Home » Industry » CompaniesNasofilter to protect from air pollution

सिर्फ 10 रुपए में खतरनाक पॉल्यूशन से बचाएगा यह फिल्टर

प्रदूषित हवा में सांस लेने में मदद करता है नासोफिल्टर

Nasofilter to protect from air pollution

नई दिल्ली। दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर बनी हुई है। दिवाली के बाद से यह और भी खतरनाक हो गया है। इसके लिए दिवाली में जलाए गए पटाखों और पड़ोसी राज्यों में जलाई जाने वाली पराली को जिम्मेदार माना जा रहा है। अगर एयर क्वालिटी इंडेक्स की बात की जाए तो 0 से 50 के बीच की हवा के स्तर को अच्छा माना जाता है। लेकिन दिवाली के बाद यह इंडेक्स 390 पर पहुंच गया जिसका मतलब दिल्ली-एनसीआर की हवा बहुत ज्यादा प्रदूषित हो चुकी है। लेकिन उत्तरी दिल्ली के रोहिणी में रहने वाली लावांशी जैन, जो कि अस्थमा की मरीज हैं उन्हें इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।

 

प्रदूषित हवा में सांस लेने में मदद करता है नासोफिल्टर


प्रदूषित हवा से बचने के लिए लावांशी के पास एक ऐसी चीज है जो कि उसे इस प्रदूषित हवा में भी सांस लेने में मदद करती है। रोजना घर से बाहर निकलते समय लावांशी अपनी नाक में पतला सा फिल्टर लगाती है। लावांशी का कहना है कि इससे मुझे सांस लेने में कोई दिक्कत नहीं होती और इससे मुझे अस्थमा के अटैक भी कम आते हैं। जैन द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले इस प्रोडक्ट का नाम नासोफिल्टर है। इसे नैनोक्लीन ग्लोबल नाम की दिल्ली में स्थित एक स्टार्टअप कंपनी ने  बनाया है। कंपनी ने इस प्रोडक्ट को IIT दिल्ली के शोधकर्ताओं के साथ मिलकर बनाया है। इस फित्टर को स्पेशल सेल्यूलोज के फाइबर से बनाया गया है। इस फिल्टर को एक दिन में केवल एक बार ही इस्तेमाल किया जा सकता है। नैनोक्लीन ग्लोबल के सीओओ जतिन केवलानी के कहा कि एक फिल्टर की कीमत 10 रुपए है। इसे 10 से 12 घंटे तक इस्तेमाल किया जा सकता है। 

 

स्टार्टअप कंपनियां बना रही हैं एंटी-प्रदूषण प्रोडक्ट और फेस मास्क


बढ़ते वायु प्रदूषण के चलते बाजार में ऐसी बहुत सी छोटी इंडस्ट्री खुल गई है जो कि एंटी-प्रदूषण प्रोडक्ट और फेस मास्क बना रही हैं। इसी के साथ यह कंपनियां चारकोल की मदद से घर के अंदर की वायु प्रदूषण को भी रोकने के लिए प्रोडक्ट बना रही हैं। बेंगलुरू स्थित एक स्टार्टअप कंपनी एक ऐसा जिवाइस बनाया है जो कि रेडियो फ्रीक्वेंसी वेवकी जरिए घर के अंदर का सारा प्रदूषण खत्म कर देगी। इसके लिए आपको 1.5 लाख रुपए तक खर्च करना पड़ेगा। जबकि अगर आप वायु-प्रदूषण के बचने के लिए स्किन-केयर प्रोडक्ट इस्तेमाल करना चाहते हैं तो वह आपको मार्केट में 500 से 3500 रुपए के बीच में मिल जाएंगे। 

 

यह भी पढ़ें, स्मॉग ने बढ़ाई इन कंपनियों की सेल, एयर प्योरिफायर, मास्क की सेल 15 फीसदी बढ़ी

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss