जम्मू-कश्मीर बैंक, पंजाब एंड सिंध बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, यूको बैंक, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और जेएम फिनांशल एसेट रिकंस्ट्रक्शन शामिल हैं।

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट