Home » Industry » Companiesus makes it tougher for companies to employ foreign workers under H-1B

नौकरी के लिए अमेरिका जाना नहीं होगा आसान, अमेरिकी श्रम मंत्रालय से लेनी होगी मंजूरी

नए फैसले से कंपनियों को विदेशी कर्मचारियों की नियुक्ती में काफी परेशानी होगी।

us makes it tougher for companies to employ foreign workers under H-1B

वॉशिंग्टन। भारतीयों के लिए अब अमेरिका में नौकरी करना आसान नहीं होगा। श्रम विभाग की मंजूरी के बिना कोई भी अमेरिकी कंपनी विदेशी कर्मचारियों को नौकरी पर नहीं रख पाएगी। अमेरिकी सरकार की ओर से एच-1बी वीजा के नियमों को सख्त बनाए जाने के कारण यह किया जा रहा है। इसके तहत अब किसी को अमेरिकी कंपनी को विदेशी कर्मचारियों को रखने से पहले श्रम विभाग की मंजूरी लेनी होगी। ट्रंप सरकार के इस फैसले से भारतीय आईटी पेशोवरों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है। नए फैसले से कंपनियों को विदेशी कर्मचारियों की नियुक्ती में काफी परेशानी होगी।

 

अब विदेशी कर्मचारियों को श्रम विभाग से लेनी होगी मंजूरी
हाल ही में ट्रंप सरकार ने विदेशी कर्मचारियों के लिए एच-1बी वीजा प्रणाली में काफी सख्त नियमों को शामिल किया है। इस नियम के चलते अब विदेशी कर्मचारियों को श्रम विभाग से अपनी आवेदन प्रक्रिया को मंजूर कराना होगा। यदि उक्त पद पर कोी घरेलू कर्मचारी उपलब्ध नहीं होगा तो ही श्रम विभाग एच-1बी वीजा प्रणाली के तहतविदेशी कर्मचारियों की नियुक्ति करेगा। श्रम विभाग के अनुसार, अब विदेशी कर्मचारियों को रोज शर्तों की अधिक विस्तृत जानकारी देनी होगी। इसके साथ ही कंपनी को विदेशी श्रमिकों के लिए खाली पदों  के बारे में बताना जरूरी होगा। इस फैसले से भारतीयो के सबसे ज्यादा परेशानी हो सकती है क्योंकि भारतीय आईटी पेशेवरों के बीच एच-1बी वीजा की मांग सबसे ज्यादा है।

 

ट्रंप ने जताई ग्रीन कार्ड का इंतजार कर रहे हजारों पेशेवरों के प्रति सहानुभूति
इस कठोर फैसले के अलावा ट्रंप सरकार ने भारतीयों के पक्ष में एक फैसला करते हुए ग्रीन कार्ड का इंतजार कर रहे हजारों पेशेवरों के प्रति सहानुभूति जताई है। बता दें कि ग्रीन कार्ड से अमेरिका में रहने का अधिकार मिल जाता है। ट्रंप ने कहा कि अमेरिका में काम कर रहे इन लोगों का काम ठीक है और जल्दी ही उन्हें अमेरिका में एंट्री मिल जाएगी। ट्रंप ने कहा कि यह लोग यहां पहले से रह रहे हैं और ग्रीन कार्ड की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट