बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesविदेशी टीवी, माइक्रोवेव होंगे महंगे, इंपोर्ट ड्यूटी में बढ़ोत्तरी का लगेगा झटका

विदेशी टीवी, माइक्रोवेव होंगे महंगे, इंपोर्ट ड्यूटी में बढ़ोत्तरी का लगेगा झटका

ग्राहकों को अब टीवी, माइक्रोवेव, एलईडी लैंप्‍स जैसे इलेक्‍ट्रॉनिक आइटम्‍स खरीदने के लिए ज्‍यादा पैसे खर्च करने होंगे।

1 of

नई दिल्‍ली. ग्राहकों को अब टीवी, माइक्रोवेव, एलईडी लैंप्‍स जैसे इलेक्‍ट्रॉनिक आइटम्‍स खरीदने के लिए ज्‍यादा पैसे खर्च करने होंगे। इसकी वजह है कि पिछले हफ्ते सरकार द्वारा इलेक्‍ट्रॉनिक आइटम्‍स पर बढ़ाई गई इंपोर्ट ड्यूटी की वजह से इनकी कीमत बढ़ने वाली है। बता दें कि सरकार ने यह कदम लोकल मैन्‍युफैक्‍चरिंग को बढ़ावा देने के लिए उठाया था। सूत्रों के मुताबिक एलईडी टीवी की कीमतों में 2000 रुपए से लेकर10000 रुपए तक का इजाफा होगा, जो टीवी की स्‍क्रीन पर निर्भर करेगा।

 

किस आइटम पर कितनी हुई इंपोर्ट ड्यूटी

सरकार द्वारा जारी एक नोटिफिकेशन के मुताबिक, टीवी पर अब इंपोर्ट ड्यूटी बढ़कर 20 फीसदी हो गई है, जबकि स्‍मार्टफोन्‍स के लिए यह 15 फीसदी कर दी गई है। एलईडी लैंप्‍स के इंपोर्ट पर अब 20 फीसदी ड्यूटी लगा करेगी, वहीं माइक्रोवेव पर इसे बढ़ाकर दोगुना यानी 20 फीसदी कर दिया गया है। वीडियो रिकॉर्डिंग इक्विपमेंट और टीवी कैमरा पर इंपोर्ट ड्यूटी 10 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी कर दी गई हैं, जबकि सेट टॉप बॉक्‍स पर इसे बढ़ाकर 20 फीसदी कर दिया गया है।

 

मेक इन इंडिया प्रॉडक्‍ट की बढ़ेगी डिमांड

कंज्‍यूमर इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स एंड अप्‍लायंसेज मैन्‍युफैक्‍चरर्स एसोसिएशन (CEAMA) के प्रेसिडेंट मनीष शर्मा ने कहा कि सरकार के नोटिफिकेशन के बाद अब इंपोर्ट होने वाले पूरी तरह से तैयार इलेक्‍ट्रॉनिक आइटम्‍स की कीमतें बढ़ जाएंगी। हालांकि इससे लोकल मैन्‍युफैक्‍चरर्स को फायदा होगा। शर्मा के मुताबिक सरकार के इस कदम से मेक इन इंडिया प्रॉडक्‍ट की डिमांड बढ़ेगी, जिससे लोकल मैन्‍युफैक्‍चरिंग को बढ़ावा मिलेगा। इसके अलावा विदेशी कपंनियों भी भारत में ही प्रॉडक्‍ट का निर्माण करने के लिए प्रेरित होंगी।

 

विदेशी कंपनियां भारत में ही ढूंढेंगी हल

भारत में इलेक्‍ट्रॉनिक स्‍टोर्स की चेन सीएमएस इलेक्‍ट्रॉनिक जंक्‍शन के मैनेजिंग डायरेक्‍टर सीएम सिंह के मुताबिक, वीडियोकॉन जैसी लोकल मैन्‍युफैक्‍चरिंग कंपनी पर इस कदम का कोई असर नहीं होगा लेकिन पूरी तरह से तैयार प्रोडक्‍ट इंपोर्ट करने वाली अन्‍य कंपनियों के लिए कीमतें कम से कम 5-6 फीसदी बढ़ जाएंगी। इससे इंटरनेशनल कंपनियां प्रॉडक्‍टस को इंपोर्ट करने के बजाय भारत में ही कोई हल ढूंढने की कोशिश करेंगी।

 

400 से 500 रुपए महंगे हो जाएंगे माइक्रोवेव ओवन

माइक्रावेव पर इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ाए जाने पर गोदरेज अप्‍लायंसेज के बिजनेस हेड और ईवीपी कमल नंदी का कहना है कि इस बढ़ोत्‍तरी से माइक्रोवेव ओवन की कीमतों में 400 से 500 रुपए की वृद्धि होगी, जिससे शॉर्ट टर्म में डिमांड प्रभावित होगी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट