बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesजेफ बेजोस को 2 तरफ से घेरने की तैयारी, बिल गेट्स की माइक्रोसॉफ्ट ने मिलाया वॉलमार्ट से हाथ

जेफ बेजोस को 2 तरफ से घेरने की तैयारी, बिल गेट्स की माइक्रोसॉफ्ट ने मिलाया वॉलमार्ट से हाथ

माइक्रोसॉफ्ट ने वॉलमार्ट के साथ हाथ मिलाया है। यह साझेदारी अमेजन को क्‍लाउड और ई-कॉमर्स दोनों बिजनेस में टक्‍कर देगी...

1 of

 

नई दिल्‍ली। दुनिया के सबसे अमीर शख्‍स जेफ बेजोस की कंपनी अमेजन को टक्‍कर देने के लिए बिल गेट्स की कंपनी माइक्रोसॉफ्ट और वॉलमार्ट एक साथ आ गई हैं। माना जा रहा है कि रिटेल और क्‍लाउड सर्विस में अमेजन को एक साथ टक्‍कर देने के लिए दुनिया की इन 2 दिग्‍गज कंपनियों के बीच पार्टनरशिप हुई है। इस पार्टनरशिप के तहत माइक्रोसॉफ्ट और वॉलमार्ट ने 5 साल का करार किया है। माइक्रोसॉफ्ट वॉलमार्ट को क्‍लाउड के साथ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस तथा मशीन  लर्निंग की सर्विस प्रोवाइड कराएगी। वॉलमार्ट को माइक्रासॉफ्ट का डाटा प्‍लेटफॉर्म भी यूज करने की इजाजत होगी। इन फैसलों से जेफ बेजोस को टक्कर देने के लिए बिलगेट्स ने जेफ बेजोस को दो तरफ से घेर लिया है। बिल गेट्स सीधे बेजोस को क्‍लाउड और ई-कॉमर्स दोनों बिजनेस में टक्‍कर देगी

 

जेफ बेजोस को मिलकर घेरने की तैयारी 

वॉलमार्ट इस समय अमेजन की सबसे बड़ी रीटेल कॉम्पिटीटर है। माइक्रोसॉफ्ट क्‍लाउड सर्विस में अमेजन की सबसे बड़ी कॉम्पिटीटर है। माना जा रहा है कि यह साझेदारी एक साथ अमेजन को टक्‍कर देने के लिए बनाई गई है। पर क्‍या वास्‍तव में ऐसा हो रहा है। आखिर इस समझौते के पीछे की रणनीति क्‍या है। कैसे अमेजन एक साथ दोनों कंपनियों को टक्‍कर दे रही थी। आइए जानते हैं परदे के पीछे की पूरी कहानी...  

 

रिटेल बिजनेस में वॉलमार्ट के लिए चैलेंज बनी अमेजन 

 

वॉलमार्ट रिटेल के मामले में दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है। हालांकि डिजिटल प्‍लेटफॉर्म पर अमेजन ने जिस तरह टक्‍कर दी है, उससे वॉलमार्ट को अपनी हिस्‍सेदारी खोने का खतरा लगने लगा है। प्राफिट और रेवेन्‍यू के मामले में भले ही वॉलमार्ट अभी अमेजन से आगे हो, लेकिन रीटेल सेल के मामले में अमेजन ने 2015 में वॉलमार्ट को पीछे छोड़ दिया था। इसी के चलते वॉलमार्ट भी डिजिटल प्‍लेटफॉर्म पर आने के लिए मजबूर हुई है। इसके लिए उसने हाल में भारत में फ्लिपकार्ट का अधिग्रहण किया है। अब उसने टेक्निकल एडवांसमेंट के लिए माइक्रोसॉफ्ट के साथ हाथ मिलाया है। कंपनी की योजना इसके जरिए डिजिटल प्‍लेटफॉर्म पर अपनी जोरदार उपस्थिति दर्ज कराना है। 

 

आगे पढ़ें- क्‍लाउड बिजनेस में माइक्रोसॉफ्ट की बिगेस्‍ट कॉम्‍पीटीटर है अमेजन 

 

 

 

यह भी पढ़ेें-  गूगल की तरह Microsoft भी देती है कमाई का मौका, वेबसाइट-ब्‍लॉग है तो ऐसे करें अप्‍लाई

 

यही भी पढ़ें- बिल गेट्स इन 5 लोगों को मानते हैं अपना हीरो, लिस्ट में एक भारतीय भी

 

क्‍लाउड बिजनेस में माइक्रोसॉफ्ट की बिगेस्‍ट कॉम्‍पीटीटर है अमेजन 

अमेरिकी मीडिया रिपोर्ट के मुता‍बिक, अमेजन मौजूदा समय में सबसे बड़ा क्‍लाउड कम्‍पयूटिंग प्‍लेटफॉर्म है। दुनिया के क्‍लाउड मार्केट में अमेजन वेब सर्विस (AWS) की हिस्‍सेदारी 30 फीसदी से ज्‍यादा है। हाल के दौर में माइक्रोसॉफ्ट ने तेजी के साथ कदम पसारे हैं। कंपनी के क्‍लाउड प्रोडक्‍ट आजुर के रेवेन्‍यू में पिछले क्‍वार्टर में 93 फीसदी की ग्रोथ देखी गई है। इसके चलते उसका मार्केट शेयर तेजी के साथ बढ़ा है और वह मार्केट की दूसरी सबसे बड़ी प्‍लेयर बनकर उभरी है।  हालांकि वह अब भी अमेजन से पीछे है। कंपनी पहले ही साफ कर चुकी है कि वह क्‍लाउड बिजनेस में खुद को बड़े प्‍लेयर के रूप में देखती है। 

 

यह भी पढ़ें- गूगल का एक कदम उसी पर पड़ा भारी, माइक्रोसॉफ्ट को हो सकता है फायदा

 

इस पार्टनरशिप से कैसे होगा वॉलमार्ट को फायदा 

वॉलमार्ट री-टेल सेल में अपने सबसे बड़े कॉम्पिटीटर को चैलेंज दे रही है। उसे क्‍लाउड समेत अन्‍य तकनीकी सपोर्ट के लिए ऐसा पार्टनर चाहिए, जो अमेजन से जुड़ा नहीं हो। ऐसे में उसे माइक्रोसॉफ्ट एक रिलाइबल पार्टनर लगा। मौजूदा समय में ई-कॉमस में जिन तकनीकों का यूज अमेजन कर रही है, उसे टक्‍कर देने के लिए माइक्रोसॉफ्ट जैसे टेक्निकल और अनुभवी प्‍लेयर के बिना वॉलमार्ट अकेले अंजाम नहीं दे सकती है।   

 

आगे पढ़ें- पार्टनरिशप से कैसे होगा माइक्रोसॉफ्ट को फायदा

 

 

पार्टनरिशप से कैसे होगा माइक्रोसॉफ्ट को फायदा
माइक्रोसॉफ्ट क्‍लाउड कंप्‍यूटिंग में अमेजन को टक्‍कर दे रही है। वह अपने आजुर प्रोजेक्‍ट को जिस तरह बढ़ाना चाहती है, उससे वॉलमार्ट का क्‍लाउंड एग्रीमेंट निश्चित तरीके से एक बूस्‍टर साबित होगा। ई-कॉमर्स में टक्‍कर देने के लिए जिस लेबल का इंफ्रा चाहिए, वैसा इंफ्रा फिलहाल गूगल, अमेजन और माइक्रोसॉफ्ट के पास ही है। ऐसे में वॉलमार्ट का क्‍लाउड ऑर्डर कंपनी के लिए बूस्‍टर का काम करेगा। साथ ही उसे वॉलमार्ट से ई-कॉमर्स से जुड़ी अन्‍य तकनीकों का ऑर्डर भी मिल सकता है।   

 

आगे पढ़ें- वॉलमार्ट को अमेजन गो जैसी टेक्‍नोलॉजी बेच सकती है माइक्रोसॉफ्ट 

 

 

वॉलमार्ट को अमेजन गो जैसी टेक्‍नोलॉजी बेच सकती है माइक्रोसॉफ्ट 


माइक्रोसॉफ्ट 'अमेजन गो' टेक्‍नोलॉजी को भी चुनौती देने की तैयारी में है। यह टेक्‍नोलॉजी किसी भी स्‍टोर को कैशियर फ्री बना देती है। माइक्रोसॉफ्ट यह  टेक्‍नोलॉजी मुहैया कराने के लिए वॉलमार्ट के साथ बातचीत कर रही है। कंपनी ने इसके लिए अमेजन में काम करने वाले कंप्‍यूटर विजन स्‍पेशियलिस्‍ट को भी हायर किया है। फिलहाल अमेजन की यह टेक्‍नोलॉजी सिएटल के कुछ स्‍टोर्स में यूज हो रही है। यह टेक्‍नोलॉजी मल्टीपल कैमरा और सेंसर की मदद से काम करती है। वह कंप्‍यूटर  विजन एल्‍गोरिदम का यूज करते पता लगा लेती है कि आप स्‍टोर से सामान उठाने के बाद कौन सा आइटम बाहर ले जा रहे हैं, ताकि आपका बिल अपने आप जनरेट किया जा सके। आपको किसी कैशियर के पास नहीं जाना पड़ेगा। माइक्रोसॉफ्ट कथित तौर पर इससे जुड़ा एक्‍सपेरिमेंट कर रही है। जहां शॉपिंग कार्ट को कैमरों से अटैच किया गया है, ताकि ग्राहकों की ओर से उठाए गए आयटम्‍स को ट्रैक किया जा सके। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट