विज्ञापन
Home » Industry » CompaniesUse of bicycle increase in china

सड़कों पर कारों को मात देते ये वाहन, अपनाने के लिए लोग बेताब

प्रदूषण को रोकने के लिए बढ़ रहा चलन

Use of bicycle increase in china
चीन दुनिया का एक ऐसा देश है जो अपनी आधुनिक टेक्नोलॉजी के लिए जाना जाता है। तेजी से विकास कर रहे चीन में जहां जिंदगी तेजी से भाग रही है वहीं दूसरी ओर प्रदूषण का स्तर भी  दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। इसके लिए जरूरी है कि चीन की सरकार कुछ ऐसे कदम उठाए जिससे देश में  प्रदूषण को रोका जा सके।

नई दिल्ली। चीन दुनिया का एक ऐसा देश है जो अपनी आधुनिक टेक्नोलॉजी के लिए जाना जाता है। तेजी से विकास कर रहे चीन में जहां जिंदगी तेजी से भाग रही है वहीं दूसरी ओर प्रदूषण का स्तर भी  दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। इसके लिए जरूरी है कि चीन की सरकार कुछ ऐसे कदम उठाए जिससे देश में  प्रदूषण को रोका जा सके। इस समय चीन  में लगभग 60 लाख कारें हैं। जिसकी वजह से चीन में सड़कों में लगने वाला जाम भी एक अहम समस्या है। इन सभी समस्याओं से निपटने के लिए चीन में आधुनिक तकनीक से लैस साइकिलों का इस्तेमाल किया जा रहा है।  

 

आधे घंटे साइकिल चलाने का किराया मात्र 40 रुपए

इन साइकिलों की खास बात यह है कि इन्हें किराए पर लिया जा सकता है और इसके लिए आधे घंटे के केवल 40 रुपए देने पड़ते हैं। इन साइकिलों का इस्तेमाल अब चीन में सभी जगह किया जाने लगा है। किराए पर साइकिल देने के इस काम को मोबाइक नामक साइकिल कंपनी ने साल 2016 में शुरू किया था। आपको बता दें कि दुनिया के  20 करोड़ लोग इस कंपनी की साइकिलों का इस्तेमाल करते हैं। इस कंपनी के प्रमुख स्टीवन ली ने बताया कि शुरूआत में इस क्षेत्र में काफी प्रतिस्पर्धा थी। लेकिन अब केवल 3 से 4 कंपनियां ही रह गई है। 

 

अपनी साइकिलों को खुद डिजाइन कर सकते हैं लोग

स्टीवन ने बताया कि बीजिंग ने ज्यादातर लोग कम दूरी के लिए साइकिलों का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन अब लोग लंबी दूरी के लिए भी साइकिलों का इस्तेमाल कर रहे हैं। बीजिंग में साइकिल चलाने वाले लोगों के लिए सरकार ने साइकिल लेन बनाई है। ये लेन चौड़ी हैं और लोग आसानी से आगे जा सकते हैं। इसके अलावा देश के युवाओं का साइकिल के प्रति रूचि बढ़ाने के लिए एक और तरीका निकाला है इसके तहत  लोग अपनी साइकिलों को खुद भी डिजाइन कर सकते हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन